नरसिम्हापुर समाचार: जैन समाज ने उपकार दिवस के रूप में जन्मदिवस में 75वांवांसपुर


प्रकाशन तिथि: | गुरु, २१ अक्टूबर २०२१ ०४:०३ पूर्वाह्न (आईएसटी)

नरसिंहपुर/तेंदूखेड़ा/सिहोरा (नई न्यूज न्यूज) ब्लॉग भर में जैन समाज के लोगों ने समाचार विद्यासागर का 75वां जन्मदिवस गुरुवार को उपकार दिवस के रूप में। इस विकल्प पर आधारित हैं। तेंदूखेड़ा के जैन मंदिर में मुनि कुंथुसागर के सानिध्य में प्रोग्राम किए गए हैं। कंपेयर श्री महावीर दिगंबर जैन बाल्स की बाल संस्कृति ने अष्टद्रव्य से पोस्ट की तैल चित्र का टेक्स्ट टेक्स्ट की भावना।

इस तरह के मौसम पर पूर्णिमा ने कहा, जैसे कि पूर्ण धावला का वायु प्रदूषण से धूल किरणो से मिट्टी पर अमृत है और जीव के ह्दयौं प्रफुल्लितत्व वाले और जीव के ह्दयौं प्रफुल्लितितित 10 1946 को कर्नाटक के सदल्गा ग्राम में डेटा को जन्म। सम्पूर्ण विश्व में समान समानता वाला, ज्ञान, चारित्री रूपी धवल अमृती किरणो से संसार में बदल गया है। मुनी ने कहा कि गुरु के उपकार का वर्णन नहीं किया है। मेरे गुरु का सबसे बड़ा कृपाण द्वारा दिगंबर दीक्षा की और मोक्ष मार्ग का पथिक है। जीवन में बदलाव आया है। मुनि ने लिखा है माटी महा महालेखाकार अन्य बाइटो का महत्व। अध्यापीय श्री बिकाऊ कार्य कार्य की जानकारी से दी। इस पर डॉ. शचींद्र मोदी, डॉ. प्रकाश जैन, चौ. प्रदीप कुमार स्वदेश, संजय, पं. कमल कुमार विज्ञान ने भी सोचा। कार्यक्रम का प्रसारण माहीष मोदी ने प्रसारण किया।

सिहोरा के जन्मदिवस पर सकल दिगंबर जैन सोसाइटी सिहोरा और नवयुवक पत्रिका का विस्तृत विवरण तैयार किया गया था। कार्यक्रम मे बड़ी संख्या मे ग्राम के लोगो ने पोस्ट किया।

द्वारा प्रकाशित किया गया था: नई दुनिया न्यूज नेटवर्क

नईदुनिया लोकल

.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

AllwNews