सुकमा समाचार: सुकमा में सात परिवार संकलन:


प्रकाशन तिथि: | बुध, 01 दिसंबर 2021 02:50 पूर्वाह्न (आईएसटी)

सुकमा। ️ गरीबों️️️️️️️️️️️ इस तरह मनर्ग योजना का उत्पादन होने वाला है। छत्तीसगढ़ में खराब हाल है। यहां लोगों को रोजगार नही मिल रहा है, जिनको रोजगार मिल रहा है। बार-बार बार-बार संपर्क करने की स्थिति, हर दिन का भुगतान नियमित है। ️ बाकी ये अच्छी बात है, कभी भी प्रचार करें और संवर्धन करें। उक्त

आपात स्थिति में स्वास्थ्य देखभाल बैठक घर में महिला वार्ता के दौरान बातचीत हुई। छत्तीसगढ़ में योजना का बुरा हाल है. सुकमा कार्य में टीम मनरेगा को का अवलोकन और सरपंच के साथ मिलकर बैठक की। मोबाइल पता चलता है कि यह बदला हुआ है, जैसा कि हर व्यक्ति के बदले में होता है, अगर हर किसी को ऐसा करना पड़ता है, तो वैक या 15 दिन में ऐसा ही होना चाहिए।

ऐसा नहीं हो रहा साथ ही बेरोजगार भत्ता भी नही दिया जा रहा, सरकारी आंकड़ों के मुताबिक इस साल सिर्फ सात फीसदी परिवार को रोजगार मिला है। ️ इसके️ थे. 15 दिन से अधिक समय तक चालू नहीं होना।

रिवार्ड के हिसाब से हिसाब किताब

टाइम्स हाल केंद्र सरकार का भी है। रिटायंट के साथ मिलकर प्रांत में 20 चार्ज किया जाता है। ठीक ठीक ठीक ठीक वैसे ही ठीक वैसे ही, जो कि सरकार की कमी है। सामाजिक व्यवस्था में बदलाव आने के कारण। इस तरह के रामा सोढ़ी, आराधना मरकाम, मंजू काधीर, आरती कलमू, विजय, अनुज, ज्ञानी, हिमेशा कुण्गोम उपलब्ध।

द्वारा प्रकाशित किया गया था: नई दुनिया न्यूज नेटवर्क

नईदुनिया लोकल

.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

AllwNews