राजनांदगांव समाचार: मेलों की पहचान का व्यवहार परिवर्तन


प्रकाशन तिथि: | शुक्र, 26 नवंबर 2021 02:19 पूर्वाह्न (आईएसटी)

राजनांदन(नई न्यूज न्यूज) मिलाने के दिन पर मेलिनों का शाल और श्रीफल अभिमंत्रित किया गया। ट्विट मितालाइनों द्वारा प्रशंसा की जाने वाली। सेवाभाव के प्रमाणिक से पता चलता है कि माइटालाइन सेवा का ही एक है। अलग-अलग लोगों में अलग-अलग नियंत्रण रखने वाले व्यक्ति अलग-अलग होते हैं।

मितालाइन के सम्मान में ये . माइटैन्यू के सम्मान में भी मितालाइन लागू किया गया। इस क्रिया पर कार्य-कलापों की प्रशंसा और श्रेष्ठ कार्य शैली के लिए प्रयास किया गया। एंग्लो के मानपुर में एक क्रमाकुंचन (मिनालाइन) सुमन चौधरी ने कहा कि माइटालाइन समाज का प्रमुख अंग हैं।

किसी भी शहर में रहने या फिर गांव में, स्वस्थ सरोकार के साथ अच्छी तरह से पहचानें। निगरानी में संचार के प्रसारण के प्रसारण के दौरान वे देखते थे। मेल मिलाना (मितालाइन) सुधा देश के नाम से मेल खाने वाली वह सेवाभावी स्त्री है, जो हमारे परिवार के स्वास्थ्य के बारे में पूरी जानकारी है। यह टीके प्रजनन से संबंधित कार्यक्रम के साथ-साथ संक्रमित संक्रमण के रोल में भी खिलाते हैं। इस वजह से मितालाइन के सम्मान में l

विभाग के रूट्स रूट्स: मुख्य चिकित्सक और स्वस्थ्य अधिकारी डॉक्टर मिथिलेश चौधरी के नाम, ग्रामीण मिलान में माइटालाइन रूट्स की श्रेणी में आते हैं। माइटालाइन के निःस्वार्थ से स्वास्थ्य विभाग को सहायता मिलती है। कई देखभाल की स्थिति में देखभाल करने वाले कर्मचारी स्वस्थ रहने के लिए ठीक भी होंगे। मितायू दिन के दिन पर वह निश्चिंतता की अनुभूति कर रहे हैं। मितामान सुनतिति ने कहा, स्वस्थता कार्य करना चाहिए, यह हर किसी को चाहिए। प्रबंधन क्षमता में सफल है। घर में स्वस्थ व्यवहार से व्यवहार करने के लिए बेहतर व्यवहार करता है, बेहतर व्यवहार करने के लिए ऐसा करता है।

द्वारा प्रकाशित किया गया था: नई दुनिया न्यूज नेटवर्क

नईदुनिया लोकल

.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

AllwNews