Nupur Alankar Brother In Law Stuck In Afghanistan: nupur alankar brother in law stuck in afghanistan amid tension with taliban says unable to contact him since a month- अफगानिस्तान में फंसे नुपुर अलंकार के जीजा, महीने भर से नहीं मिली कोई खबर, परिवार का बुरा हाल


‘शक्तिमान’, ‘घर की लक्ष्मी बेटियां’, ‘तंत्र’ और ‘स्वरागिनी’ जैसे टीवी शोज का हिस्सा रहीं ऐक्ट्रेस नुपुर अलंकार (Nupur Alankar) इस वक्त बहुत परेशानी में हैं। उनके जीजा जी काफी दिनों से अफगानिस्तान में फंसे हुए हैं। नुपुर ने इसी साल अगस्त में बताया था कि कई दिनों से उनकी उनके जीजा जी यानी बहनोई (Nupur Alankar brother in law stuck in Afghanistan) से बात नहीं हुई है। परिवार उनका पता लगा पाने में नाकाम है।

1 महीने से नहीं कोई खबर

नुपुर के बहनोई को अब एक महीना हो चुका है और ऐक्ट्रेस का कहना है कि उनकी तरह से न तो कोई फोन आया है और न ही मेसेज। बता दें कि अफगानिस्तान और तालिबान की टेंशन के बीच अब तक सैंकड़ों लोगों को वहां से रेस्क्यू किया जा चुका है।

19 अगस्त को हुई थी आखिरी बार बात

नुपुर अलंकार ने ‘आजतक’ के साथ बातचीत में बताया कि उनकी बहन जिज्ञासा की हालत बहुत खराब हो गई है और वह एकदम चुप हो गई है। नुपुर ने यह भी बताया कि उन्होंने आखिरी बार 19 अगस्त को अपने बहनोई से बात की थी और उसके बाद से एक बार भी न तो फोन पर बात हुई है और न ही कोई मेसेज एक्सचेंज हुआ है। नुपुर अलंकार ने यह भी कहा कि जब उनकी अपने बहनोई से बात हुई थी तो उन्होंने कहा था कि उनका फोन बंद हो जाएगा। लेकिन तब वह किसी और के फोन से मेसेज या कॉल कर देंगे। पर एक महीने के बाद भी कुछ रिस्पॉन्स नहीं आया है।

पढ़ें: अफगानिस्‍तान में लापता हुए ऐक्‍ट्रेस नुपुर अलंकार के बहनोई, 9 दिन से संपर्क नहीं, परिवार की उड़ी नींद
आस और इंतजार में परिवार

नुपुर अलंकार ने यह भी कहा कि 31 अगस्त को चले रेस्क्यू ऑपरेशन के बाद कई लोग अफगानिस्तान से वापस अपने घर आ चुके हैं, पर उनके बहनोई नहीं आए। उन्होंने बताया कि रेस्क्यू ऑपरेशन जब हुआ तो किसी लिस्ट में उनके बहनोई का नाम नहीं था, पर उन्हें उम्मीद थी कि वह वापस आ जाएंगे। नुपुर अलंकार अब बस इसी इंतजार में हैं किसी तरह से यह पता चल जाए कि उनके बहनोई एकदम ठीक हैं। वह किसी तरह से फोन या मेसेज करके अपने बारे में बता दें।

बात करते-करते कट गया था फोन

इससे पहले हमारे सहयोगी ‘ईटाइम्‍स’ से बातचीत में नुपुर अलंकार ने बताया था कि आख‍िरी बार जब उन्‍होंने अपने जीजा जी से बात की थी, तब उन्‍होंने कहा था कि वह अपना फोन चार्ज नहीं कर पा रहे हैं। तभी उनका फोन डिसकनेक्‍ट हो गया था। नुपुर को अभी यह खबर भी नहीं है कि तालिबानी हमले की बीच अफगानिस्‍तान में उनके बहनोई कहां रह रहे हैं और किस हाल में हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *