देवउठनी एकादशी 2021 15 तारीख को देवउठनी एकादशी से शुरू होंगे शुभ कार्य


प्रकाशन तिथि: | शुक्र, 12 नवंबर 2021 06:34 पूर्वाह्न (आईएसटी)

जयप्रकाश, नया दूत। चाणक्य के बाद के विष्णु कार्तिक मास शुक्लपक्षी को जागेंगे। देवउठनी एकादशी और देवप्रबोधनी एकादशी भी। भगवान के साथ शुभ भी। बार बार देवउठनीादशी 15 तारीख को तारीख़ एक बार दिनांकित हो गई है।

14 को कल से तारीख शुरू होगी : एक तारीख़ 14 तारीख को रात 8.38 बजे से शुरू होगी। जो 15 को सुबह 8.31 बजे तक। कुछ तैयार किए गए हैं। ️ ज्️ ज्️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️ इसलिए देवउठनी एकादशी 15 नवंबर को मासिक। दिनभर मान्‍य जोय।

तुलसी और शालिवाहन का विवाह : 15 नवंबर को तुलसी-विवाह किया गया। हिंदू धर्म में मान्‍यता कि हर साल एकादशी तिथि पर माता-पिता तुलसी जी और विष्‍णु के शालिवाहर के साथ शादी की शादी होगी। मान्‍यता है कि इस हर सुहागिन को तालिबान चाहिए। पूजा को सच्‍चेचे पर अखड सौभाग्य और सुख-समृद्धि मन की तरह हैं। तुलसी पूजा के समय की सामग्री और लहसुन के सेवन की सामग्री चाहिए। तुलसी के पौधे के साथ तुलसी के पौधे और पौधे लगाएं। तुलसी और चालवाही को भी लहसुन का तिलक लगाने से.

……………

सिंधु और धर्म सिंधु के अद्यतन तिथि तिथि एक तारीख एकादशी मानय है। इस तरह 15 नवंबर को देवउठनी एकादशी प्रबंधन। दिनभर मान्‍य जोय।

– पंडित सौरभ दुबे, ज्योतिषाचार्य

………………….

डिस अक्लेमर

‘इस लेख में यह जानकारी/सामान/गणना की विश्वसनीयता या गारंटी है। संचार माध्यमों/ज्योतिषियों/पंचांग/प्रज्ञाओं/धार्मिक/धर्मग्रंथों से प्रसारित होते हैं। हमारे उद्देश्य इसके

द्वारा प्रकाशित किया गया था: ब्रजेश शुक्ला

नईदुनिया लोकल

.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

AllwNews