China earthquake collapses homes, kills many | चीन में भूकंप के तगड़े झटके से कांपी धरती, 3 लोगों की मौत, 60 घायल


Image Source : AP REPRESENTATIONAL
चीन के दक्षिण पश्चिमी सिचुआन प्रांत में गुरुवार को 6.0 तीव्रता का भूकंप आया।

बीजिंग: चीन के दक्षिण पश्चिमी सिचुआन प्रांत में गुरुवार को 6.0 तीव्रता का भूकंप आया जिसमें कम से कम 3 लोगों की मौत हो गई और 60 अन्य घायल हो गए। सिचुआन के भूकंप राहत मुख्यालयों ने, चीन की 4 स्तरीय भूकंप आपदा प्रतिक्रिया प्रणाली में दूसरी नंबर की (लेबल-2) प्रतिक्रिया दी है। चीन भूकंप नेटवर्क केंद्र (CENC) के अनुसार भूकंप स्थानीय समयानुसार सुबह 4 बजकर 33 मिनट पर लक्सियन काउंटी में आया और उसका केंद्र जमीन से 10 किलोमीटर की गहराई पर था।

‘3 लोगों की हालत गंभीर’

सरकारी समाचार एजेंसी ‘शिन्हुआ’ ने बताया कि भूकंप में 3 लोगों की मौत हो गई और 60 अन्य घायल हो गए। घायलों को तत्काल अस्पताल ले जाया गया, जहां 3 लोगों की हालत गंभीर बनी हुई है। स्थानीय प्रशासन ने कहा कि भूकंप के बाद 6,900 से अधिक प्रभावित लोगों को अन्य स्थानों पर पहुंचाया गया है और 10,000 से अधिक लोगों को अस्थायी शिविरों में भेजा गया है। भूकंप इतना तेज था कि इससे 730 से अधिक मकान गिर गए और 7,290 क्षतिग्रस्त हो गए। भूकंप प्रशासन ने आपदा राहत कार्य के लिए एक दल भेजा है।

‘मकानों का मलबा बिखरा’
आस-पास की अग्निशमन और बचाव ब्रिगेड के कुल 890 कमांडर राहत एवं बचाव कार्य में लगे हुए हैं, जबकि 4,600 बचावकर्मियों को तैयार रहने के लिए कहा गया है। शिन्हुआ की खबर में कहा गया है कि भूकंप से प्रभावित जियामिंग शहर में ढहे मकानों और दीवारों का मलबा बिखरा है। शहर के अधिकांश घरों में बिजली आपूर्ति ठप हो गई है। फूजी में भारी बारिश के बीच, बचावकर्मी घर-घर जा रहे थे और क्षतिग्रस्त घरों में लोगों की तलाश कर रहे हैं और उन्हें अस्थाई शिविरों में ले जा रहे हैं।

2008 में आया था बड़ा भूकंप
भूकंप से कुछ दूरसंचार स्टेशन और केबल क्षतिग्रस्त हो गई हैं। रेलवे अधिकारियों ने बताया कि लुझोउ उच्च गति रेलवे स्टेशन को बंद कर दिया गया है। सभी कोयला खदानों को भूमिगत कार्यों को रोकने और खनिकों को खदानों से निकालने का आदेश दिया गया है। सिचुआन भूकंप प्रशासन के उपप्रमुख झांग झिवेई ने कहा कि भूकंप हुआयिंग पर्वत क्षेत्र के आसपास आया। सिचुआन प्रांत में 2008 में 8 तीव्रता के भूकंप में हजारों लोग मारे गए थे और कई अन्य घायल हो गए थे।



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *