कोलकाता में नूपुर शर्मा का विरोध कर रहे प्रदर्शनकारियों ने एक पुलिसकर्मी की हत्या की?


पूर्व भाजपा प्रवक्ता नूपुर शर्मा ने पैगम्बर मोहम्मद पर विवादित टिपण्णी की थी. इसके बाद कोलकाता, झारखंड, उत्तर प्रदेश, बिहार समेत देशभर में मुस्लिम समुदाय ने इसका विरोध किया. कई जगहों से हिंसा की खबरें भी सामने आई.

इस खबर के बाद एक वीडियो सोशल मीडिया पर शेयर किया जा रहा है. वीडियो में एक पुलिसकर्मी सड़क पर मृत अवस्था में पड़ा है. उसके शरीर के पास एक राइफल पड़ी है और भीड़ ने उसे घेर रखा है. इसे हाल में हुए विरोध प्रदर्शन के साथ जोड़कर शेयर किया जा रहा है. एस.एस.नौहवार नाम के यूज़र ने ये वीडियो ट्वीट करटे हुए दावा किया कि कोलकाता में विरोध कर रही भीड़ ने इस पुलिसकर्मी की हत्या कर दी. (आर्काइव लिंक)

भाजपा कार्यकर्ता ‘पं. वरुण पाराशर’ ने भी ये वीडियो इसी दावे के साथ ट्वीट किया. (आर्काइव लिंक)

फ़ेसबुक यूज़र कृष्णा पंडित ने ये वीडियो ऐसे ही दावे के साथ पोस्ट किया.

ये वीडियो फ़ेसबुक से लेकर ट्विटर पर वायरल है.

फ़ैक्ट-चेक

वायरल वीडियो से जुड़ी जानकारी जुटाने के लिए ऑल्ट न्यूज़ ने गूगल पर की-वर्ड्स सर्च किया. हमें 10 जून 2022 की NDTV की रिपोर्ट मिली. इसमें वायरल वीडियो का ज़िक्र किया गया है. वीडियो में हिंसा होने की वजह से इसे ब्लर कर दिया गया है. रिपोर्ट में बताया गया है कि कोलकाता में बांग्लादेश डिप्टी हाई कमीशन पर तैनात पुलिस के जवान चोडुप लेप्चा ने अपनी सर्विस राइफल से कई राउंड फायरिंग किया था. इसके बाद उन्होंने खुद को भी गोली मार ली थी. खबर के मुताबिक, उनकी मौत हो गई थी.

द टेलीग्राफ़ ऑनलाइन ने रिपोर्ट किया कि पुलिसकर्मी ने हरसंभव दिशा में गोलियां चलाई थीं. इस फायरिंग में पास से गुज़र रही 28 वर्षीय रीमा की मौत हो गई थी. इसके साथ ही 19 वर्षीय मोहम्मद सरफ़राज़ व 49 वर्षीय मोहम्मद बशीर आलम, गोली लगने से घायल हो गए थे.

हिंदुस्तान टाइम्स ने रिपोर्ट किया कि कोलकाता के एडिशनल पुलिस कमिश्नर, प्रवीण कुमार त्रिपाठी ने बयान दिया था कि इस मामले का विरोध प्रदर्शन से कोई संबंध नहीं है. आगे, रिपोर्ट में कोलकाता के पुलिस कमिश्नर विनीत कुमार गोयल के हवाले से लिखा है कि इस मामले की जांच की जाएगी. और इससे पता चलेगा कि उन्होंने गोलियां क्यों चलाई थी और बाद में खुद को गोली क्यों मार ली थी.

न्यू इंडियन एक्स्प्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक, एडिशनल कमिश्नर ऑफ़ पुलिस प्रवीण त्रिपाठी ने कहा कि चोडुप ने अपनी गर्दन पर खुद को गोली मार ली थी. ऐसा लगता है कि उन्हें डिप्रेशन था. आर्टिकल लिखे जाने तक ये पता नहीं चल पाया है कि ये हादसा उसकी मानसिक स्थिति के कारण हुआ था या नहीं? कोलकाता पुलिस इसका पता लगाने के लिए मृत पुलिसकर्मी के परिवारवालों, सहकर्मियों और दोस्तों से बात करेगी.

यानी, ऑल्ट न्यूज़ ने पाया कि कई सोशल मीडिया यूज़र्स ने कोलकाता में पुलिसकर्मी की आत्महत्या की घटना, नूपुर शर्मा और नवीन जिंदल के विरोध में हुए प्रदर्शन से जोड़कर शेयर की.

डोनेट करें!
सत्ता को आईना दिखाने वाली पत्रकारिता का कॉरपोरेट और राजनीति, दोनों के नियंत्रण से मुक्त होना बुनियादी ज़रूरत है. और ये तभी संभव है जब जनता ऐसी पत्रकारिता का हर मोड़ पर साथ दे. फ़ेक न्यूज़ और ग़लत जानकारियों के खिलाफ़ इस लड़ाई में हमारी मदद करें. नीचे दिए गए बटन पर क्लिक कर ऑल्ट न्यूज़ को डोनेट करें.

बैंक ट्रांसफ़र / चेक / DD के माध्यम से डोनेट करने सम्बंधित जानकारी के लिए यहां क्लिक करें.





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.

AllwNews