Pakistan pm Imran khan accused of selling gifts received from other countries Heads| पाक पीएम इमरान खान का ‘गिफ्ट घोटाला’, राष्ट्राध्यक्षों से मिले कीमतों उपहारों को बेचने का आरोप


Image Source : PTI
पाक पीएम इमरान खान का ‘गिफ्ट घोटाला’, राष्ट्राध्यक्षों से मिले कीमतों उपहारों को बेचने का आरोप

इस्लामाबाद:  पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान की मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रही हैं। अब विपक्षी दलों ने प्रधानमंत्री इमरान खान पर विभिन्न देशों के राष्ट्राध्यक्षों की तरफ से मिले उपहारों को बेचने का आरोप लगाया है। विपक्षी दलों का आरोप है कि इमरान खान ने जिन उपहारों को बेचा उनमें 10 लाख अमेरिकी डॉलर की बहुमूल्य घड़ी भी शामिल है।

आमतौर पर जब भी किसी देश के राष्ट्रध्यक्ष या संवैधानिक पदों पर बैठे बड़े अधिकारी दूसरे देश में जाते हैं तो दोनों के बीच उपहारों का आदान-प्रदान होता है। गिफ्ट डिपॉजिटरी (तोषाखाना) के नियमों के मुताबिक राष्ट्राध्यक्षों को मिले उपहार तब तक राज्य की संपत्ति रहेंगे जब तक कि उन्हें खुली नीलामी में नहीं बेचा जाता। द एक्सप्रेस ट्रिब्यून अखबार की रिपोर्ट के मुताबिक अधिकारी 10 हजार रुपये से कम के तोहफे रख सकते हैं। 

पीएमएल-एन की उपाध्यक्ष मरयम नवाज ने उर्दू में ट्वीट कर इमरान खान पर गंभीर आरोप लगाए हैं। मरयम नवाज ने ट्वीट किया,’इमरान खान ने दूसरे देशों से मिले तोहफों को बेच दिया है।‘ मरयम नवाज ने कहा, ’खलीफा हजरत उमर (पैगंबर मुहम्मद के साथी) अपनी कमीज और लबादे के लिए जवाबदेह थे और एक तरफ आपने (इमरान खान) तोषाखाने के तोहफे लूटे और आप मदीने जैसा राज स्थापित करने की बात करते हैं? कैसे कोई व्यक्ति इतना असंवेदनशील, बहरा, गूंगा और अंधा हो सकता है?’

विपक्षी गठबंधन पाकिस्तान डेमोक्रेटिक मूवमेंट (PDM) के चीफ मौलाना फजलुर रहमान ने कहा कि ऐसी खबरें हैं कि पीएम इमरान खान ने एक प्रिंस से मिली महंगी घड़ी को बेच दिया है। यह बहुत शर्मनाक है। सोशल मीडिया पर ऐसी खबरें चल रही हैं कि इमरान खान को एक खाड़ी देश के एक राजकुमार ने 10 लाख अमेरिकी डॉलर की घड़ी उपहार में दी थी। इस घड़ी को दुबई में इमरानखान के एक करीबी ने 10 लाख डॉलर में बेच दिया और पैसे इमरान खान को दे दिए। 

पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज (पीएमएल-एन) पंजाब के अध्यक्ष राणा सनाउल्लाह ने बुधवार को एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि अन्य देशों के राष्ट्र प्रमुखों से प्रधानमंत्री को मिले उपहारों की कथित बिक्री के कारण पाकिस्तान की बदनामी हुई है। आपको बता दें कि पिछले महीने, पाकिस्तान सरकार ने विदेशी राष्ट्राध्यक्षों द्वारा प्रधान मंत्री को दिए गए उपहारों का विवरण सार्वजनिक करने से इनकार कर दिया, यह कहते हुए कि खुलासा देश के राष्ट्रीय हित और अन्य राज्यों के साथ उसके संबंधों को नुकसान पहुंचा सकता है।



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

AllwNews