समुद्र का जलस्तर बढ़ने का खतरा: प्रदूषण नहीं रुका तो मुंबई समेत 50 शहरों में आएगी बाढ़, सभी को अलर्ट करने वाली रिपोर्ट


मुंबई: मानव गतिविधियों, विशेष रूप से कार्बन उत्सर्जन से होने वाले प्रदूषण का प्रभाव वातावरण में सदियों से रहा है। जिससे ग्लोबल वार्मिंग बढ़ती जा रही है। ग्लोबल वार्मिंग के कारण समुद्र का स्तर बढ़ रहा है। कार्बन उत्सर्जन जारी रहा तो मुंबई समेत एशिया के 50 शहर जलमग्न हो जाएंगे। ये 50 शहर चीन, भारत, इंडोनेशिया, बांग्लादेश और वियतनाम से होंगे। एक नई रिपोर्ट में यह खुलासा हुआ है।

चीन, भारत, इंडोनेशिया, बांग्लादेश और वियतनाम कोयले से चलने वाले बिजली संयंत्र स्थापित करने में विश्व में अग्रणी हैं। इन देशों में भी बड़ी आबादी है। इसलिए वैज्ञानिकों को डर है कि ग्लोबल वार्मिंग का सबसे बुरा असर इन देशों में महसूस किया जाएगा। इतना ही नहीं, ऑस्ट्रेलिया और अंटार्कटिका को भारी नुकसान होगा। जानकारों का कहना है कि जमीन का दसवां हिस्सा समुद्र के पानी में डूब जाएगा।

दशहरे के मौके पर सोने जैसी खबर; स्थानीय यात्रा और भी आसान हो गई

अध्ययन हाल ही में क्लाइमेट कंट्रोल नामक साइट पर प्रकाशित हुआ था। जिसमें भारत में मुंबई को खतरे में दिखाया गया है। वास्तव में, अध्ययन का अनुमान है कि दुनिया भर में लगभग 184 स्थान हैं। जहां समुद्र का जलस्तर बढ़ने का सीधा असर पड़ेगा। अधिकांश या यहां तक ​​कि पूरे शहर जलमग्न हो जाएंगे।

इस अध्ययन के अनुसार अगले 200 से 2000 वर्षों के बीच पृथ्वी का नक्शा बदल सकता है। क्योंकि, अगर तापमान 1.5 से 3 डिग्री सेल्सियस तक बढ़ जाता है, तो दुनिया भर के ग्लेशियर पिघल जाएंगे। हिमालय जैसे बर्फ से ढके पहाड़ों में बाढ़ आएगी। ताकि पूरी दुनिया का एक बड़ा हिस्सा समुद्र के बढ़ते जलस्तर में समा जाए।
विवाहिता को ब्लैकमेल कर बार-बार रेप, पति को फोटो दिखाने की धमकी

.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

AllwNews