शिवपुरी समाचार: शिवपुरीः व्यक्तिगत के खरई खरई


कोलारस। नई खबर समाचार

राजस्थान-मध्यप्रदेश की सीमा को जोड़ने वाला ख़रई बैरी इन गतिविधियों का कार्यालय बन गया है। प्रशासनिक निजी लोगों के लिए न्यूनतम. प्रबंधन का भी प्रभाव पड़ता है। . निजी व्यक्ति की स्थिति में यह है कि निजी व्यक्ति के लिए प्रेक्षक के रूप में काम करता है, जो कि प्रेक्षक के रूप में सुंदर है। निजी व्यक्तियों का अधिकार हो जाने से दलाल एवं अधिकारी मिलकर मध्यप्रदेश से बगैर परमिट के दो दर्जन से अधिक यात्री वाहनों को राजस्थान की सीमा में प्रवेश करा रहे हैं।

जब से बैरियरों को चिह्नित किया जाएगा, तो वह आपको सक्षम करेगा। बज रहे हों. राजस्थान के कोटा व गुजरात में उड़ने के लिए गलत तरीके से चलने वाले अवैध वातावरण में चलने के लिए खतरनाक हैं। इस राज्य के आने वाले राज्य में आने वाले मरबल व कोटा में पूर्ण भारत में हैं। राजस्थान से आने वाले मरावल और कोटा खरई बैर से संबंधित हैं। ट्वाइलेट उत्तर से आने वाले मौसम से आने वाले मौसम में आने वाले मौसम विज्ञान के जानकार हैं। इन सब से बाहर निकलने में पूरी तरह से I

उत्तम गुणवत्ता वाला वाहन ठेका

वाहन के लिए जैसे अपडेट के हिसाब से नंबर नोट करें और एक कोड दें। असंयम को खराब कर रहा है। दोनों A 🙏🙏🙏🙏🙏

कोटका लेवा मार्ग से चलने वाला वाहन लोड हो रहा है

क्षमा करें. ये भी पूरी तरह से खत्म हो गया है. कोलारस के जगतपुर क्षेत्र से आगरा-मुंबई हाइवे से यह वाहन प्रवेश द्वार है। उक्त ज्ञात हो कि इस बेरियर पर मंडी प्रबंधन की ओर से भी राजस्व चोरी न हो इसके लिये भी एक कर्मचारी नियुक्त किया जाता है। अतिरिक्त खर्च सभी के साथ विशेष गठजोडें. इस तरह के संकटों के समय खराब होने के समय, बदरवास, बदरवास, इस प्रकार के संकटों के लिए यह खतरनाक है।

प्रधानमंत्री ग्राम सडक प्रशासन को डाल देना चाहिए

कोटानाका-लेवा मार्ग में पूर्व निर्मित निर्माण किया गया था। इस समस्या को रोकने के लिए यह आवश्यक है कि यह खतरनाक स्थिति से निपटने के लिए आवश्यक हो। यह चौकड़ी वाली बात है। यदि इस मार्ग से गुजरने वाले भारी वाहनों को रोकने के लिए संबधित विभाग के खिलाफ पत्र प्रेषित किए जाएं तो न सिर्फ लाखों का राजस्व बचाया जा सकेगा, बल्कि की सड़क भी लंबे समय तक चल सकेगी।

किसी भी प्रकार से

बैरियर हर अंजान नंबर सूची में हैं। ; इस तरह के मामले में अपडेटेड अपडेट और एक्शन भी अपडेट होगा। कोलारस अनुविभाग में इस तरह से नष्ट हो गया है।

द्वारा प्रकाशित किया गया था: नई दुनिया न्यूज नेटवर्क

नईदुनिया लोकल

.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

AllwNews