अनंत चतुर्दशी 2021 गणेश विसर्जन अगले साल शुरू हो जाएगा वादा, बप्पा अपने धाम जाएंगे


प्रकाशन तिथि: | शनि, 18 सितंबर 2021 03:26 अपराह्न (आईएसटी)

अनंत चतुर्दशी 2021: विश्व, नया विश्व दूत। डेल ग्यारस के साथ शुरू हुआ गणेश विसर्जन का पवित्र पर्व। लेग धूमधाम से गणेश की स्थापना के लिए स्थूल। भगवान विष्णु भगवान विष्णु भगवान विष्णु भगवान विष्णु भगवान विष्णु भगवान विष्णु भगवान विष्णु भगवान विष्णु भगवान विष्णु भगवान विष्णु भगवान विष्णु ️ इसके️️️️️️️️️️️️️️️️️ गणेश की शिलशिला शुरू करने के लिए हेते में ही लगाया गया है। इसके साथ ही यह गेम खेल हैं.

ज्यातिषाचार्य सतीश सोनी के हिसाब से भाद्रपद मास की शुक्लुओं को चौथ चौदस मेनेई. इस दिन गणेश का गणेशोत्सव होगा। मंगल ग्रह मंगल, बुध, और सूर्य एक कन्या राशि होने से मंगल बुध आदित्य योग का निर्माण हो रहा है। गणेश का विष्णु भगवान विष्णु की पूजा का महत्व अधिक है। इस अस्तित्‍व विष्णु जी कोविन्गेशन या रेंडम से उत्पन्न 14 दैत्याकार दैवीय दैवीय दैवत्व का विधान है।

कायन हैं सुप्रभात: अनंत चतुर्दशी ऐसी मान्यता है कि अनंत चतुर्दशी के दिन ही भगवान विष्णु ने सृष्टि की रचना की थी। सिस्टम निर्माण की स्थापना में 14 लोकों का निर्माण था। कम तल ,अतल, विटाल, सुतल, तातकताल, रसातल, पाताल, भू, भूतल, स्व ,सत्य, महिल शामिल हैं। इन लोकों का पालन-पोषण और रक्षा करने के लिए विष्णु स्वयं 14 रूप में प्रगट होंगे। अनंत चतुर्दशी का विष्णु विष्णु को प्रसन्न करने के लिए .

संचार के बीच बप्पा को गलत सूचना, प्रसारण: डॉल ग्यारस पर तैनात श्रीगणेश का संचार. श्रद्धालुओं ने सागरताल जाकर विघ्नहर्ता की प्रतिमाओं का श्रद्धाभाव के साथ विसर्जन किया, हालांकि बहुत ही कम प्रतिमाओं का विसर्जन किया गया है। के बीच के बीच में विघ्नहर्ता का विसर्जन करने के लिए।

द्वारा प्रकाशित किया गया था: विकास पांडेय

नईदुनिया लोकल

.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *