Satish Manshinde says I am not afraid of you: ​Courtroom Drama: When Satish Manshinde Told ASG Anil Singh Do Not Stare at Me I am not afraid of you ​- जब कोर्ट में ASG से तीखी हो गई जुबानी जंग, सतीश मानश‍िंदे ने कहा- मुझे घूरने से मैं डरने वाला नहीं


ड्रग्‍स केस में गिरफ्तार आर्यन खान (Aryan Khan) का मौजूदा पता अब ऑर्थर रोड जेल, बैरक नंबर-1 है। किला कोर्ट ने शुक्रवार को आर्यन की जमानत याचिका यह कहते हुए खारिज कर दी कि मजिस्‍ट्रेट कोर्ट में यह याचिका मेंटेनेबल यानी विचारणीय ही नहीं है। जमानत के लिए अब उन्‍हें सेशंस कोर्ट जाना होगा। लेकिन इस नतीजे तक पहुंचे से पहले कोर्ट में करीब साढ़े चार घंटे की बहस हुई। आर्यन की तरफ से सतीश मानश‍िंदे (Satish Manshinde) दलील पर दलील दे रहे थे। जिसे एडिशनल सॉलिसिटर जनरल अनिल सिंह (ASG Anil Singh) लगातार काट रहे थे। कोर्ट में सुनवाई के दौरान दोनों वकीलों में कई बार तीखी बहस हो गई। एक बार तो मामला ऐसा हो गया कि सतीश मानश‍िंदे ने सीधे शब्‍दों में ASG अनिल सिंह से कह दिया, ‘मुझे घूरने से मैं डरने वाला नहीं हूं।’

शुरुआत में ही उलझे, मानश‍िंदे बोले- आप कोर्ट को डिक्‍टेट मत कीजिए
कोर्ट पहुंचते ही ASG अनिल सिंह ने जमानत याचिका का विरोध करते हुए कहा कि ये इस कोर्ट में मेंटेनेबल नहीं हैं। ये याचिकाएं इस कोर्ट में विचारणीय नहीं हैं। यदि आपको जमानत चाहिए तो आप एनडीपीएस स्‍पेशल कोर्ट में जाएं। लेकिन सतीश मानश‍िंदे ने अपनी ओर से तर्क और दलील की बौछार लगा दी। सतीश मानेशिंदे ने ASG से कहा कि वह सीआरपीसी देखें.. इस पर ASG अनिल सिंह ने कहा कि वह मेंटेनेबल और मेरिट का मुद्दा उठा रहे हैं। तो पहले इसका जवाब दें। मानशिंदे ने इस पर आरोप लगाते हुए कहा कि ASG कोर्ट को डिक्टेट नहीं कर सकते। ASG ने भी जवाब देते हुए कहा कि बात डिक्‍टेट करने की है ही नहीं, बात सही प्रक्रिया की है।

बीच में जस्‍ट‍िस नेर्लिकर को भी टोकना पड़ा
दोनों वकीलों के बीच सुनवाई शुरू होने के बाद से ही बहस और तीखी नोंकझोंक का दौर जारी था। एक बार तो बीच में कोर्ट को भी दखल देना पड़ा। जस्‍ट‍िस आरएम नेर्लिकर ने दोनों को टोकते हुए कहा, ‘आप अपनी बात, गुण-दोष के आधार पर दायर करें। मैं इसका फैसला करूंगा। आप जो कुछ भी कहना चाहते हैं, पहले अपील फाइल करें।’

आर्यन के लिए ‘फेल’ हुईं सतीश मानश‍िंदे की सारी दलीलें! जानिए कैसे हारकर जीत गए ASG अनिल सिंह
चलता रहा तीखी बहस का दौर
मानशिंदे और ASG अनिल सिंह के बीच एक और बार तीखी बहस तब शुरू हुई, जब मानश‍िंदे ने दलील में कहा कि जब आर्यन के पास से कुछ बरामद हुआ ही नहीं है, तब यूनियन ऑफ इंडिया मामले को लेकर इस तरह उत्तेजित क्यों है? इस पर ASG ने कहा, ‘सभी आरोपी एक ही तरह के अपराध में गिरफ्तार किए गए थे, ऐसे में उनका विभाजन नहीं हो सकता। इस अदालत ने पहले भी ऐसे एक मामले में कहा गया था कि जमानत अर्जी विचारणीय नहीं है। हालांकि, तब खुद जस्‍ट‍िस आरएम नेर्लिकर भी थोड़े गुस्‍से में आ गए। उन्‍होंने ASG से कहा कि आप चाहते हैं कि मैं बिना सुने मामला खत्‍म कर दूं। इस पर अनिल सिंह ने जवाब दिया, ‘नहीं, मैंने यह कभी नहीं कहा। मैं किसी को नहीं रोक सकता।’

