राधा अष्टमी 2021 सनातन धर्म मंदिर में उड़े भक्ति के रंग, निकाली पालकी यात्रा


प्रकाशन तिथि: | बुध, 15 सितंबर 2021 03:02 अपराह्न (आईएसटी)

राधा अष्टमी 2021: नया विश्व दूत। आगे-आगे राधा और-पीछे चक्रधर। जुबां पर राधे-राधे रटा करो, कृष्ण नाम रस पिया करो…। नजारा था सनातन धर्म मंदिर का, आखिरी तारीख को सांझ ढलते ही राधा अष्टमी पर रंग के बाहर। इस रंग में उपलब्ध सभी भक्त डाये होते हैं। इस दिन से शुरू होकर कार्यक्रम शुरू हो जाएगा। पालना पालन पालने के लिए। बाद में राधा जी का पूर्वानुमान लगा। तत्पश्चात ट्रेडिशनल दधिकांडा उत्सव, मंगलुख्य पेसर पं। शाम के समय राधा जी के डॉल की आयोजन शोभायात्रा जारी है। मंडली मान महेश निखरा, पंडित रमाकांत ने डॉल को मंत्रोच्चारण के बीच में। डबल-विपेयर के लिए डॉल ने डॉल को कंधा कहा। सभी भक्त ढोल ताशे की धुन पर नाचते गाते चलने वाले थे। शोभा का संचार श्री चक्रधर हाल में हुआ। पं. रमाकांत, मंडल अध्यक्ष कैलास मित्तल, प्राइमेड भगवान नीखरा आदि राधाजी की आरती लाइटी। मुख्य पेसर ने राई नो से लाडली राधाजी की आंख भी हल्की। अंधभक्ता को प्रसादी.

बुढ़वा मंगल पर 51 हजार बार चौपाई का पाठः बुवा मंगल पर संकट मोचन (बालाजी) . इसके ️ सुबह️ सुबह️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️ करने के बाद बालाजी का ईश्वर दास ने बालाजी का दूत, किश्किंधा कांड की चौपाई का 51 हजार बार पाठ किया। शेम को प्रभु बालाजी सरकार को मालपूआ और खीर का भोजन मिला। भाद्रपद के लिए खराब मौसम.

द्वारा प्रकाशित किया गया था: विकास पांडेय

नईदुनिया लोकल

.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *