बूचा हत्याकांड पर आयी भारत की प्रतिक्रिया, UNSC में की ये मांग । Bucha massacre India’s reaction this demand in UNSC


Image Source : @AMBTSTIRUMURTI
India’s Permanent Representative to the UN Ambassador T S Tirumurti.

Highlights

  • बूचा में नागरिकों की मौत वाली खबरें काफी परेशान करने वाली हैं- संयुक्त राष्ट्र में भारत के राजदूत ने कहा
  • यूक्रेन के बूचा में अब तक का सबसे बड़ा नरसंहार सामने आया है
  • रूस की ओर से बूचा हत्याकांड का खंडन किया गया है

Russian Ukraine News: भारत ने यूक्रेन के बूचा शहर में आम नागरिकों को बर्बरता से मारे जाने की घटना की निंदा की है। भारत ने UNSC में पहली बार बिना नाम लिए रूस के खिलाफ अपनी प्रतिक्रिया दी है। भारत ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (UNSC) में यूक्रेन के बूचा शहर में आम नागरिकों को बर्बरता से मारने की घटना पर चिंता व्यक्त करते हुए निष्पक्ष जांच का समर्थन किया है। 

संयुक्त राष्ट्र में भारत के राजदूत टी एस तिरुमूर्ति ने UNSC की बैठक में कहा कि, बूचा में नागरिकों की मौत वाली खबरें काफी परेशान करने वाली हैं। भारत बूचा हत्याओं की निंदा करता है और एक स्वतंत्र जांच के आह्वान का समर्थन करता है। हालांकि, इस दौरान उन्होंने रूस का नाम नहीं लिया। उन्होंने हिंसा को तत्काल समाप्त करने और शत्रुता समाप्त करने के अपने आह्वान को भी दोहराया।

कूटनीति ही एकमात्र रास्ता- तिरुमूर्ति

टी एस तिरुमूर्ति ने आगे कहा कि, भारत यूक्रेन में बिगड़ती स्थिति पर काफी चिंतित है। उन्होंने कहा कि यूक्रेन संकट का असर अब दुनियाभर में पड़ रहा है। इससे खाद्य और ऊर्जा सामग्री महंगी हो रही है, इसका असर सबसे ज्यादा विकासशील देशों पर पड़ रहा है। तिरुमूर्ति ने कहा कि, “जब बेकसूर लोगों की जिंदगी दांव पर लगी हो, तो कूटनीति को ही एकमात्र व्यवहार्य विकल्प के रूप में इस्तेमाल करना चाहिए।” टीएस तिरुमूर्ति ने कहा कि भारत ने यूक्रेनियों की मानवीय जरूरतों पर जोर दिया और हमें उम्मीद है कि अंतरराष्ट्रीय समुदाय मानवीय जरूरतों के लिए सकारात्मक प्रतिक्रिया देना जारी रखेगा।  

बूचा में नरसंहार से रूस का इंकार

बता दें कि, यूक्रेन के बूचा में अब तक का सबसे बड़ा नरसंहार सामने आया है। यूक्रेन का दावा है कि रूसी सैनिकों ने यहां 400 से ज्यादा लोगों को मौत के घाट उतार दिया। यूक्रेन की राजधानी कीव के पास बूचा शहर की सड़क पर 400 से ज्यादा लाशें पड़ी मिलीं हैं। हालांकि, रूस की ओर से इसका खंडन किया गया है। लेकिन लगभग एक महीने से सड़कों पर खुले पड़े लोगों के शवों की तस्वीरें और वीडियो सामने आए हैं। सैटेलाइट तस्वीरें रूस के उस दावे का खंडन करती हैं जिसमें कहा गया कि यूक्रेन लोगों की हत्या का नाटक कर रहा है।

बूचा नरसंहार पर रूस की घेराबंदी जारी

बूचा नरसंहार पर अब अमेरिका और उसके अन्य सहयोगी देशों ने रूस की घेराबंदी तेज कर दी है। ब्रिटेन ने तो रूस के नागरिकों से अपील करते हुए कहा कि वे अपनी सरकार से सच जानें। ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने पुतिन पर अपने नागरिकों से सच छिपाने का आरोप लगाया। UNSC को संबोधित करते हुए संयुक्त राष्ट्र के महासचिव एंटोनियो गुतारेस ने कहा कि, बूचा में आम नागिरकों की हत्या की भयावह तस्वीरों को भुला पाना संभव नहीं है। उन्होंने प्रभावी जवाबदेही सुनिश्चित करने के लिए तत्काल निष्पक्ष जांच का आह्वान किया। 



Leave a Reply

Your email address will not be published.

AllwNews