बीजापुर समाचार: 15 हजारा और 650 ने संविधान की आपूर्ति की थी


प्रकाशन तिथि: | सूर्य, 28 नवंबर 2021 02:53 पूर्वाह्न (आईएसटी)

बीजापुर। संविधान दिवस पर बीजापुर ब्लाक में 15000 शुक्रवार और 635 ने संविधान की स्थापना की। इस पर राइट्स राइट्स राइट्स राइट्स राइट्स राइट्स राइट्स राइट्स राइट्स राइट्स और भारत रत्न अंबकर के जीवन पर प्रकाश डाला गया। दूत का राज्यपाल अशासकीय 194 गुई में मिला।

कन्या शिक्षा और कस्तूरबा गांधी बालिकापुर में संविधान की रचना और संविधान की रचना में संविधान की रचना की गई थी। पवित्रता से संबंद्ध संविधान में संविधान से संबंधित संविधान से संबंद्ध संविधान में शामिल हैं। बायो मो. जाकिर खान ने इस संविधान के महत्व और डॉ. भीमराव अंबेडकर की जीवनी पर क्रीट मारकर। अंत में सभी .

———–

संविधान की देखभाल

जगदलपुर। शाउमावि जगदलपुर में संविधान की स्थापना की गई। प्रोग्राम में मध्यक्रम के मध्य में मध्यक्रम के कार्यक्रम में शामिल होने के लिए संशोधित किया गया था। प्रोग्राम के मुख्य अतिथि डॉक्टर जेल अधिकारी जेल अधिकारी जैददलपुर कीट। संतोष वैद्य परिविक्षा अधिकारी जगदलपुर… प्राचार्य लाल वर्मा नें की।

कार्यक्रम की शुरुआत भीमराव अम्बेडकर की छवि पर माल्यापर्ण कर लगाया गया। इस लेख में पूरी तरह से विवरण शामिल है। इस संस्था के शिक्षक के बारे में श्रीवास के बारे में अपडेट में अपडेट करेंगे। ️ वरिष्ठ️️️️️️️️️️️️ है है है कार्यक्रम के कार्यक्रम परिवार परिवार की ओर से प्राचार्य श्रीला वर्मा ने मेल किया।

कार्यक्रम का सस्पेंस विक्रम सिंह ठाकुर ने। इस पर ए के त्रिपाठी, तेजपाल सिंह, निरमल कैर, जेंग मीनिंग, सविता सरवन, विनती दास, सीमा कश्यप, गीता सिंह, एकता पूजा देवन, आशा राव, रेहाना सुल्तान, ऋंभोरवानी, सृजन ग्वेल, विक्रम, किशोर नवरंग, बुधराम राजकुमार सावित्री पद्मिनी और परीक्षा के छात्र-छात्राएं सम्मिलित हैं।

————

संविधान की संविधान की जानकारी

भोंड। राज्यपालीय उच्च विद्यालय कुड़कानार में संशोधित कार्यक्रम पर लागू किया गया। सर्वप्रथम डाक्टर भीमराव अंबेडकर के छाया चित्र के समक्ष दीप प्रज्ज्वलित कर पुष्प अर्पित किया। प्रतिष्ठान की प्राचार्य सईदा खान की वाच्य रचना की रचना की गई थी।

प्राचार्य शब्द। प्राचार्य ने भारतीय संविधान के संविधान के अध्यक्ष डॉ भीमराव बनाए। संविधान की रचना में दो साल 11 घंटे लगेंगे। इस पर आधारित स्तर पर सांस्कृतिक, बौद्धिक, शारीरिक, गोष्ठी अद्वितीय प्रतिद्वंदी का उपयोग किया गया। प्रखर प्रतिद्वंदी मोहनबती पहली टीम, और मानसिक प्रतिद्वंदी कबड्डी में इंद्रावती हाऊस से बाल टीम की पहली जगह पर। ग्रेटदी हाऊस से बैकों ने बाई मारी।

सभी में वृध्दि में वृद्धि-चढ़कर भाग। अइसपर हमारे बीच सरपंच कुनार घर राम, सरपंच कवीसना तातीराम श्सरपंच हाइकवाली श्रीमति सुबति कश्यप, सलवा प्रबंधक व विकास परिषद के अध्यक्ष श्री अनिल खान ठाकुर जी। , निरूपण सुकरी आदर्श, दीपा मांझी, आरच देवांगन, व वृष्टि खीर सागर, बजलाल मंडावी, नीलू राम बघेल, सावल राम पात्र, नेहा नेताम, नंदनी आदि आदि।

————-

संविधान की स्थापना की गई और संविधान की स्थापना की गई

नारायणपुर। संविभाग के अलग-अलग सदस्य देशों में अलग-अलग अलग-अलग पदों के लिए अलग-अलग विभाग के सदस्य के रूप में भारतीय संविधान की ओर से संविधान की स्थापना की गई थी। संविधान के संविधान ने संविधान को संविधान में शामिल किया था।

सभी प्रकार के संचारों को संचार में स्थापित किया गया है, जो संचार निर्माण के सपने में संचार करता है। भारत की विविधता के लिए एक मजबूत आधार की बैठक, बाबा साहब डॉ. भीमराव अंबेदकर के नेतृत्व में संतुलन बना रहा। संविधान के निर्माण में गैर-विभूति.

द्वारा प्रकाशित किया गया था: नई दुनिया न्यूज नेटवर्क

नईदुनिया लोकल

.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

AllwNews