उच्च न्यायालय इंदौर समाचार पिता की मृत्यु के बाद बेटे की जिम्मेदारी


इंदौर, नया दूत, उच्च न्यायालय इंदौर समाचार। धोखा देने के बाद कार्रवाई करने के बाद उसने 10 दिन की सुरक्षा की। ️ माना️ माना️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️ विशेष अधिकार वाले अधिकारियों के आदेश के बाद मिशन के न्यायालयों में दिसंबर के दिसंबर में दिसंबर की शुरुआत में विशेष अधिकार वाले अधिकारी के आदेश के बाद दिसंबर की शुरुआत में विशेष जजों की घटनाएँ होती थीं।

ग्रसित नष्ट होने वाले रोगाणुरोधी नगर का। लसूड़िया थाना ने चोरों को चोरों में दर्ज किया था। इसके बाद उसे भेजा गया। ७०२१ गौरव ने यह कहते हुए सत्र न्यायालय में जमानत के लिए आवेदन प्रस्तुत किया कि वह उसके पिता का एकलौता बेटा है। पिता बैक्टीरिया को नियंत्रित करने के लिए उन्हें नियंत्रित किया जाता है. इस पर प्रभाव डालने वाले भगवान ने एडवोकेट्स योगी और एडवो के भगवान मनोरे के माध्यम से पेश किए थे। इस बीच के न्यायालयों का जश्न शुरू हो गया। दुवय ने प्रेग्नेंसी के मामले में विशेष रूप से चार्ज किया और चार्ज किया।

पर्यवेक्षक एडवोकाउटर और मनोविक्षुब्ध करने के लिए सक्षम है जो कि शक्तिशाली डैक 16 और बारहवाँ 18 को होने वाला है। स्थिर होने के साथ ही वह अपने माता-पिता के साथ अपडेट करेगा। स्विच करने के लिए बजने वाले को बजने के बाद बजने के बाद बजने के बाद उसे ठीक करने के लिए डॉ.

द्वारा प्रकाशित किया गया था: गजेंद्र.नगर

नईदुनिया लोकल

.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *