Man flogged by Taliban fighters in Kabul for ‘stealing a phone’ | तालिबान ने शख्स को खंभे से बांधकर बरसाए कोड़े, मोबाइल फोन की चोरी का था आरोप


Image Source : AP REPRESENTATIONAL
अफगानिस्तान की राजधानी काबुल में एक शख्स को खंभे से बांधकर उसपर कोड़े बरसाए जाने का वीडियो सामने आया है।

काबुल: अफगानिस्तान की राजधानी काबुल में एक शख्स को खंभे से बांधकर उसपर कोड़े बरसाए जाने का वीडियो सामने आया है। बता दें कि अफगानिस्तान की सत्ता पर तालिबान के कब्जे के बाद मुल्क में शरिया कानून लागू हो गया है और मामूली से अपराध के आरोप में भी जनता को सख्त से सख्त सजा दी जा रही है। रिपोर्ट्स के मुतबिक, शख्स को खंभे से बांधकर कोड़े मारने की यह घटना पिछले वीकेंड की है। इस शख्स पर मोबाइल फोन की चोरी का आरोप था।

‘दर्द के मारे बुरी तरह चीख रहा था आरोपी’

चश्मदीदों ने बताया कि आरोपी शख्स पर तालिबान के लड़ाके ताबड़तोड़ कोड़े बरसा रहे थे और वह दर्द के मारे बुरी तरह चीख रहा था। काबुल के शिक्षा मंत्रालय के ठीक सामने आरोपी पर कोड़े बरसाए गए। बता दें कि पिछले शासन के मुकाबले उदारता दिखाने के तमाम वादों के बावजूद तालिबान ने आम जनता पर सख्ती दिखाना नहीं छोड़ा है। हाल ही में अफगानिस्तान की राजधानी काबुल के अंतरिम मेयर ने कहा था कि देश के नए तालिबान शासकों ने शहर की कई महिला कर्मचारियों को घर पर ही रहने का आदेश दिया है।

महिलाओं को कुछ ही क्षेत्रों में काम करने की इजाजत
तालिबान के फैसले के बारे में बताते हुए काबुल के अंतरिम मेयर ने कहा कि महिलाओं को वही काम करने की इजाजत है जो पुरुष नहीं कर सकते हैं। यह फैसला अधिकतर महिला कर्मचारियों को काम पर लौटने से रोकेगा और यह इस बात का एक और संकेत है कि तालिबान सार्वजनिक जीवन में महिलाओं पर पाबंदियां लगाने समेत इस्लाम की कठोर व्याख्या को लागू कर रहा है, जबकि उसने सहिष्णु और समावेशी सरकार का वादा किया था। 1990 के दशक में शासन के दौरान तालिबान ने लड़कियों और महिलाओं के स्कूल जाने तथा नौकरी करने पर रोक लगा दी थी।

तालिबान सरकार ने जारी किए कई नए फरमान
हाल के दिनों में, नई तालिबान सरकार ने लड़कियों और महिलाओं के अधिकारों पर अंकुश लगाने वाले कई फरमान जारी किए हैं। उसने मिडिल और हाई स्कूल की छात्राओं से कहा कि वे फिलहाल स्कूल नहीं आएं जबकि लड़कों के लिए इस हफ्ते के अंत से स्कूल खोल दिए गए हैं। विश्वविद्यालय की छात्राओं को सूचित किया गया है कि लड़के और लड़कियों की कक्षाएं की अलग अलग होंगी और उन्हें सख्त इस्लामी पोशाक संहिता का पालन करना होगा। अमेरिका के समर्थन वाली पिछली सरकार में अधिकतर स्थानों पर विश्वविद्यालयों में सहशिक्षा थी। तालिबान ने पिछले महीने इस सरकार को अपदस्थ कर सत्ता पर कब्जा कर लिया था।



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *