Aryan Khan Lawyers To Approach Bombay HC: aryan khan lawyers to now approch bombay high court after bail rejected in cruise drugs case key points here- जमानत के लिए अब Aryan Khan को हाई कोर्ट का सहारा, जानें कहां फंस सकती है बात


मुंबई क्रज ड्रग्स (Cruise drugs case) केस में शाहरुख खान (Shah Rukh Khan) के बेटे आर्यन खान (Aryan Khan bail rejected) को बड़ा झटका मिला है। सेशंस कोर्ट ने आर्यन खान की बेल रिजेक्ट कर दी है। उनके साथ-साथ अन्य दो आरोपियों-अरबाज मर्चेंट (Arbaaz Merchantt) और मुनमुन धमेचा (Munmun Dhamecha) की बेल भी रिजेक्ट कर दी गई है।

सेशंस कोर्ट से बाहर आने के बाद वकीलों ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि बेल क्‍यों रिजेक्‍ट (Why Aryan Khan’s bail rejected) हुई है, इसको लेकर अभी कोई जानकारी नहीं है। दोपहर करीब 2:45 बजे जज वीवी पाटिल कोर्टरूम में पहुंचे और सिर्फ दो शब्‍दों में ऑपरेटिव ऑर्डर सुनाया। उन्‍होंने कहा- बेल रिजेक्‍टेड।

किस आधार पर रिजेक्ट हुई बेल?
कोर्टरूम के बाहर वकील ने बताया कि अभी ऑर्डर कॉपी नहीं आई है, इसलिए यह जानकारी नहीं है कि कोर्ट ने किस आधार पर जमानत खारिज की है। हालांकि, समझा यही जा रहा है कि इसके पीछे ‘साजिश का आरोप’ हो सकता है। कोर्ट में जज ने सिर्फ इतना कहा कि सभी तीनों जमानत याचिकाएं खारिज की जाती है।

पढ़ें: आर्यन खान को क्‍यों नहीं म‍िली जमानत, समझ‍िए वो 14 कानूनी बातें जिनके कारण नहीं हुई रिहाई

ASG अनिल सिंह ने दी थीं ये दलीलें

बता दें कि 13 अक्टूबर को हुई कोर्ट की सुनवाई में ASG अनिल सिंह ने आर्यन खान पर ‘इंटरनैशनल ड्रग्‍स तस्‍करी’ के आरोप लगाए थे और कहा था कि आर्यन के फोन से ऐसे वॉट्सऐप चैट्स मिले हैं, जिनमें ड्रग्स की थोक मात्रा का जिक्र है और हार्ड ड्रग्स के बारे में एक विदेशी पेडलर के साथ बातचीत का भी जिक्र है। वहीं इसके बाद अगले दिन यानी 14 अक्टूबर को हुई सुनवाई में अनिल सिंह ने शौविक चक्रवर्ती (Showik Chakraborty) का नाम लेते हुए उनकी हाई कोर्ट से खारिज हुई बेल का जिक्र किया था। भले ही शौविक चक्रवर्ती की बेल को हाई कोर्ट ने पहले रिजेक्ट कर दिया था, पर जब एक अन्य मामले में सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि एनसीबी अधिकारियों के सामने दिए गए बयान कानून की अदालत में मान्य नहीं हैं तो फिर शौविक ने फिर से बेल के लिए सेशंस कोर्ट का रुख किया था और उन्हें बेल मिल गई थी।

वहीं आर्यन के मामले में अब जब तक बेल ऑर्डर की कॉपी नहीं मिल जाती है, तब तक यह पता लगा पाना मुश्किल है कि बेल किस आधार पर रिजेक्ट हुई। बेशक एनसीबी, आर्यन की जमानत का लगातार विरोध करती रही है, पर एक बात यह भी सच है कि उसकी अभी तक की सभी दलीलें मुख्य रूप से वॉट्सऐप चैट पर ही आधारित रहीं। जबकि पंचनामा में एनसीबी ने आर्यन या अरबाज के फोन सीज करने का भी जिक्र नहीं किया था।
Aryan Khan Bail Rejected: जेल में ही रहेंगे आर्यन खान, सेशंस कोर्ट ने खारिज की जमा‍नत
हाई कोर्ट पर टिकी आस, पर आसान नहीं है रास्ता
अब आर्यन खान की जमानत के लिए आगे का रास्ता हाई कोर्ट जाता है। आर्यन खान के वकीलों यानी यानी सतीश मानश‍िंदे और अमित देसाई को हाई कोर्ट में जमानत की याचिका दायर करनी होगी। लेकिन उनके लिए आगे का रास्‍ता अभी भी आसान नहीं है। क्‍योंकि ऑर्डर कॉपी आने के बाद हाई कोर्ट में जमानत की याचिका डालने की तैयारी शुरू होगी। हाई कोर्ट में न सिर्फ केस पर नए सिरे से बहस करनी होगी, बल्‍क‍ि सेशंस अदालत की ऑर्डर कॉपी को देखते हुए उन बिंदुओं पर भी गौर करना होगा, जिस कारण कोर्ट ने जमानत नहीं दी।

