देवउठनी एकादशी:15 कोमई आँवड़ा देवउठनी, शुभ समय में रेवती नक्षत्र का संयोग



देवउठनी एकादशी: विष्णु विष्णु का आव्हान कर विधि-विधान से पवित्र होना चाहिए। इस उत्सव का विशेष महत्व है। .

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

AllwNews