Aryan Khan Statement: आर्यन ने कोर्ट को बताया क्रूज पर क्‍या हुआ था, कैसे हुई थी गिरफ्तारी
अपनी बात पर अड़े रहे ASG अनिल सिंह
अपनी दलील में मानश‍िंदे ने इसके बाद आर्यन खान के हवाले से कोर्ट में बयान पढ़ा। सतीश मानश‍िंदे ने कहा, ‘आर्यन खान 23 साल के एक युवा लड़के हैं। उनका बैकग्राउंड किसी क्र‍िमिनल केस से नहीं जुड़ा है। उनसे जो भी पूछताछ की गई, उन्‍होंने सहायता की। उनके पास से कोई ड्रग्‍स बरामद नहीं हुआ। जब भी पूछताछ की जरूरत होगी, आर्यन हाजिर हो जाएंगे। उन्‍हें जमानत दी जाए।’ एक बार फिर इस पर ASG अनिल सिंह ने कहा, ‘मैं अपनी बात दोहराना चाहूंगा कि जमानत पर सुनवाई का अध‍िकार इस कोर्ट को नहीं है।’

जेल के बैरक नंबर- 1 में कैद रहेंगे मन्नत के ‘युवराज’ आर्यन खान, 5 दिन तक नहीं मिलेगी यूनीफॉर्म
मानश‍िंदे की दलील, अनिल सिंह का तर्क
जब सतीश मानश‍िंदे ने आर्यन की ओर से पूरा बयान पढ़ लिया। तब ASG अनिल सिंह ने जवाब में कहा कि वह जमानत लेने के अधिकार या जमानत मांगने के आवेदन का विरोध नहीं कर रहे हैं। वह यह बात कह रहे हैं कि क्‍या इस अदालत में जमानत का दावा करने का अधिकार है? अनिल सिंह ने यहीं पर कोर्ट में अरमान कोहली केस का जिक्र किया। कहा कि अरमान कोहली की जमानत याचिका इसलिए खारिज की गई कि उन्‍हें जिन आरोपियों के साथ गिरफ्तार किया गया था, उन आरोपियों के पास से बड़ी मात्रा में ड्रग्‍स बरामद हुए थे, जबकि कोहली के पास ड्रग्‍स नहीं थे। अनिल सिंह ने कहा, ‘मैं सिर्फ इतना कह रहा हूं कि जमानत के लिए आवेदन यहां सुनवाई योग्य नहीं है, क्योंकि एक विशेष एनसीबी अदालत है जहां आप जमानत के लिए संपर्क कर सकते हैं।’

Aryan Khan Drugs Case: कोर्ट ने क्‍यों कहा, आर्यन खान की जमानत याचिका सुनवाई के लायक नहीं
अनिल सिंह ने कहा- मेरे काबिल दोस्‍त…
इसी क्रम में सतीश मानश‍िंदे ने जस्‍ट‍िस डांगरे की अदालत के फैसले का जिक्र किया। ASG अनिल सिंह ने फिर पलटवार करते हुए कहा कि हमारे काबिल दोस्‍त ने जस्‍ट‍िस डांगरे के फैसले से 2-3 अनुच्छेद का हवाला देते हुए कहा कि वह अंतरिम जमानत के हकदार हैं। जबकि यदि वह फैसला ठीक से पढ़ें तो उसमें भी यही कहा गया है कि इसके लिए आपको संबंधित अदालत में जाना होगा.. यदि अदालत रेगुलर बेल नहीं दे सकती तो अंतरिम जमानत भी वहां से नहीं दी जा सकती।

जेल भेजे गए शाहरुख खान के लाडले आर्यन खान, मां गौरी का जन्‍मदिन अब दुआओं के नाम
जब बढ़ने लगी बात, आ गई ‘घूरने’ की बात
सतीश मानश‍िंदे लगातार कोर्ट में दलील पर दलील दे रहे थे। जबकि हर बार ASG अनिल सिंह यही कह रहे थे कि आप पहले इस बाधा को पार कीजिए कि आपकी याचिका इस कोर्ट में विचारणीय है भी या नहीं, जमानत पर सुनवाई तो उसके बाद होगी। लेकिन इस बार जब अनिल सिंह ने यह कहा तो उनकी आंखें थोड़ी बड़ी हो गई थीं। इस पर मानशिंदे ने तपाक से कहा, ‘मुझे घूरने से मैं डरने वाला नहीं हूं.. यहां कुछ भी व्यक्तिगत नहीं है।’

जेल में ही रहेंगे आर्यन खान, कोर्ट ने नहीं दी जमानत

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *