44 Women Were Stopped At Rajiv Gandhi International Airport Traveling To Kuwait, They Were Found To Be Having Dual Visas – हैदराबाद: राजीव गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर 44 महिलाओं को रोका गया, सभी के पास से नकली वीजा बरामद


एएनआई, हैदराबाद
Published by: सुभाष कुमार
Updated Wed, 08 Dec 2021 04:46 AM IST

सार

शुरुआती जांच में यह बात सामने आई है कि एजेंट ने महिलाओं के लिए दो वीजा तैयार किए थे। एक वीजा इमिग्रेशन अधिकारियों को दिखाना था और दूसरा नौकरी का वीजा कुवैत में अधिकारियों को दिखाना था।

ये सभी महिलाएं कुवैत जा रही थी।
– फोटो : ANI

ख़बर सुनें

हैदराबाद में राजीव गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर मंगलवार को इमिग्रेशन अधिकारियों द्वारा 44 महिलाओं को रोक दिया गया। ये सभी महिलाएं तेलंगाना और आंध्र प्रदेश से थी और कुवैत जा रही थी। इन सभी के पास से नकली वीजा और दस्तावेज थे। पुलिस सूत्रों के अनुसार इन सभी महिलाओं को मुंबई के एक एजेंट ने कुवैत में नौकरी दिलाने का वादा किया था। एजेंट ने इन सभी महिलाओं से पैसे लेकर आंध्र प्रदेश के स्थानीय एजेंटो के साथ मिलकर नकली वीजा और दस्तावेज तैयार किए थे। 

शुरुआती जांच में यह बात सामने आई है कि एजेंट ने महिलाओं के लिए दो वीजा तैयार किए थे। एक वीजा इमिग्रेशन अधिकारियों को दिखाना था और दूसरा नौकरी का वीजा कुवैत में अधिकारियों को दिखाना था। एजेंट ने इसके बाद सभी महिलाओं के लिए राजीव गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे से टिकट भी बुक करवाए थे। 

हवाई अड्डे पर अधिकारियों ने दस्तावेजों को नकली पाया और तुरंत ही केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (सीआईएसएफ) को सूचित किया। सभी महिलाओं को हिरासत में लेकर राजीव गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर पुलिस को सौंप दिया गया। पुलिस ने मामले की जांच करने के बाद पाया कि ये सभी महिलाएं पीड़ित हैं और उन्हें जाने दिया। इस धोखाधड़ी के मामले की आगे की जांच की जा रही है।

 

विस्तार

हैदराबाद में राजीव गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर मंगलवार को इमिग्रेशन अधिकारियों द्वारा 44 महिलाओं को रोक दिया गया। ये सभी महिलाएं तेलंगाना और आंध्र प्रदेश से थी और कुवैत जा रही थी। इन सभी के पास से नकली वीजा और दस्तावेज थे। पुलिस सूत्रों के अनुसार इन सभी महिलाओं को मुंबई के एक एजेंट ने कुवैत में नौकरी दिलाने का वादा किया था। एजेंट ने इन सभी महिलाओं से पैसे लेकर आंध्र प्रदेश के स्थानीय एजेंटो के साथ मिलकर नकली वीजा और दस्तावेज तैयार किए थे। 

शुरुआती जांच में यह बात सामने आई है कि एजेंट ने महिलाओं के लिए दो वीजा तैयार किए थे। एक वीजा इमिग्रेशन अधिकारियों को दिखाना था और दूसरा नौकरी का वीजा कुवैत में अधिकारियों को दिखाना था। एजेंट ने इसके बाद सभी महिलाओं के लिए राजीव गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे से टिकट भी बुक करवाए थे। 

हवाई अड्डे पर अधिकारियों ने दस्तावेजों को नकली पाया और तुरंत ही केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (सीआईएसएफ) को सूचित किया। सभी महिलाओं को हिरासत में लेकर राजीव गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर पुलिस को सौंप दिया गया। पुलिस ने मामले की जांच करने के बाद पाया कि ये सभी महिलाएं पीड़ित हैं और उन्हें जाने दिया। इस धोखाधड़ी के मामले की आगे की जांच की जा रही है।

 



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *