मूवी रिव्‍यू: जानिए कैसी है सलमान खान-आयुष शर्मा की फिल्म 'अंतिमः द फाइनल ट्रुथ'



कहानी
‘अंतिमः द फाइनल ट्रुथ’ हिट मराठी फिल्म ‘मुल्शी पैटर्न’ का ऑफिशल रीमेक है। ये एक छोटे शहर के युवा राहुल (आयुष शर्मा) की कहानी है, जो पुणे के सबसे खतरनाक भू-माफियाओं में से एक बन जाता है। लेकिन वह अपने कई दुश्मन बना लेता है और कानून को तोड़ता है। फिल्म की कहानी में दिखाया जाता है कि जब राहुल अपने गरीब पिता सत्या (सचिन खेडेकर) को बचाने के लिए दौड़ता है, जिन्हें भू-माफियाओं द्वारा पीटा जा रहा है। इन्हीं भू-माफियाओं ने उनकी पुश्तैनी जमीन भी हाथिया ली। एक बेरोजगार नौजवान से एक खतरनाक गैंगस्टर के रूप में बदल जाता है। इसके बाद उसे पुणे के सबसे प्रभावशाली गुंडे नान्या भाई (उपेंद्र लिमये) अपने साथ काम करवाते हैं। लेकिन इन सबके लिए पुलिस इंस्पेक्टर राजवीर सिंह (सलमान खान) समस्या है, जो जानता है कि शहर के तमाम क्राइम को किस तरह खत्म करना है।

रिव्‍यू
फिल्म ‘अंतिमः द फाइनल ट्रुथ’ का डायरेक्शन महेश मांजरेकर ने किया है और उन्होंने गैंगस्टर की कहानी के लिए स्टेज तैयार किया है। फिल्म को बड़े पैमाने पर मनोरंजन के लिए तैयार किया गया है। हालांकि, ऐक्शन की कमी दिखी है। ऐक्शन से ज्यादा डायलॉगबाजी है ये कहानी में रुकावट डालता है। पहले हाफ में बड़े प्लॉट ट्विस्ट है जो दूसरे हाफ में सभी किरदार के लिए गति को बनाए रखने में मदद करता है। महेश मांजरेकर ने बड़ी होशियारी से ग्रामीण और शहरी महाराष्ट्र को पेश किया है। करण रावत की सिनेमेटोग्राफी ने शहर के हो रहे लगातार विकास को बड़ी अच्छी तरह से दिखाया है। पॉप्युलर मराठी ऐक्टर्स को कास्ट करके फिल्म को मजबूत किया गया है। फिर भी फिल्म में एक ही जैसे संघर्षों को बार-बार दिखाने से टाइमिंग को बढ़ाते हैं। इसके साथ ही फिल्म के लगभग चार गाने जबरदस्त हैं।

सलमान खान अपने पुलिस अवतार में वापस आए हैं और निडर सरदार की भूमिका में है। सलमान खान को एक पुलिसकर्मी का किरदार करना बहुत आसान होता है क्योंकि वह अपनी शर्ट फाड़ते हैं और बदमाशों को पीटते हैं। आयुष शर्मा को अपनी मजबूत बॉडी के साथ नजर आते है और सलमान खान के साथ बॉन्डिंग बनाने की कोशिश करते हैं। आयुष शर्मा ने अपनी पहली फिल्म के बाद लंबा समय दिया है। फिल्म में आयुष शर्मा की (मांडा) महिमा मकवाना के साथ लव केमिस्ट्री को दिखाया गया है, जो काफी नीरस है और अक्सर फिल्म की गति को रोकती है। इस फिल्म से महिमा मकवाना ने डेब्यू किया है।

महेश मांजरेकर की फिल्म ‘अंतिमः द फाइनल ट्रुथ’ मनोरंजन के साथ ही माफिया डॉन द्वारा भूमि हथियाने के मुद्दे को भी दर्शाता है। ये माफिया डॉन आसानी से कानून तोड़ने में कामयाब होते हैं क्योंकि वे अक्सर राजनेताओं के साथ मिल होते हैं। इसलिए यदि आप पुराने जमाने की बॉलिवुड फिल्मों को पसंद करते हैं तो ये फिल्म आपको पसंद आ सकती है। दरअसल, पुराने जमाने की बॉलिवुड फिल्मों में हर चीज को बड़े स्तर पर दिखाया जाता है। वहीं, अगर सलमान खान के फैन और उनको पुलिस की वर्दी में अपराधियों से भिड़ते हुए देखना चाहते हैं तो ये फिल्म आपके मतलब की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

AllwNews