court said Aryan bail Application not maintainable: Aryan Khan Sent To Jail: आर्यन खान को मुंबई आर्थर रोड जेल की बैरक नंबर 1 में रखा गया है।


मुंबई में कोर्ट ने बॉलिवुड ऐक्टर शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान (Aryan khan) की जमानत याचिका कर दी। कोर्ट के इस फैसले के बाद आर्यन खान को 14 दिन जेल (Aryan Khan Sent to Jail) में बिताने पड़ेंगे। आर्यन खान की जमानत याचिका (Aryan khan Bail Application) पर करीब 4 घंटे सुनवाई हुई और आखिर में जज ने जमानत याचिका खारिज करते हुए कह दिया कि ये सुनवाई के लायक नहीं है। जज ने इसके पीछे के अपने तर्क दिए हैं। गौरतलब है कि आर्यन खान बीती 2 अक्टूबर को क्रूज पर ड्रग्स पार्टी में एनसीबी की छापेमारी में पकड़े गए थे।

आर्यन खान की जमानत अर्जी पर सुनवाई करते हुए जज आरएम नेर्लिकर ने कहा, ‘मैं रिमांड ऑर्डर में सुधार करूंगा। मैं अभी ऑपरेटिव दूंगा, फिर मैं तर्कपूर्ण आदेश दूंगा और उसके बाद ही कोर्ट छोड़ूंगा। मैंने सभी आवेदनों और सबमिशन को सुना है। आवेदन हमारे समक्ष अनुरक्षणीय नहीं हैं और इसलिए मैं इस जमानत याचिका को खारिज करता हूं।’

Aryan Khan Bail Plea Rejected: ड्रग्स केस में अभी जेल में ही रहेंगे आर्यन खान, जानिए क्यों नहीं मिली जमानत

जज ने कहा कि यह हमारे सामने सुनवाई योग्य नहीं था और इसलिए खारिज कर दिया गया। जज ने कहा कि रेगुलर बेल लेने का सही तरीका एनडीपीएस स्‍पेशल कोर्ट है, इस कोर्ट से जमानत उचित नहीं है। जज ने यह भी कहा कि उन्‍हें ऑर्डर लिखने में घंटों का वक्‍त लग सकता है। इसलिए ऑपरेट‍िव ऑर्डर वह यही दे रहे हैं कि जमानत इस कोर्ट से नहीं मिल सकती है। इसलिए आप बेल के लिए सेशंस कोर्ट जाइए।

कोर्ट में इस फैसले के पीछे बड़ा तर्क अरमान कोहली मामले का जिक्र भी रहा। कोर्ट में एएसजी ने अरमान कोहली के केस का जिक्र किया और कहा कि कोहली की जमानत याचिका भी खारिज हुई थी। तब भी यही हाल था। जिस तरह अरमान के पास से ड्रग्‍स नहीं मिले थे, उसी तरह आर्यन के पास से भी ड्रग्‍स नहीं मिले। लेकिन तब भी कोर्ट ने माना कि जो बाकी आरोपी गिरफ्तार हुए, उनके पास से भारी मात्रा में ड्रग्‍स मिले थे।

‘मैं सम्‍मानित परिवार से हूं, देश छोड़कर नहीं भाग सकता’, कोर्ट में आर्यन खान की दलील

बताते चलें कि कोर्ट में जिरह ही शुरुआत से ही एडिशनल सॉलिसिटर जनरल (एएसजी) अनिल सिंह लगातार यह कह रहे थे कि इस केस में मजिस्‍ट्रेट कोर्ट के पास जमानत का अध‍िकार नहीं है। हालांकि, इस पर दिनभर बहस हुई। सतीश मानश‍िंदे से लेकर तारक सईद और देशमुख जैसे वकील ने अपने-अपने तर्क रखे। लेकिन कोर्ट ने आख‍िर में यह माना कि इस केस में जमानत के लिए यह याचिका कोर्ट में मेंटेनेबल नहीं है। इसलिए यह जमानत सुनवाई के लायक नहीं है।

आर्यन खान

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

AllwNews