Admission Started For Third Cut Off List In Du Speed Of Admission Is Not Stopping Due To High Cut Off – डीयू: तीसरी कट ऑफ लिस्ट के दाखिले शुरू, हाई कट ऑफ से नहीं रुक रही दाखिले की रफ्तार


न्यूज डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली
Published by: Vikas Kumar
Updated Tue, 19 Oct 2021 02:28 AM IST

सार

बीएमएस व बीबीई के रिजल्ट आने पर बीकॉम व ईकोनॉमिक्स ऑनर्स की सीटें खाली होंगी। सीटों से अधिक दाखिले से बचने के लिए कॉलेज सतर्कता बरत रहे हैं। 

ख़बर सुनें

दिल्ली विश्वविद्यालय में तीसरी कट ऑफ के हाई रहने के बावजूद दाखिले की रफ्तार नहीं रुक रही है। सोमवार को तीसरी कट ऑफ के दाखिले शुरू होने के साथ ही कॉलेजों में काफी दाखिले हुए, वहीं कई कॉलेजों में दाखिले रद्द भी कराए गए। सीटों से अधिक दाखिलों से बचने के लिए कॉलेजों ने सतर्कता बरतते हुए कट ऑफ में 0.25 फीसदी से लेकर दो फीसदी तक की गिरावट की है। बावजूद कॉलेजों में औसतन 100 से अधिक दाखिले हुए। 

चौथी कट ऑफ में दाखिले के गिने-चुने अवसर ही मिलेंगे। कॉलेज प्रिंसिपल मानकर चल रहे हैं कि बैचलर ऑफ मैनेजमेंट स्टडी (बीएमएस) व बैचलर ऑफ बिजनेस ईकोनॉमिक्स कोर्सेज के लिए आयोजित हुई प्रवेश परीक्षा के रिजल्ट आने के बाद बीकॉम व ईकोनॉमिक्स जैसे कोर्सेज की सीटें कुछ कॉलेजों में खाली होंगी। 

आर्यभट्ट कॉलेज में तीसरी कट ऑफ के दाखिले शुरू होते ही विभिन्न कोर्सेज के लिए 145 आवेदन किए गए। इसमें से कॉलेज ने 102 दाखिलों को मंजूर किया। हालांकि तीसरी कट ऑफ कॉलेज में अभी दाखिला रद नहीं कराया गया। कॉलेज के दाखिला संयोजक राजेश कुमार द्विवेदी ने बताया कि सोमवार को सबसे ज्यादा दाखिले गणित ऑनर्स में 31, कंप्यूटर साइंस में 22, हिंदी ऑनर्स में 20 व अन्य कोर्सेज में पांच से 12 तक दाखिले हुए। 

उन्होंने कहा कि तीसरी कट ऑफ में पहले ईकोलनॉमिक्स ऑनर्स में दाखिले रद्द कराने का ट्रेंड देखा गया है। लेकिन इस बार कोई रिस्क नहीं लेना चाह रहा है। वह कहते हैं कि बीएमएस, बीबीई का रिजल्ट निकलने पर ईकोनॉमिक्स व बीकॉम में सीटें खाली होने की संभावना है। श्री अरबिदो कॉलेज के प्रिंसिपल डॉ. विपिन अग्रवाल कहते हैं कि उनके यहां दाखिले के लिए 400 आवेदन किए गए। हमने 100 दाखिले मंजूर किए। जबकि 90 दाखिले रद्द कराए गए। उन्होंने कहा कि बीकॉम पास में हमारे पास सीटों से अधिक दाखिले हुए हैं। बावजूद हमने कुछ कमी कर इस कोर्स की तीसरी लिस्ट निकाली है। क्योंकि अभी जो दाखिले रद्द हुए हैं वह बीकॉम में सबसे ज्यादा हैं। वहीं जब बीएमएस व बीबीई के रिजल्ट आऐंगे तब भी दाखिले रद्द होंगे। ऐसे में कॉलेज ने इस बात को ध्यान में रखते हुए ही इस कोर्स की तीसरी कट ऑफ निकाली। 

विस्तार

दिल्ली विश्वविद्यालय में तीसरी कट ऑफ के हाई रहने के बावजूद दाखिले की रफ्तार नहीं रुक रही है। सोमवार को तीसरी कट ऑफ के दाखिले शुरू होने के साथ ही कॉलेजों में काफी दाखिले हुए, वहीं कई कॉलेजों में दाखिले रद्द भी कराए गए। सीटों से अधिक दाखिलों से बचने के लिए कॉलेजों ने सतर्कता बरतते हुए कट ऑफ में 0.25 फीसदी से लेकर दो फीसदी तक की गिरावट की है। बावजूद कॉलेजों में औसतन 100 से अधिक दाखिले हुए। 

चौथी कट ऑफ में दाखिले के गिने-चुने अवसर ही मिलेंगे। कॉलेज प्रिंसिपल मानकर चल रहे हैं कि बैचलर ऑफ मैनेजमेंट स्टडी (बीएमएस) व बैचलर ऑफ बिजनेस ईकोनॉमिक्स कोर्सेज के लिए आयोजित हुई प्रवेश परीक्षा के रिजल्ट आने के बाद बीकॉम व ईकोनॉमिक्स जैसे कोर्सेज की सीटें कुछ कॉलेजों में खाली होंगी। 

आर्यभट्ट कॉलेज में तीसरी कट ऑफ के दाखिले शुरू होते ही विभिन्न कोर्सेज के लिए 145 आवेदन किए गए। इसमें से कॉलेज ने 102 दाखिलों को मंजूर किया। हालांकि तीसरी कट ऑफ कॉलेज में अभी दाखिला रद नहीं कराया गया। कॉलेज के दाखिला संयोजक राजेश कुमार द्विवेदी ने बताया कि सोमवार को सबसे ज्यादा दाखिले गणित ऑनर्स में 31, कंप्यूटर साइंस में 22, हिंदी ऑनर्स में 20 व अन्य कोर्सेज में पांच से 12 तक दाखिले हुए। 

उन्होंने कहा कि तीसरी कट ऑफ में पहले ईकोलनॉमिक्स ऑनर्स में दाखिले रद्द कराने का ट्रेंड देखा गया है। लेकिन इस बार कोई रिस्क नहीं लेना चाह रहा है। वह कहते हैं कि बीएमएस, बीबीई का रिजल्ट निकलने पर ईकोनॉमिक्स व बीकॉम में सीटें खाली होने की संभावना है। श्री अरबिदो कॉलेज के प्रिंसिपल डॉ. विपिन अग्रवाल कहते हैं कि उनके यहां दाखिले के लिए 400 आवेदन किए गए। हमने 100 दाखिले मंजूर किए। जबकि 90 दाखिले रद्द कराए गए। उन्होंने कहा कि बीकॉम पास में हमारे पास सीटों से अधिक दाखिले हुए हैं। बावजूद हमने कुछ कमी कर इस कोर्स की तीसरी लिस्ट निकाली है। क्योंकि अभी जो दाखिले रद्द हुए हैं वह बीकॉम में सबसे ज्यादा हैं। वहीं जब बीएमएस व बीबीई के रिजल्ट आऐंगे तब भी दाखिले रद्द होंगे। ऐसे में कॉलेज ने इस बात को ध्यान में रखते हुए ही इस कोर्स की तीसरी कट ऑफ निकाली। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *