Maharahstra Politics Crisis | एकनाथ शिंदे के बगावत से जिले के शिवसेना में रोष


एकनाथ शिंदे के बगावत से जिले के शिवसेना में रोष

  • विधायक राठोड पर जिलाप्रमुख पिंगले ने रखी अपनी भूमिका

यवतमाल. शिवसेना में दुसरे नंबर के नेता कैबिनेट मंत्री एकनाथ शिंदे के शिवसेना प्रमुख के साथ विद्रोह के बाद महाराष्ट्र की राजनिती में भुकंप आ चुका है, तो दुसरी ओर एकनाथ शिंदे ने अपने साथ शिवसेना समेत अन्य निर्दलीय मिलाकर 46 विधायक साथ होने का दावा किया है, और राज्य के शिवसेना के प्रमुख नेता तथा मुख्यमंत्री उध्दव ठाकरे से हिंदुत्व के मुददे पर भाजपा के साथ मिलकर सरकार बनाने का आह्वान किया है.

जिससे राज्य की महाविकास आघाडी सरकार पर संख्याबल के आधार पर सरकार ढहने की तलवार लटक रही है,तो दुसरी ओर  शिवसेना नेता शिंदे के पार्टी से बगावत के बाद यवतमाल जिले में शिवसेना पदाधिकारी,कार्यकर्ताओं में बेचैनी के साथ ही जिले के शिवसेना के प्रमुख नेता विधायक संजय राठोड और पालकमंत्री संदिपान भुमरे की भुमिका को लेकर रोष भी जताया जा रहा है.

बता दें कि, शिवसेना नेता तथा कैबिनेट मंत्री और जिले के पालकमंत्री संदिपान भुमरे ने भी मुख्यमंत्री उध्दव ठाकरे का साथ छोडकर शिवसेना नेता एकनाथ शिंदे को अपना समर्थन दिया है,इसे लेकर भी शिवसेना के निष्ठावान कार्यकर्ताओं और पदाधिकारीयों में रोष देखा जा रहा है.

बता दें कि, यवतमाल जिला शिवसेना में बिते कुछ समय से विधायक और सांसद के समर्थकों के बीच गुटबाजी देखी जा रही थी,एैसे में 22 जुन को सांसद भावना गवली ने पत्र जारी कर शिवसेना के प्रमुख उध्दव ठाकरे को बगावत करनेवाले विधायकों के हिंदुत्व के मुददे पर विचारमंथन कर जरुरी कदम उठाने का आग्रह किया है,तो दुसरी ओर विधायक संजय राठोड के पार्टी से बगावत या पार्टी समर्थन को लेकर दोनों गुटों में संभ्रम की स्थिती देखी गयी, इसी बीच इस मामलें में शिवसेना पदाधिकारीयों ने विधायक राठोड की भूमिका पर अपनी राय रखी.

पार्टी सचिव सांसद विनायकराव के जिला शिवसेना प्रमुखों को निर्देश

राज्य में शिवसेना नेता एकनाथ शिंदे के शिवसेना से विद्रोह के बाद पार्टी को एकजुट रखने और अगले आदेशों की प्रतिक्षा करने कहा गया है, राज्य के शिवसेना सचिव सांसद विनायकराव ने इस बारे में पत्र जारी कर निर्देश दिए है, सभी शिवसेना प्रमुखों को इस राजनितीक घटनाक्रम के बीच पार्टी एकजुट रखने के लिए मुंबई में बुलाया जाएंगा, अगले आदेशों तक पार्टी की गतिविधीयों पर निगाहें रखने के निर्देश जिले के पदाधिकारीयों को दिए गए है, एैसी जानकारी  शिवसेना जिलाप्रमुख पराग पिंगले ने आज दी.

विधायक राठोड पार्टी संगठन के साथ -जिलाप्रमुख पराग पिंगले 

इसी बीच जिले के शिवसेना जिला प्रमुख पराग पिंगले ने विधायक संजय राठोड की भूमिका को लेकर अपना स्पष्टीकरण दिया है,पिंगले ने माध्यमों से चर्चा में कहा की,पार्टी नेता के साथ ही संजय राठोड मेरे मित्र है,लेकिन मित्रता और पार्टी संगठन दोनों अलग अलग मुद्दे है.उन्होने बताया की वर्तमान में जारी राजनितिक घटनाक्रम के दौरान विधायक राठोड की भूमिका स्पष्ट है.

उनके गुजरात के सुरत में होने की बात कही जा रही थी,लेकिन 21 जुन की शाम वें मुंबई में मुख्यमंत्री के वर्षा बंगले पर और आदित्य ठाकरे के साथ मौजुद थे.बतौर पार्टी पदाधिकारी मैने उनसे फोन से संपर्क किया है,वें मुंबई में है और पार्टी संगठन के साथ है,विधायक राठोड के संबंध में आ रही खबरों का खंडन करते हुए पिंगले ने माध्यमों के जानकारी तथ्यहीन होने की बात भी कही.





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.

AllwNews