टाटा और स्पाइस जेट ने एयर इंडिया को खरीदने के लिए बोली लगाई क्योंकि सरकार 100 प्रतिशत विनिवेश की योजना बना रही है


एयर इंडिया के लिए बोली लगाना भारत में दिलचस्प है। बुधवार को बोली लगाने के आखिरी दिन टाटा ने अपनी बोली लगाई। ट्वीलेट जेज़ के लिए यह बहुत अच्छा है क्योंकि अजय ने ऐसा किया है। ‘ एयर इंडिया की एयर इंडिया की 100 प्रतिशत एयर इंडिया एयर इंडिया प्राइवेट लिमिटेड में 50 प्रतिशत शामिल हैं। एयर इंडिया पर कुल 43 हजार करोड़ रुपये का कर्ज है, और यह पूरा है। ️ टाटा️ टाटा️ टाटा️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️ नया निगम

अंतिम प्रक्रिया में प्रक्रिया

हंहएट, ग्रेटर भरकम ऋण के दबी सरकारी कंपनी एयर इंडिया (एयर इंडिया) को अंतिम चरण में प्राप्त हुआ है। सरकार ने 2018 में एयर इंडिया (एयर इंडिया) में अपनी पसंद के हिसाब से अपडेट किया था। बाद में पूरी तरह से लॉन्च होने के बाद, एयर इंडिया पर 43 हजार करोड़ रुपये का कर्ज होगा। मूवी से 22 हजार भारतीय एयर इंडिया ए.आई.ए.टी.

एयर इंडिया का संकेत कैसा होगा?

केंद्र सरकार ने एयर इंडिया और सहायक एयर इंडिया की 100 खोज की जांच की। एयर इंडिया एयरपोर्ट एयरपोर्ट प्राइवेट लिमिटेड में भी 50 विन्ग्न की है। एयर इंडिया में एयर एयर एयर इंडिया में एयर एयर एयर इंडिया की भी बिक्री होगी। सरकार ने लोकसभा में एक प्रश्न का उत्तर दिया था कि अगर एयर इंडिया का निजीकरण किया गया तो उसका निर्माण किया गया। वाइट, एयर इंडिया के कार्मिकों का प्रभाव नकारात्मक हैं।

टाटा एयर इंडिया के साथ कनेक्शन

उद्योगअर इंडिया की स्थापना की। . शुरूआत व्यवहार करने के लिए कनेक्ट करें। साल 1933 से स्वतंत्रता के बाद 1953 में खराब हो गया और नाम ‘एयर इंडिया’ रख दिया गया।

द्वारा प्रकाशित किया गया था: शैलेंद्र कुमार

.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *