akshay kumar thanks former ex army officer: Ex Army Officer Point Inaccuracy In Gorkha Poster: एक्स आर्मी अफसर मेजर मानिक एम जोली ने पोस्टर में एक कमी निकाली है और अक्षय कुमार को ध्यान देने के लिए कहा है।


बॉलिवड ऐक्टर अक्षय कुमार (Akshay Kumar) ने हाल ही में अपनी अगली फिल्म ‘गोरखा’ (Gorkha) की घोषणा की थी। अक्षय कुमार ने अपने ट्विटर हैंडल पर फिल्म की घोषणा करते हुए एक पोस्टर शेयर (Gorkha Poster) किया था। अब एक्स आर्मी अफसर मेजर मानिक एम जोली ने पोस्टर में एक कमी निकाली है और अक्षय कुमार को ध्यान देने के लिए कहा है। इस पर ऐक्टर ने भी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि वह ध्यान रखेंगे।

गोरखा राइफल रेजिमेंट के अफसर मेजर मानिक एम जोली ने फिल्म गोरखा पोस्टर शेयर किया है। इसके साथ मेजर मानिक एम जोली ने लिखा है, डियर अक्षय कुमार जी एक पूर्व गोरखा अफसर होने के नाते फिल्म को बनाने के लिए मैं आपका आभार व्यक्त करता हूं। हालांकि जानकारियां मायने रखती हैं। कृपया खुकरी को ठीक करें। दूसरी तरफ तेज धार है। यह तलवार नहीं है खुकरी अंदर से वार करती है। आपके लिए खुकरी की प्रति दे रहा हूं। धन्यवाद।’

अक्षय कुमार ने मेजर मानिक एम जोली को रिप्लाई करते हुए लिखा, ‘आदरणीय मेजर जोली जी, ध्यान में लाने के लिए आभार। हम फिल्म की शूटिंग करते समय पूरी सावधानी बरतेंगे। मैं फिल्म गोरखा बनाकर बहुत ही सम्मानित और गर्व महसूस कर रहा हूं। इसे रियलिटी के करीब लाने के लिए किसी भी प्रकार का सुझाव का स्वागत है।’

अक्षय कुमार ने दशहरा के मौके पर फिल्म ‘गोरखा’ की घोषणा करते हुए ट्वीट कर लिखा था, ‘कभी-कभी आपको ऐसी कहानियां पता चलती हैं जो आपको प्रेरणा देती है और आप उन्हें बनाना चाहते हैं। लीजेंड्री वार हीरो मेजर जनरल इयान कार्डोजो के जीवन पर आधारित गोरखा एक ऐसी ही फिल्म है। एक आइकॉन का रोल निभाकर और बेहद खास फिल्म को प्रस्तुत करके सम्मानित महसूस कर रहा हूं।’

अक्षय कुमार महान युद्ध नायक मेजर जनरल इयान कार्डोजो की भूमिका निभाएंगे। जिन्होंने 1962, 1965 के युद्धों में और विशेष रूप से 1971 के भारत-पाकिस्तान युद्ध में लड़ाई लड़ी थी। मेजर जनरल इयान कार्डोजो ने बांग्लादेश के सिलहट की लड़ाई में पाकिस्तानी सैनिकों की हालत खराब कर दी थी। साल 1971 की लड़ाई में पाकिस्तानी सेना के खिलाफ लड़ते हुए उनका एक पैर लैंडमाइन ब्लास्ट में बुरी तरह जख्मी हो गया था। उन्हें इलाज नहीं मिल सका तो उन्होंने खुद खुखरी से अपना पैर काटकर अलग कर दिया। पैर गंवाने के बावजूद वह इंडियन आर्मी के पहले डिसेबल अफसर बने और एक बटालियन को कमांड किया। पाक युद्ध में बहादुरी के लिए उनको सेना मेडल नवाजा जा चुका है। इसके अलावा उन्हें अति सेवा विशिष्ट सेवा मेडल भी दिया गया है।

फिल्म गोरखा का पोस्टर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

AllwNews