Aaj Ka Shabd Pipasa Jaishankar Prasad Best Poem Tera Prem Halahal Pyare – आज का शब्द: पिपासा और जयशंकर प्रसाद की कविता- तेरा प्रेम हलाहल प्यारे


                
                                                             
                            अमर उजाला 'हिंदी हैं हम' शब्द श्रृंखला में आज का शब्द है- पिपासा, जिसका अर्थ है- जल पीने की इच्छा या प्यास, कुछ जानने की इच्छा। प्रस्तुत है जयशंकर प्रसाद की कविता- तेरा प्रेम हलाहल प्यारे
                                                                     
                            

तेरा प्रेम हलाहल प्यारे, अब तो सुख से पीते हैं। 
विरह सुधा से बचे हुए हैं, मरने को हम जीते हैं॥ 

दौड़-दौड़ कर थका हुआ है, पड़ कर प्रेम-पिपासा में। 
हृदय ख़ूब ही भटक चुका है, मृग-मरीचिका आशा में॥ 

आगे पढ़ें

13 minutes ago

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

AllwNews