Govinda Childhood Home Video Viral: govinda old vintage video showing his childhood home of virar goes viral remembers struggling days- इस चॉल में पैदा हुए थे गोविंदा, वायरल वीडियो में दिखी स्ट्रगल के दिनों की भावुक कर देने वाली झलक


90 के दशक में गोविंदा (Govinda) बॉलिवुड के टॉप स्टार्स में शुमार रहे। उस वक्त वह एक साथ 4-5 फिल्में करते थे। गोविंदा के पिता अरुण आहूजा (Aroon Ahuja) 40 और 50 के दशक के जाने माने हीरो थे और मां निर्मला देवी (Nirmala Devi) एक सिंगर और ऐक्ट्रेस। इसलिए बहुत से लोग मानते हैं कि गोविंदा को स्टार किड होने के नाते सब आसानी से मिल गया। पर ऐसा नहीं है।

बंगला बेच विरार में चॉल में लगे रहने

गोविंदा के पिता की प्रड्यूस की एक फिल्म जब बुरी तरह फ्लॉप हुई तो उन्हें बहुत बड़ा नुकसान हुआ। इस कारण गोविंदा के परिवार को कार्टर रोड वाला बंगला बेचकर उत्तरी मुंबई के विरार इलाके में जाकर रहना पड़ा। गोविंदा परिवार के साथ विरार के एक चॉल में रहे।

तब गोविंदा ने सोचा भी नहीं था कि वह कभी चॉल की गलियों से निकल पाएंगे और स्टार बनेंगे। लेकिन ऐसा हुआ। गोविंदा ने 80 के दशक में बॉलिवुड डेब्यू किया और 90 के दशक में स्टार बन गए। उस स्टारडम की बदौलत गोविंदा विरार की उन गलियों से निकल आए। हालांकि वह अपनी जड़ों को नहीं भूले। उस जगह को नहीं भूले, जहां वह पैदा हुए। यही वजह थी कि जब गोविंदा बड़े फिल्म स्टार बनने के बाद विरार की उन्हीं गलियों में गए, उसी चॉल में गए, जहां वह पैदा हुए तो वह भावुक हो गए।

गोविंदा के विरार वाले घर का अंदर का नजारा

पढ़ें: हर सुबह गीत गाकर गोविंदा को उठाती थीं मां, बोले- सोचा नहीं था चॉल से बाहर भी न‍िकलूंगा

‘मैं यहीं पैदा हुआ, जो भी बना मां कि दुआओं से बना’
गोविंदा का उस वक्त का एक वीडियो अब सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। इसे इंस्टाग्राम पर notwhyral नाम के यूजर ने शेयर किया है। वीडियो में गोविंदा विरार की उस चॉल में दिख रहे हैं, जहां वह पैदा हुए। हजारों की भीड़ ने उन्हें घेरा हुआ है। लोग उनसे ऑटोग्राफ ले रहे हैं। वीडियो में गोविंदा एक रिपोर्टर को बताते दिख रहे हैं, ‘मैं तो यहीं पैदा हुआ। दो साल बाद आया हूं। मैं तो यही कहूंगा कि मां की दुआओं में आशीर्वाद होता है सभी की, अपना-अपना आशीर्वाद है। मैं तो जो कुछ भी बना हूं, अपनी मम्मी की दुआ और आशीर्वाद से बना हूं।


मां को दिया था सक्सेस और चॉल से बाहर निकाले का क्रेडिट
इससे पहले गोविंदा जब कुछ महीने पहले ‘इंडियन प्रो म्‍यूजिक लीग’ शो में नजर आए थे तो अपने पुराने दिनों को याद कर भावुक हो गए थे। उन्होंने अपनी सफलता का सारा क्रेडिट अपनी मां को दिया था और स्‍ट्रगल के दिनों को याद करते हुए कहा था उन्‍हें एक समय यकीन हो चला था कि वह कभी चॉल की जिंदगी से बाहर नहीं निकल पाएंगे।

चॉल का वो घर जहां गोविंदा पैदा हुए

चॉल का वो घर जहां गोविंदा पैदा हुए

कहा था- नहीं सोचा था कि मैं उस चॉल से बाहर आऊंगा
गोविंदा ने तब कहा था, ‘बहुत कम भाग्यशाली लोग होते हैं जिन्हें अपने माता-पिता की सेवा करने का मौका मिलता है। मैं उन भाग्यशाली लोगों में से हूं। मुझे याद है कि मेरी मां हर दिन हमारे लिए गाना गाती थीं और हमारे दिन की शुरुआत उनकी खूबसूरत आवाज से होती थी। उस समय लोग उससे पूछते थे कि वह इतनी प्रार्थना क्यों करती हैं। आज हमारे हर सपने का पूरा होना, अपना घर होना और इस कदर सफल होना, यह सबकी उनकी ही मेहनत और आशीर्वाद का नतीजा है। मैंने कभी नहीं सोचा था कि मैं उस चॉल से बाहर आऊंगा, लेकिन यह सब इसलिए हुआ क्योंकि मेरी मां को मुझ पर विश्वास था।’ गोविंदा की मां का नाम निर्मला देवी है, वह अपने जमाने की मशहूर सिंगर और ऐक्‍ट्रेस थीं।



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

AllwNews