नासिक में ‘द कश्मीर फ़ाइल्स’ की स्क्रीनिंग के दौरान का वीडियो सांप्रदायिक दावे के साथ शेयर


सोशल मीडिया पर एक वीडियो शेयर किया जा रहा है. इसमें एक शख्स लड़कियों को भगवा स्कार्फ़ बांटते हुए दिख रहा है. इसके साथ शेयर किये जा रहे दावे में लिखा है कि महाराष्ट्र के एक ईसाई स्कूल में एक मुस्लिम टीचर ने जबरन लड़कियों को स्कूल में नमाज पढ़वाई थी, मनसेना कार्यकर्ताओं ने उस टीचर को ‘सबक सिखाते हुए’ उसी के हाथ से उन छात्राओं को केसरिया खेस पहनवाया.

कई ट्विटर यूज़र्स ने इसी दावे के साथ ये वीडियो शेयर किया.

ये वीडियो फ़ेसबुक पर भी पोस्ट किया गया था.

 

महाराष्ट्र के ईसाई स्कूल में एक मुस्लिम टीचर ने जबरन लड़कियों को स्कूल में नमाज पढ़वाई थी। फिर राज ठाकरे की मनसेना के कार्यकर्ता ने उसी मुस्लिम के पास से केसरिया खेस पहनवाया🚩🚩🚩जय श्री राम 🚩🚩

Posted by Wake up Indians on Saturday, 9 April 2022

फ़ैक्ट-चेक

इस वीडियो को गौर से देखने पर ये बिल्कुल साफ हो जाता है कि इसे एक मूवी थियेटर में शूट किया गया था. बैकग्राउंड में एक फ़िल्म का पोस्टर और स्नैक्स का स्टॉल देखा जा सकता है.

This slideshow requires JavaScript.

एक साधारण कीवर्ड सर्च करने पर हमने देखा कि वीडियो 23 मार्च को महाराष्ट्र के नासिक के एक मूवी थियेटर में ‘द कश्मीर फ़ाइल्स’ की स्क्रीनिंग के दौरान लिया गया था. उस थिएटर में कुछ महिलाएं भगवा स्कार्फ़ पहनकर गईं थीं, जिसे कथित तौर पर हटाने के लिए कहा गया था. इसे लेकर अधिकारियों और फ़िल्म देखने वालों के बीच हाथापाई हो गई. पुलिस के हस्तक्षेप के बाद ये मामला खत्म हुआ.

वीडियो में काली शर्ट पहने शख्स जो महिलाओं को भगवा स्कार्फ़ लगाने के लिए दे रहा है, इसकी एक तस्वीर ANI ने ली भी थी. तस्वीर में वहां मौजूद एक और व्यक्ति को देखा जा सकता है.

This slideshow requires JavaScript.

कई मीडिया संगठनों ने इस हाथापाई की घटना पर रिपोर्ट पब्लिश की थी.

कुल मिलाकर, एक वीडियो इस झूठे दावे के साथ शेयर किया गया कि ईसाई स्कूल में एक मुस्लिम शिक्षक ने अपनी छात्राओं को नमाज पढ़ने के लिए मज़बूर किया था जिसके बाद मनसेना कार्यकर्ताओं ने शिक्षक को ‘सबक सिखाया’. उसी मुस्लिम शिक्षक से छात्राओं को भगवा स्कार्फ़ पहनवाया. जबकि, वीडियो नासिक के एक थिएटर में ‘द कश्मीर फ़ाइल्स’ की स्क्रीनिंग के दौरान हुई मारपीट के बाद लिया गया था.

डोनेट करें!
सत्ता को आईना दिखाने वाली पत्रकारिता का कॉरपोरेट और राजनीति, दोनों के नियंत्रण से मुक्त होना बुनियादी ज़रूरत है. और ये तभी संभव है जब जनता ऐसी पत्रकारिता का हर मोड़ पर साथ दे. फ़ेक न्यूज़ और ग़लत जानकारियों के खिलाफ़ इस लड़ाई में हमारी मदद करें. नीचे दिए गए बटन पर क्लिक कर ऑल्ट न्यूज़ को डोनेट करें.

बैंक ट्रांसफ़र / चेक / DD के माध्यम से डोनेट करने सम्बंधित जानकारी के लिए यहां क्लिक करें.





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.

AllwNews