फ़ैक्ट-चेक : अमित शाह ने उत्तराखंड के CM को खत लिखकर नूपुर शर्मा की तारीफ़ की?


निलंबित भाजपा प्रवक्ता नूपुर शर्मा ने लाइव चल रहे एक टीवी न्यूज़ पर अपमानजनक बयान दिया था. उनके बयान पर चल रहे विवादों के बीच, सोशल मीडिया पर गृह मंत्री अमित शाह का उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी को लिखा एक कथित लेटर वायरल है.

लेटर में लिखा है कि अमित शाह ने RSS की विचारधारा को बढ़ावा देने के लिए नूपुर शर्मा की प्रशंसा करते हुए उन्हें एक “आइकॉन” कहा. साथ ही CM से नुपुर शर्मा और उनके पैतृक घर को “तत्काल” सुरक्षा प्रदान करने का आग्रह भी किया.

लेटर के अनुसार, “… मैं राज्य में कानून व्यवस्था बनाए रखने के आपके प्रयास की प्रशंसा करता हूं और श्री अजय गुप्ता को ज़ेड सुरक्षा प्रदान करने में आपकी इच्छा भी सराहनीय है. वर्तमान हालात में, मैं आपको देहरादून में श्रीमती नूपुर शर्मा के परिवार के लिए उभरते खतरों का गंभीर मूल्यांकन करने और तत्काल ज़ेड सुरक्षा प्रदान करने की सलाह देता हूं. मुझे विश्वास है कि आप इस काम को अच्छी तरह और कुशलता से निष्पादित करेंगे. श्री अजय गुप्ता और श्रीमती नूपुर शर्मा दोनों राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की विचारधारा को बढ़ावा देने के लिए आईकॉन हैं जिससे हमें हिंदू राष्ट्र के लक्ष्य को पूरा करने में प्रेरणा मिलेगी. मुझे आशा है कि आप इस काम की संवेदनशीलता को समझेंगे और अपना प्रमुख महत्व देंगे. आपको और आपकी टीम को मेरी शुभकामनाएं. [sic]”

इस लेटर को अब्दुल्ला मदुमूल और कांग्रेस नेता नगमा मोरारजी ने ट्वीट किया है. लेकिन बाद में उन्होंने ट्वीट्स डिलीट कर दिए.

ऑल्ट न्यूज़ के मोबाइल ऐप और व्हाट्सऐप हेल्पलाइन नंबर (+91 7600011160) पर इस लेटर की सच्चाई जानने के लिए कई रिक्वेस्ट आयी हैं.

This slideshow requires JavaScript.

फ़ैक्ट-चेक

की-वर्ड्स सर्च करने पर ऑल्ट न्यूज़ को जून 2021 का PIB फ़ैक्ट चेक का ट्वीट मिला. इसमें गृह मंत्री अमित शाह का बताकर शेयर किये गए इस वायरल लेटर को फ़र्ज़ी बताया गया है. वायरल लेटर और इस लेटर में काफी समानताएं हैं और इसमें भी अमित शाह कथित तौर पर नूपुर शर्मा की प्रशंसा कर रहे हैं.

दोनों लेटर की तुलना करने पर ऑल्ट न्यूज़ ने कुछ गलतियां नोटिस कीं:

  • दोनों लेटर में एक ही HMP नंबर 28647021 है.
  • दोनों लेटर की आईडेन्टिकल शैडो एक जैसी है. नीचे दी गई तस्वीर में मार्क [1] पर ध्यान दें.

2022 में शेयर किए गए लेटर में अलग-अलग व्याकरण की गलतियां भी हैं जो कि आम तौर पर ऑफ़िशियल कम्युनिकेशन में नहीं होती है. इसके अलावा, जून 2021 में वायरल हुआ लेटर फ़र्जी निकला और भारत सरकार की नोडल एजेंसी PIB ने उसे खारिज भी किया गया था.

उत्तराखंड यूनिट के एक विशेष कार्यबल (STF) ने इस मामले में अज्ञात व्यक्तियों के खिलाफ़ IPC और IT अधिनियम की कई धाराओं के तहत FIR दर्ज की है.

कुल मिलाकर, सोशल मीडिया पर गृह मंत्री अमित शाह के नाम से एक फ़र्जी लेटर वायरल है. लेटर में अमित शाह के हवाले से निलंबित भाजपा प्रवक्ता नुपुर शर्मा की तारीफ़ की गई है.

डोनेट करें!
सत्ता को आईना दिखाने वाली पत्रकारिता का कॉरपोरेट और राजनीति, दोनों के नियंत्रण से मुक्त होना बुनियादी ज़रूरत है. और ये तभी संभव है जब जनता ऐसी पत्रकारिता का हर मोड़ पर साथ दे. फ़ेक न्यूज़ और ग़लत जानकारियों के खिलाफ़ इस लड़ाई में हमारी मदद करें. नीचे दिए गए बटन पर क्लिक कर ऑल्ट न्यूज़ को डोनेट करें.

बैंक ट्रांसफ़र / चेक / DD के माध्यम से डोनेट करने सम्बंधित जानकारी के लिए यहां क्लिक करें.





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.

AllwNews