Surya Grahan 2022: शनैश्चरी अमावस्या पर लगेगा खंडग्रास सूर्यग्रहण, भारत में दिखाई नहीं देगा | surya grahan or Solar Eclipse 2022 Won’t be visible in India know more details


Astrology

lekhaka-Gajendra sharma

|


नई
दिल्ली,
18
अप्रैल।

वैशाख
अमावस्या
30
अप्रैल
2022
को
शनिवार
होने
से
शनैश्चरी
अमावस्या
का
संयोग
बना
है।
इसके
साथ
ही
इस
दिन
खंडग्रास
सूर्यग्रहण
भी
पड़ने
वाला
है।
हालांकियह
सूर्यग्रहण
भारत
में
दिखाई
नहीं
देगा।
इसलिए
इसके
सूतक
आदि
कर्म
भी
मान्य
नहीं
होंगे।
शास्त्रों
में
स्पष्ट
वर्णित
है
किजो
ग्रहण
दृश्य
नहीं
होता
उसका
सूतक
आदि
नहीं
माना
जाता
है।
लेकिन
इस
दिन
शनैश्चरी
अमावस्या
होने
से
यह
दिन
दान-पुण्य,
जप-तप
के
लिए
विशेष
महत्व
रखता
है।

surya grahan or Solar Eclipse 2022 Wont be visible in India know more details


खंडग्रास
सूर्यग्रहण
का
समय

वैशाख
अमावस्या
की
रात्रि
अर्थात्
30
अप्रैल-
1
मई
की
मध्य
रात्रि
में
खंडग्रास
सूर्यग्रहण
रात्रि
12.15
बजे
प्रारंभ
होगा
जो
प्रात:
4.28
बजे
तक
रहेगा।
कुल
4
घंटे
13
मिनट
ग्रहण
की
अवधि
रहेगी।
यह
वर्ष
2022
और
नव
संवत्सर
2079
का
पहला
ग्रहण
होगा
जो
दिखाई
नहीं
देगा।

surya grahan or Solar Eclipse 2022 Wont be visible in India know more details


शनैश्चरी
अमावस्या

अमावस्या
29
अप्रैल
को
रात्रि
में
12.57
बजे
से
प्रारंभ
होकर
30
अप्रैल
को
मध्यरात्रि
में
1.56
बजे
तक
रहेगी।
इसलिए
अमावस्या
का
पुण्यकाल
30
अप्रैल
को
पूरे
दिन
रहेगा।
इस
दिन
शनैश्चरी
अमावस्या
होने
से
शनिदेव
की
प्रसन्नता
के
लिए
विशेष
शुभ
अवसर
रहेगा।
शनि
मंदिरों
में
तेल-तिल
का
दान
करें।
शनि
स्तोत्र,
स्तवराज
आदि
का
पाठ
करें।
पवित्र
नदियों
में
स्नान,
जप-तप
करें।


यह
भी
पढ़ें:

शनि-मंगल
की
19
दिन
युति,
बढ़ेगी
भीषण
गर्मी,
फैलेगा
उन्माद

English summary

chandra grahan or lunar eclipse 2022 Won’t be visible in India know more details

Leave a Reply

Your email address will not be published.