Sarva Pitru Amavasya 2021 Pitru Visarjan Amavasya know how to do Shradh and upay : सर्व पितृ या पितृ विसर्जन अमावस्या आज, जानिए आखिरी दिन कैसे और किन लोगों का करें श्राद्ध और उपाय


Image Source : INSTAGRAM/HINDIRASHIFAL_MANJULIKA
Sarva Pitru Amavasya 2021

आज आश्विन कृष्ण पक्ष की अमावस्या तिथि और बुधवार का दिन है। अमावस्या तिथि आज शाम 4 बजकर 34 मिनट तक रहेगी। पितृ पक्ष का आखिरी दिन सर्व पितृ अमावस्या मनाई जाती है।  यह पितृ पक्ष का आखिरी दिन होता है। इसे पितृ विसर्जन अमावस्या के नाम से भी जानते हैं।

 

आज अमावस्या तिथि वालों का श्राद्ध किया जायेगा यानि जिनका स्वर्गवास किसी भी महीने की अमावस्या को हुआ हो, उनका श्राद्ध कार्य आज किया जायेगा, साथ ही मातामह, यानि नाना का श्राद्ध भी इसी दिन किया जायेगा। इसमें दौहित्र यानि बेटी के बेटे को ये श्राद्ध करना चाहिए। भले ही उसके नाना के पुत्र जीवित हों। लेकिन वो भी ये श्राद्ध करके उनका आशीर्वाद पा सकता है। इस श्राद्ध को करने वाला व्यक्ति अत्यंत सुख को पाता है। इसके अलावा जुड़वाओं का श्राद्ध तीन कन्याओं के बाद पुत्र या तीन पुत्रों के बाद कन्या का श्राद्ध भी इसी दिन किया जायेगा। 

Shardiya Navratri 2021: 7 अक्टूबर से शुरू हो रही नवरात्रि, जानें शुभ मुहूर्त, पूजा-विधि और सामग्री लिस्ट

आज पितरों को दी जाती है विदाई


माना जाता है कि पितृ विसर्जन करके श्राद्ध के लिये धरती पर आये पितरों की विदाई की जाती है। आज खीर, पूड़ी और अपने पितरों की मनपंसद चीजें बनाकर श्राद्ध कार्य किये जाते हैं। कहते हैं श्राद्ध में पितरों को दिये अन्न-जल से उन्हें संतुष्टि मिलती है और वो अपने परिवार के लोगों को खुशियों का आशीर्वाद देकर वापस लौटते हैं। आज अपने पितरों के निमित्त किसी सुपात्र ब्राह्मण को भोजन जरूर कराएं। साथ ही अगर कोई जरूरतमंद या मांगने वाला घर पर आ जाये, तो उसे भी आदरसहित भोजन कराएं। 

आचार्य इंदु प्रकाश से जानिए  पितृ विसर्जन  के दिन कौन से उपाय करने से पिृदोष से मुक्ति मिलने के साथ हर काम में सफलता प्राप्त होगी, साथ ही वैवाहिक जीवन खुशी से बीतेगा।

अगर आपकी जन्मपत्रिका में पितृदोष है तो आज स्नान के बाद अपने पितर देव को दूध, चावल से बनी खीर का भोग लगाएं और हाथ जोड़कर प्रणाम करें।

 

  • अपने मन में नई तरंग देखना चाहते हैं तो आज स्नान के बाद साफ कपड़े पहनकर गायत्री मंत्र का 21 बात जप करें। मंत्र है- ॐ भूर्भुव स्वः। तत् सवितुर्वरेण्यं। भर्गो देवस्य धीमहि। धियो यो नः प्रचोदयात्
  • अपने बच्चों को किसी की बुरी नजर से बचाये रखने के लिए आज शाम को एक मुट्ठी राई के दाने से बच्चे के सिर पर 6 बार क्लॉक वाइज़ और एक बार एंटी क्लॉक वाइज़ घुमाकर राई के दाने को किसी चौराहे पर चारों दिशाओं में थोड़े-थोड़े फेंक दें।
  • अपने आस-पास खुशियों का संचार करने के लिए आज स्नान के बाद एक लोटे जल में थोड़े-से काले तिल और एक लाल फूल डालकर सूर्य सेव को अर्पित करें।
  • अगर आपके विवाहित जीवन में किसी प्रकार की परेशानी आ रही है तो आज स्नान के बाद विधि-पूर्वक धूप-दीप आदि से शिवलिंग की पूजा कर जलाभिषेक करें।
  • अगर आप चाहते हैं कि भविष्य में आपके साथ सब अच्छा ही अच्छा हो तो आज गेहूं के आटे की रोटी बनाकर, उस पर गुड़ का एक छोटा-सा टुकड़ा रखकर गाय को खिलाएं।
  • अगर आप अपने बिजनेस में सफलता पाना चाहते हैं तो आज स्नान के बाद सूर्यदेव को जल से अर्घ्य दे और फिर अपने पितृदेव को प्रसन्न करने के लिये इस मंत्र का जप करें। मंत्र है- ॐ सर्वेभ्यो पित्रेभ्यो नमो नम:
  • अगर आप अपने जीवन में तरक्की पाना चाहते हैं तो आज अपने पिता समान किसी सुपात्र ब्राह्मण को अपने घर बुलाएं और उन्हें खीर, पूड़ी, सब्जी का भोजन कराएं। साथ ही ब्राह्मण के दोनों पैर छूकर आशीर्वाद लें। इसके अलावा एक बात और- जब आप ब्राह्मण को भोजन करा दें, तो उनकी थाली में बची जूठन को उठाकर, अलग से दो पूड़ियों पर रखकर कुत्ते को जरूर खिलाएं।



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *