ananya panday can face tough times: अनन्या पांडे के सामने इधर कुआं उधर खाई, एक तरफ बचपन का दोस्त तो दूसरी तरफ एनसीबी की तलवार! – ananya panday can face tough times amid mumbai drug bust and aryan khan case manager pooja dadlani visits ncb office


सुपरस्टार शाहरुख खान (Shah Rukh Khan) के बॉडीगार्ड को शुक्रवार को एनसीबी (NCB) ऑफिस में कुछ कागजात ले जाते देखा गया था। शनिवार को शाहरुख की मैनेजर पूजा ददलानी (Pooja Dadlani) एनसीबी मुख्यालय पहुंचीं। उनके हाथ में एक लिफाफा था। माना जा रहा है कि इस लिफाफे में आर्यन से जुड़े कुछ कागजात थे, जो एनसीबी को चाहिए थे। एनसीबी की एक टीम तीन दिन पहले इसी सिलसिले में शाहरुख खान के बंगले मन्नत गई थी। वहां मैनेजर पूजा को ही एनसीबी द्वारा आर्यन से जुड़ा एक नोटिस दिया गया था। पूजा शनिवार को एनसीबी ऑफिस में करीब एक घंटे रहीं। बाद में मीडिया से बिना बात किए वह वहां से निकल गईं।

दो अक्टूबर को जिस दिन आर्यन खान को हिरासत में लिया गया, तब से पूजा ददलानी ही शाहरुख खान के परिवार की तरफ से आर्यन केस को फॉलो कर रही हैं। उन्हें आर्यन की हर रिमांड और जमानत पर बहस के दौरान किला कोर्ट, सेशन कोर्ट और हाईकोर्ट में देखा गया। कोर्ट में एक तारीख पर वह काफी भावुक भी दिखीं। वह काफी लंबे समय से शाहरुख खान की टीम में हैं।


एनसीबी की टीम इस केस में अब तक अनन्या पांडे से दो बार पूछताछ कर चुकी है। गुरुवार को दो घंटे और शुक्रवार को करीब चार घंटे चंकी पांडे की इस बेटी से सवाल किए गए। लेकिन अनन्या की मुश्किलें पूछताछ की अगली कड़ी में बढ़ सकती हैं। अनन्या को सोमवार को एनसीबी की टीम ने फिर बुलाया है। अनन्या और आर्यन बचपन के दोस्त हैं। आर्यन गिरफ्तार हैं। अनन्या के सामने समस्या इधर कुआं, उधर खाई वाली है। या तो वह इस केस में अपने दोस्त के खिलाफ गवाह बनें या फिर उन पर भी किसी कानूनी ऐक्शन का अंदेशा है। अनन्या के पापा चंकी पांडे और आर्यन के पापा शाहरुख खान की दोस्ती भी बहुत पुरानी है। कई लोगों का यहां तक कहना है कि जब शाहरुख खान बॉलिवुड फिल्मों में काम पाने के लिए दिल्ली से मुंबई आए थे, तो कुछ दिनों चंकी पांडे के यहां भी रहे थे।

क्‍या अनन्‍या के इशारे पर आर्यन खान तक ड्रग्‍स पहुंचाता था हाउस हेल्‍प?

अभी तक अनन्या से जो पूछताछ हुई, वह आर्यन के मोबाइल में मिले वॉट्सऐप चैट्स के आधार पर की गई। गुरुवार को जब एनसीबी टीम अनन्या के घर गई थी, तो वहां उन्हें समन देने के अलावा उनके मोबाइल फोन व लैपटॉप्स को भी अपने साथ ले गई थी। इन्हें उसी दिन फॉरेसिंक लैब में भेज दिया गया था। यदि अनन्या ने आर्यन की गिरफ्तारी के बाद अपने मोबाइल से कुछ वॉट्सऐप चैट्स डिलीट कर दिए होंगे या लैपटॉप्स से कुछ ऐविडेंस नष्ट किए होंगे, तो फॉरेंसिक लैब से वह सारा मैटर एनसीबी की टीम को मिल जाएगा। ऐसे में अनन्या ने गुरुवार और शुक्रवार की पूछताछ में एनसीबी की टीम के सामने आर्यन से जुड़ा या खुद से जुड़ा कुछ छिपाया होगा, तो जांच टीम निश्चित तौर पर अनन्या से उससे जुड़े सवाल पूछेगी।

आर्यन खान और अनन्‍या पांडे का ड्रग्‍स चैट आया सामने, पूछा- गांजा का जुगाड़ है?

आर्यन खान जब क्रूज शिप के लिए 2 अक्टूबर को निकले थे, तब उन्हें यह पता नहीं था कि वह उस दिन हिरासत में ले लिए जाएंगे और एनसीबी की टीम उनका मोबाइल भी अपने कब्जे में ले लेगी। इसीलिए एनसीबी को बिना डिलीट वाले सैकड़ों चैट्स आर्यन के मोबाइल फोन से मिल गए। वही चैट्स कुछ घंटे बाद उनकी गिरफ्तारी का कारण बन गए। इन्हीं चैट्स में अनन्या व कुछ अन्य सेलिब्रिटीज के बच्चों से जुड़ी बातचीत एनसीबी के हाथ लगी। अनन्या को इन्हीं वॉट्सऐप चैट्स के आधार पर बुलाया गया। कुछ अन्य को भी एनसीबी द्वारा समन भेजे जाने के संकेत दिए गए हैं। यदि अनन्या के मोबाइल में कुछ संदिग्ध चैट्स मिले ,तो अनन्या ने जिनसे बातचीत की और यदि वह बातचीत ड्रग्स से जुड़ी हुई पाई गई, तो एनसीबी उन सबके भी स्टेटमेंट ले सकती है। रिया चक्रवर्ती वाले केस में भी ऐसा ही हुआ था, इसलिए दीपिका पादुकोण, सारा अली खान, श्रद्धा कपूर, रकुल प्रीत सिंह, करिश्मा प्रकाश सहित तमाम लोगों को पूछताछ के लिए बुलाया गया था। इन सबके नाम एक केस में ही अलग-अलग लिंक से निकल कर बाहर आए थे।

डिजिटल ऐविडेंस के साथ गवाह भी चाहिए

एनसीबी का क्रूज शिप वाला यह केस आर्यन खान के मामले में अभी तक डिजिटल ऐविडेंस पर टिका हुआ है। इसे इस तरह से भी समझा जा सकता है कि जब तीन दिन पहले एनसीबी की टीम शाहरुख खान के बंगले मन्नत गई थी, तो नोटिस देते वक्त एनसीबी ने यह भी कहा था कि यदि आर्यन के पास कोई और इलेक्ट्रानिक्स डिवाइस हो, तो एनसीबी को दे दिया जाए। इससे साफ है कि आर्यन के केस में एनसीबी के लिए डिजिटल ऐविडेंस कितने अहम हैं, क्योंकि 2 अक्टूबर को क्रूज शिप में आर्यन के पास से ड्रग्स बिल्कुल भी बरामद नहीं हुई थी, जबकि आर्यन के खिलाफ ड्रग्स से जुड़ी एनडीपीएस ऐक्ट की अलग-अलग धाराएं लगाई गई हैं। खास बात यह है कि मुकदमे के दौरान अपने पक्ष में केस करने के लिए किसी भी जांच एजेंसी को ऐविडेंस के साथ गवाह भी चाहिए होते हैं। सवाल यह है कि क्या अनन्या इस केस में अपने बचपन के दोस्त के खिलाफ गवाही के लिए हामी भरेंगी?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

AllwNews