तो क्या इन कारणों से रद्द हुई आर्यन की जमानत?
वैसे कुछ बिंदू हैं, जिनके कारण आर्यन की जमानत खारिज हुई होगी। जैसे कि NCB का यह तर्क कि जिस दिन आर्यन समेत 8 लोगों की गिरफ्तारियां हुईं, उसी दिन साजिश का पता नहीं सकता। यह जायज है। जांच के दौरान इसका खुलासा हुआ। अब तक, पूछताछ में मिले टिप के आधार पर एनसीबी ने पांच ड्रग पेडलर्स को पकड़ने में कामयाबी हासिल की है। ये सभी पांच पेडलर्स गिरफ्तार आरोपियों के जानकार हैं। ASG अनिल सिंह ने कोर्ट में तर्क दिया कि नशीली दवाओं का दुरुपयोग युवाओं को बुरे तरीके से प्रभावित करता है। ड्रग्‍स केस की जांच अभी शुरू हुई है। ऐसे में जमानत पर बाद में भी विचार किया जा सकता है।

रिकॉर्ड और सबूत बताते हैं कि आर्यन खान पिछले कुछ 4 साल से ड्रग्‍स का सेवन कर रहे थे। जांच एजेंसी लगातार यह दावा कर रही है कि उसकी चिंता ड्रग ट्रैफिकिंग में शामिल सिंडिकेट को पकड़ना है। जांच अभी शुरुआती चरण में है। आर्यन खान प्रभावशाली शख्‍सि‍यत हैं। ऐसे में वह सबूतों के साथ छेड़छाड़ कर सकते हैं, जांच में बाधा पहुंचा सकते हैं या जस्‍ट‍िस्‍ट मिलने से पहले कहीं भाग भी सकते हैं।
आर्यन खान की रिहाई में क्‍यों हो रही है देरी, 5 बार बैठी अदालत फिर भी क्‍यों नहीं मिल रही जमानत?
2 अक्टूबर को गिरफ्तार हुए थे आर्यन

बीते दिनों 2 अक्टूबर को मुंबई से गोवा जा रही क्रूज पर रेव पार्टी (Aryan Khan drugs case) में छापेमारी के बाद एनसीबी ने पहले हिरासत में लिया और फिर गिरफ्तार कर लिया था। इस मामले में आर्यन के साथ 8 लोगों को ग‍िरफ्तार किया गया, जबकि अब तक इस मामले में 20 से अध‍िक गिरफ्तारियां हो चुकी हैं। आर्यन खान फिलहाल मुंबई के आर्थर रोड जेल में 14 दिनों की न्‍याय‍िक हिरासत में कैद हैं।

बुधवार को आर्यन खान के वकील अमित देसाई सुबह करीब 10:45 बजे कोर्टरूम पहुंचे। सतीश मानश‍िंदे के जूनियर भी वहां पहुंच चुके थे। जबकि एनसीबी के वकीलों को कोर्टरूम पहुंचने में देरी हुई। बाद में करीब 12:30 बजे सतीश मानश‍िंदे भी कोर्ट पहुंच गए। जज वीवी पाटिल ने कोर्ट आने के बाद पहले रूटीन मैटर्स की सुनवाई शुरू की। आर्यन की सुनवाई का नंबर 22वां था। लिहाजा, वकीलों को लंच के बाद 2:45 का वक्‍त दिया गया।

आर्यन खान पर NCB का सनसनीखेज आरोप

आर्यन को जेल में ही रहना होगा, सुनवाई के बाद क्‍या बोले वकील

aryan khan bail reject

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

AllwNews