दैनिक भास्कर ने पुराना वीडियो शेयर कर भीलवाड़ा में पाक समर्थक नारे लगने का झूठा दावा किया


19 मई 2022 को दैनिक भास्कर ने एक रिपोर्ट पब्लिश की जिसकी हेडलाइन है – “भीलवाड़ा में लगे पाकिस्तान के नारे: सांगानेर इलाके में पाकिस्तान नारों का वीडियो आया सामने, सुभाष नगर थाने में मामला दर्ज”. इस रिपोर्ट में सोशल डेमोक्रेटिक पार्टी ऑफ़ इंडिया (SDPI) के सदस्यों की एक राजनीतिक रैली का वीडियो शामिल है. गौर करने वाली बात है कि वीडियो में पुलिस अधिकारी भी दिखते हैं.

भाजपा नेता सागर पांडे ने ये वीडियो शेयर करते हुए दावा किया कि ईद (3 मई) के दिन पाकिस्तान समर्थक नारे लगाए गए थे. सागर पांडे ने जो वीडियो पोस्ट किया उसका ऑडियो इतना धीमा है कि नारे ठीक से सुने नहीं जा सकते. (ट्वीट का आर्काइव लिंक)

दूसरे मीडिया आउटलेट्स ने भी इसी तरह की रिपोर्ट पब्लिश की. इस लिस्ट में ABP लाइव, आप का राजस्थान और भीलवाड़ा हलचल शामिल हैं.

This slideshow requires JavaScript.

12 मई को भीलवाड़ा के बीजेपी विधायक विट्ठल शंकर अवस्थी ने वायरल दावे का हवाला दिया. उन्होंने कहा, ”सांगनेर इलाके में ‘पाकिस्तान ज़िंदाबाद’ के नारे लगाने वालों को गिरफ़्तार क्यों नहीं किया जाता?” उनके बेटे ने फ़ेसबुक पर एक वीडियो अपलोड किया था जिसमें 1 मिनट 20 सेकेंड के आसपास ये बातें सुनी जा सकती है.

ग़लत दावा

दैनिक भास्कर के आर्टिकल में शामिल वीडियो सुनने पर मालूम चलता है कि वहां पाकिस्तान समर्थक नारे नहीं लगाए गए थे. वीडियो में साफ तौर पर ‘SDPI ज़िंदाबाद’ के नारे सुने जा सकते हैं.

राजस्थान के वकील इमरान रंगरेज ने इस बात की ओर ध्यान दिलाया और कहा कि वायरल वीडियो 17 महीने पुराना है. उन्होंने राजस्थान, अजमेर और भीलवाड़ा सहित अलग-अलग पुलिस हैंडल्स को टैग किया.

दैनिक भास्कर की रिपोर्ट में लिखा है कि वायरल वीडियो पुराना है. हालांकि, कोई और संदर्भ नहीं दिया गया है. वीडियो के बारे में अधिक जानने के लिए इमरान रंगरेज ने ऑल्ट न्यूज़ का संपर्क SDPI सदस्य अब्दुल सलाम अंसारी से कराया. बता दें कि अब्दुल सलाम अंसारी ने उस रैली का नेतृत्व किया था.

अब्दुल ने फ़ोन पर हुई बातचीत में ऑल्ट न्यूज़ को बताया, “मैं वायरल वीडियो में नहीं दिख रहा क्योंकि मैं सबसे आगे था और रैली का नेतृत्व कर रहा था.” उन्होंने आगे कहा, “वायरल वीडियो स्थानीय चुनाव के बाद 7 फ़रवरी 2021 का है. ये वीडियो SDPI के नाथूलाल राव के वार्ड 57 में जीतने के बाद की रैली का है. ये दावा बिल्कुल झूठा है कि पाकिस्तान समर्थक नारे लगाए गए थे.” स्थानीय चुनावों पर ज़ी न्यूज़ की एक रिपोर्ट से नाथूलाल राव के जीतने की बात कंफ़र्म होती है.

नीचे अब्दुल सलाम अंसारी का बयान शामिल है.

ऑल्ट न्यूज़ ने काउंसलर नाथूलाल राव से भी बात की. उन्होंने कहा, ‘हमने बड़े अंतर से जीत हासिल की. इसलिए विजय जुलूस निकाला गया था. मैं रैली में मौजूद था, वहां कोई भारत विरोधी नारे नहीं लगाए गए थे.” फ़ेसबुक पेज SDPI भीलवाड़ा ने 7 फ़रवरी को समारोह का एक वीडियो पोस्ट किया था.

ध्यान दें कि SHO पुष्पा कसोटिया और भीलवाड़ा SP कार्यालय ने हमारे सवालों का जवाब नहीं दिया. भीलवाड़ा के डिप्टी SP राम चंद्र चौधरी ने कहा कि फ़ोरेंसिक टीम वीडियो का निरीक्षण कर रही है और जांच में दो महीने तक का समय लग सकता है.

कुल मिलाकर, पाकिस्तान समर्थक नारे लगाए जाने का दावा झूठा है. वीडियो में “SDPI ज़िंदाबाद” के नारे सुनाई देते हैं.

 

डोनेट करें!
सत्ता को आईना दिखाने वाली पत्रकारिता का कॉरपोरेट और राजनीति, दोनों के नियंत्रण से मुक्त होना बुनियादी ज़रूरत है. और ये तभी संभव है जब जनता ऐसी पत्रकारिता का हर मोड़ पर साथ दे. फ़ेक न्यूज़ और ग़लत जानकारियों के खिलाफ़ इस लड़ाई में हमारी मदद करें. नीचे दिए गए बटन पर क्लिक कर ऑल्ट न्यूज़ को डोनेट करें.

बैंक ट्रांसफ़र / चेक / DD के माध्यम से डोनेट करने सम्बंधित जानकारी के लिए यहां क्लिक करें.





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.

AllwNews