आवास मंत्री जितेंद्र आव्हाड गिरफ्तार: जितेंद्र आव्हाड: आवास मंत्री जितेंद्र आव्हाड गिरफ्तार और रिहा; ‘इस’ मामले में कार्रवाई – आवास मंत्री जितेंद्र आव्हाड गिरफ्तार, जमानत पर रिहा


मुख्य विशेषताएं:

  • आवास मंत्री जितेंद्र आव्हाड गिरफ्तार और रिहा
  • अनंत करमुसे मामले में ठाणे पुलिस ने की कार्रवाई
  • ठाणे के पुलिस आयुक्त से जानकारी की पुष्टि।

ठाणे: आवास राज्य मंत्री और राष्ट्रवादी कांग्रेस नेता जितेंद्र आव्हाडी प्रति अनंत करमुसे उन्हें ठाणे पुलिस ने अपहरण और मारपीट के एक मामले में गिरफ्तार किया था और बाद में जमानत पर रिहा कर दिया गया था। ठाणे पुलिस इस जानकारी की पुष्टि कमिश्नर जयजीत सिंह ने की है। इस बीच ठाकरे सरकार में मंत्रियों पर कार्रवाई से हड़कंप मच गया है। ( जितेंद्र अवध गिरफ्तारी अपडेट )

पढ़ना:‘कोई तुम्हें जेब में डाल देगा और तुम्हें गिरफ्तार कर लेगा’; एनसीबी पर पवार का हमला

अनंत करमुसे को जितेंद्र आव्हाड के बंगले पर हमला बनाने का आरोप लगाया है। मंत्री जितेंद्र आव्हाड के खिलाफ ठाणे के वर्तकनगर थाने में भारतीय दंड संहिता की धारा 365, 324, 143, 148 और 506 के तहत मामला दर्ज किया गया है. इसी मामले में आव्हाड को आज गिरफ्तार किया गया। पुलिस ने उसे कोर्ट में पेश कर जमानत दे दी। उसे 10,000 रुपये के जाति मुचलके और गारंटी पर रिहा किया गया है।

कार्रवाई के पीछे यह संभावना

अनंत करमुसे की याचिका मुंबई हाई कोर्ट में लंबित है। यह संभव है कि पुलिस ने इस तथ्य पर विचार करते हुए कार्रवाई की हो कि करामुसे ने उच्च न्यायालय को बताया था कि प्राथमिकी दर्ज होने के डेढ़ साल बाद भी अवध के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की जा रही थी। करामुसे की याचिका पर अगले सप्ताह सुनवाई होने की संभावना है। उनके वकीलों ने इस सप्ताह सुनवाई के लिए जल्द से जल्द एक अर्जी दाखिल की है। इसी पृष्ठभूमि के खिलाफ लगता है कि आव्हाड को आज गिरफ्तार कर लिया गया है।

पढ़ना: सेल में बढ़ा आर्यन का रहना; जमानत अर्जी पर फैसला 20 अक्टूबर को

वास्तव में क्या हुआ?

घोडबंदर इलाके में रहने वाले एक सिविल इंजीनियर अनंत करमुसे ने अवध के बारे में एक आपत्तिजनक फेसबुक पोस्ट किया था। इस पोस्ट के बाद घर आई पुलिस करामुसे को आव्हाड थाने के बंगले में ले गई और वहां 15 से 20 लोगों ने उसकी पीट-पीट कर हत्या कर दी. करामुसे ने अपनी शिकायत में कहा था कि मारपीट के वक्त आव्हाड भी बंगले में मौजूद थे। घटना पिछले साल 5 अप्रैल की है। वरत्कानगर थाने में मामला दर्ज किया गया है। उस वक्त पुलिस ने अप्रैल में पांच आरोपियों को गिरफ्तार किया था। इस मामले में तीन पुलिसकर्मियों को भी गिरफ्तार किया गया था। डेढ़ साल बाद इस मामले में जितेंद्र आव्हाड को गिरफ्तार किया गया था। आव्हाड के खुद वर्तकनगर पुलिस स्टेशन में पेश होने के बाद गिरफ्तारी की गई थी। पुलिस ने उसका बयान भी दर्ज किया। बाद में उन्हें ठाणे की अदालत में पेश किया गया जहां अदालत ने उन्हें जमानत दे दी।

पढ़ना: ‘पवार का आरोप हास्यास्पद है; राजनीति में 50 साल होने के बावजूद…’; पटेल की आलोचना

.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

AllwNews