ध्वनि प्रदूषण: प्रदूषण: अब आप घर बैठे शोर को गिन सकते हैं!; नीरी का ‘शोर ट्रैकर ऐप’ – अब आप नीरी के नॉइज़ ट्रैकर ऐप से घर पर वायु और ध्वनि प्रदूषण पर भरोसा कर सकते हैं


मुख्य विशेषताएं:

  • ध्वनि प्रदूषण मापने के लिए नीरी का ‘नॉयज ट्रैकर ऐप’।
  • इस दिवाली – नीरी की अपील नागरिकों को अपने क्षेत्र में ध्वनि प्रदूषण को मापना चाहिए।
  • भारत के अलावा, इस ऐप का व्यापक रूप से यूएसए, जर्मनी, फ्रांस और कनाडा में भी उपयोग किया जाता है।

एम.टी. प्रतिनिधि, नागपुर

भारत में दिवाली के दौरान गैस और ध्वनि प्रदूषण (वायु और ध्वनि प्रदूषण) सर्वव्यापी है और अब विश्व स्तर पर इसकी चर्चा हो रही है। इस वर्ष दीवाली के दौरान नागपुर में ध्वनि प्रदूषण का मापन नीरी (एनईईआरआई) (राष्ट्रीय पर्यावरण इंजीनियरिंग संस्थान)। हालाँकि, यह नागरिक हैं जो इस ध्वनि प्रदूषण को मापना चाहते हैं। इसके लिए नीरी द्वारा नागरिकों का विकास किया गया है।शोर ट्रैकर ऐप‘इस्तेमाल किया जा सकता है। (अब आप हवा पर भरोसा कर सकते हैं और ध्वनि प्रदूषण के साथ घर पर शोर ट्रैकर ऐप द्वारा नीरी)

नीरी पिछले दो सालों से दिवाली के दौरान ध्वनि प्रदूषण को माप रही है। इस माप को आसान और अधिक व्यापक बनाने के लिए, नीरी ने नॉइज़ ट्रैकर नामक एक मोबाइल ऐप बनाया है। यह नागरिकों को ध्वनि प्रदूषण को मापने की अनुमति देता है। नीरी ने नागरिकों से इस दिवाली अपने क्षेत्र में ध्वनि प्रदूषण को मापने की अपील की है।

क्लिक करें और पढ़ें- दीपावली की पूर्व संध्या पर प्रदेश में ऐसे हैं हालात! 1,193 नए मरीजों का निदान

भारत के अलावा, इस ऐप का व्यापक रूप से यूएसए, जर्मनी, फ्रांस और कनाडा में भी उपयोग किया जाता है। इस ऐप के माध्यम से शहर के कई गैर सरकारी संगठनों और स्वयंसेवकों ने दिवाली के दौरान ध्वनि प्रदूषण को मापने की पहल की है। नीरी ने नागरिकों से ऐप डाउनलोड करने और ध्वनि प्रदूषण को मापने की भी अपील की।

क्लिक करें और पढ़ें- मुख्यमंत्री के बयान पर नीलेश राणे का हमला कि ‘हम भी नहीं चाहते कि अंडा फूटे’

ऐसी है प्रक्रिया

> Google Play Store से Noise Tracker ऐप डाउनलोड करें।
> जीपीएस चालू रखते हुए ध्वनि प्रदूषण के स्तर को मापें।
> एक बार यह डेटा सेव हो जाने के बाद, इसे सीधे क्लाउड में स्टोर किया जाएगा।
> इसके अलावा नागरिक 9423630016, 7066083553 पर भी व्हाट्सएप कर सकते हैं।
> नागरिकों को शोर स्तर के कम से कम तीन नमूनों की रिपोर्ट करनी चाहिए। पटाखों का रजिस्ट्रेशन करते समय कम से कम 20 मीटर की दूरी बनाकर रखें।

क्लिक करें और पढ़ें- मुंबई में सरकारी और नगर निगम केंद्रों पर 4 दिनों के लिए टीकाकरण बंद; नगर निगम सूचना

.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

AllwNews