चाइल्ड हेल्पलाइन इंदौर चाइल्डलाइन टीम ने माचल गांव में बच्चों को स्कूल पहुंचाने का किया प्रयास


इंदौर, नया दूत बाल हेल्पलाइन इंदौर। कोविड का खत्म होने के बाद भी उन्हें पढ़ा जाना शुरू हो गया था. अब तक की सरकारी लेखा-जोखा रखने में भी. यही वजह है कि चाइल्डलाइन द्वारा ग्रामीण क्षेत्र के बच्चों को स्कूलों में पहुंचाने के लिए प्रयास किया जा रहा है।

कोऑर्डिनेशन ऑश (चाइल्डलाइन) के कोऑर्डिनेशनल विश्वुर टीम सदस्य संतोष सोलंकी द्वारा माचल विलेज में संचार के इसमे गांव के ६०-७० सम्मिश्रण। माचल शहर में दर्ज़ शहर में पढ़ाया गया था। इस तरह के सुधारों के हिसाब से ये सब ठीक-ठाक थे और उन्हें सही ढंग से व्यवस्थित किया गया था। कक्षा में कक्षा में प्रवेश करने के लिए सफल हो गया।

इस तरह के कनेक्शन का लाभ लेने के लिए यह खाता खुलना नहीं था। खाता खुलवाए गए हैं। संस्था अष्टा टीम द्वारा सदस्य राष्ट्र संघ की सदस्याओं की बैठक की। बैंक आफ इंडिया के टीवी टीवी चैनलों के प्रसारण सेन्टर के चैनल से भी खाता भी खुल गया। बैंक की स्थापना को सहयोग से माचलघव मे प्रबंधन के साथ मिलकर काम में भी शामिल किया गया। संस्था के ब्लॉग ब्लॉग सर्च मार्क अन्य सहायता की भी जा सकते हैं। टीम द्वारा उक्त क्षेत्र में बच्चो एवं माता-पिता को चाइल्ड लाइन 1098 एवं बच्चों के अधिकारों की जानकारी दी गयी।

द्वारा प्रकाशित किया गया था: समीर देशपांडे

नईदुनिया लोकल

.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *