Blackmailing Threatening To Implicate Registering A Case Of Gang Rape Demanding Rs 10 Lakh Chhattisgarh Couple Arrested – ब्लैकमेलिंग: सामूहिक दुष्कर्म का मामला दर्ज करा फंसाने की धमकी देकर मांगे 10 लाख रुपये, छत्तीसगढ़ से दंपती गिरफ्तार


सार

पीड़ित युवक की शिकायत पर पुलिस ने दंपती को पकड़ने की योजना बनाई। भादरा के होटल में सात लाख रुपये (डमी नोट) लेते दोनों को पकड़ लिया गया। गिरफ्तार अनिल कुमार गुप्ता (35) और उसकी पत्नी बिंदु गुप्ता (34) से पुलिस पूछताछ कर रही है। दोनों आरोपी गांव डाबड़ी निवासी रोहताश कुमार व उसके परिवार को फंसाने की धमकी देकर 10 लाख रुपये ऐंठने के प्रयास में थे।

प्रतीकात्मक तस्वीर
– फोटो : सोशल मीडिया

ख़बर सुनें

राजस्थान के हनुमागढ़ से हनीट्रैप का एक मामला सामने आया है। हनुमानगढ़ की भिरानी पुलिस ने इस मामले में छत्तीसगढ़ के एक दंपती को मंगलवार शाम गिरफ्तार किया है। आरोपी शादी की आड़ में दुष्कर्म का आरोप लगाकर ब्लैकमेल कर पैसे की मांग कर रहे थे।

पीड़ित युवक की शिकायत पर पुलिस ने दंपती को पकड़ने की योजना बनाई। भादरा के होटल में सात लाख रुपये (डमी नोट) लेते दोनों को पकड़ लिया गया। गिरफ्तार अनिल कुमार गुप्ता (35), पुत्र नर्मदा प्रसाद गुप्ता और उसकी पत्नी बिंदु गुप्ता (34) से पुलिस पूछताछ कर रही है। दोनों आरोपी गांव डाबड़ी निवासी रोहताश कुमार व उसके परिवार को फंसाने की धमकी देकर 10 लाख रुपये ऐंठने के प्रयास में थे। दंपती छत्तीसगढ़ के जांजगीर चांपा के वार्ड-18 का रहने वाला है।
 

शादी के बहाने बेचा
जानकारी के अनुसार, बिन्दु गुप्ता को पति अनिल कुमार गुप्ता ने शादी के बहाने बेच दिया था। उसकी शादी रोहताश के भाई नरेश कुमार से करवा दी। इसके बाद अनिल कुमार गुप्ता ने जांजगीर चांपा छत्तीसगढ़ के थाना शक्ति में पत्नी बिंदु गुप्ता की गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज करवा दी। सात अगस्त को अनिल कुमार गुप्ता छत्तीसगढ़ पुलिस के साथ डाबडी पहुंचा। तब बिन्दु गुप्ता ने पुलिस से अपने पति अनिल के साथ जाने की बात कही। इन लोगों ने छत्तीसगढ़ पहुंचने के बाद अपना खेल शुरू किया।
 

सामूहिक दुष्कर्म का मुकदमा दर्ज कराया
रोहताश व उसके भाई नरेश कुमार के पास बिन्दु गुप्ता व उसके पति अनिल कुमार ने अलग-अलग मोबाइल नंबरों से कॉल करके 10 लाख रुपये की मांग की। ऐसा नहीं करने पर दुष्कर्म का मुकदमा दर्ज करवाने की धमकी दी। इसके बाद 18 सितंबर को बिन्दु गुप्ता व उसके पति अनिल कुमार गुप्ता ने रोहताश कुमार, उसकी पत्नी रेणुका व भाई नरेश कुमार पर सामूहिक दुष्कर्म कर मारपीट करने का आरोप लगाते हुए मुकदमा दर्ज करवा दिया। इसके बाद भी मुकदमा निपटाने के लिए 10 लाख रुपये की मांग करता रहा।
 

20 सितंबर को पीड़ित रोहताश कुमार भिरानी पुलिस के पास पहुंचा। रिपोर्ट में बताया कि उसके भाई नरेश कुमार व उसके परिवार को दुष्कर्म के झूठे मुकदमे में फंसाने का प्रयास किया जा रहा है। छत्तीसगढ़ में दर्ज हुए मामले को निपटाने के एवज में 10 लाख रुपये की मांग की जा रही है। रोहताश कुमार ने रिपोर्ट में यह भी बताया कि दुष्कर्म के मामले में फंसाकर ब्लैकमेल करने वाली युवती कोई और नहीं बल्कि उसके भाई की पत्नी बिंदु गुप्ता ही है।
 

डमी नोटों की गड्डी देकर भेजा
इसके बाद भिरानी थाना प्रभारी सुखराम चोटिया के नेतृत्व में टीम का गठन किया गया। सोमवार की रात रोहताश कुमार व उसके दोस्त विकास चौधरी को भादरा स्थित होटल भेजा गया। वहां आए बिन्दु गुप्ता व उसके पति अनिल कुमार गुप्ता सात लाख रुपये में मामला निपटाने पर राजी हुए। इसके बाद मंगलवार को पुलिस ने रोहताश कुमार व विकास चौधरी को सात लाख रुपये के डमी नोटों की 14 गड्डी बनाकर दी।

इनके आगे-पीछे 500-500 रुपये के असली नोट लगाए गए। बीच में कटिंग कर कागज रखा गया। होटल में पहुंचकर परिवादी व उसके दोस्त ने यह नोट आरोपियों को देकर पुलिस टीम को इशारा किया। इसके बाद भिरानी थानाधिकारी सुखराम चोटिया व भादरा थानाधिकारी कविता पूनिया के नेतृत्व में टीम ने बिन्दु गुप्ता व अनिल कुमार गुप्ता को डमी नोट गिनते धर-दबोचा।

विस्तार

राजस्थान के हनुमागढ़ से हनीट्रैप का एक मामला सामने आया है। हनुमानगढ़ की भिरानी पुलिस ने इस मामले में छत्तीसगढ़ के एक दंपती को मंगलवार शाम गिरफ्तार किया है। आरोपी शादी की आड़ में दुष्कर्म का आरोप लगाकर ब्लैकमेल कर पैसे की मांग कर रहे थे।

पीड़ित युवक की शिकायत पर पुलिस ने दंपती को पकड़ने की योजना बनाई। भादरा के होटल में सात लाख रुपये (डमी नोट) लेते दोनों को पकड़ लिया गया। गिरफ्तार अनिल कुमार गुप्ता (35), पुत्र नर्मदा प्रसाद गुप्ता और उसकी पत्नी बिंदु गुप्ता (34) से पुलिस पूछताछ कर रही है। दोनों आरोपी गांव डाबड़ी निवासी रोहताश कुमार व उसके परिवार को फंसाने की धमकी देकर 10 लाख रुपये ऐंठने के प्रयास में थे। दंपती छत्तीसगढ़ के जांजगीर चांपा के वार्ड-18 का रहने वाला है।

 

शादी के बहाने बेचा

जानकारी के अनुसार, बिन्दु गुप्ता को पति अनिल कुमार गुप्ता ने शादी के बहाने बेच दिया था। उसकी शादी रोहताश के भाई नरेश कुमार से करवा दी। इसके बाद अनिल कुमार गुप्ता ने जांजगीर चांपा छत्तीसगढ़ के थाना शक्ति में पत्नी बिंदु गुप्ता की गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज करवा दी। सात अगस्त को अनिल कुमार गुप्ता छत्तीसगढ़ पुलिस के साथ डाबडी पहुंचा। तब बिन्दु गुप्ता ने पुलिस से अपने पति अनिल के साथ जाने की बात कही। इन लोगों ने छत्तीसगढ़ पहुंचने के बाद अपना खेल शुरू किया।

 

सामूहिक दुष्कर्म का मुकदमा दर्ज कराया

रोहताश व उसके भाई नरेश कुमार के पास बिन्दु गुप्ता व उसके पति अनिल कुमार ने अलग-अलग मोबाइल नंबरों से कॉल करके 10 लाख रुपये की मांग की। ऐसा नहीं करने पर दुष्कर्म का मुकदमा दर्ज करवाने की धमकी दी। इसके बाद 18 सितंबर को बिन्दु गुप्ता व उसके पति अनिल कुमार गुप्ता ने रोहताश कुमार, उसकी पत्नी रेणुका व भाई नरेश कुमार पर सामूहिक दुष्कर्म कर मारपीट करने का आरोप लगाते हुए मुकदमा दर्ज करवा दिया। इसके बाद भी मुकदमा निपटाने के लिए 10 लाख रुपये की मांग करता रहा।

 

20 सितंबर को पीड़ित रोहताश कुमार भिरानी पुलिस के पास पहुंचा। रिपोर्ट में बताया कि उसके भाई नरेश कुमार व उसके परिवार को दुष्कर्म के झूठे मुकदमे में फंसाने का प्रयास किया जा रहा है। छत्तीसगढ़ में दर्ज हुए मामले को निपटाने के एवज में 10 लाख रुपये की मांग की जा रही है। रोहताश कुमार ने रिपोर्ट में यह भी बताया कि दुष्कर्म के मामले में फंसाकर ब्लैकमेल करने वाली युवती कोई और नहीं बल्कि उसके भाई की पत्नी बिंदु गुप्ता ही है।

 

डमी नोटों की गड्डी देकर भेजा

इसके बाद भिरानी थाना प्रभारी सुखराम चोटिया के नेतृत्व में टीम का गठन किया गया। सोमवार की रात रोहताश कुमार व उसके दोस्त विकास चौधरी को भादरा स्थित होटल भेजा गया। वहां आए बिन्दु गुप्ता व उसके पति अनिल कुमार गुप्ता सात लाख रुपये में मामला निपटाने पर राजी हुए। इसके बाद मंगलवार को पुलिस ने रोहताश कुमार व विकास चौधरी को सात लाख रुपये के डमी नोटों की 14 गड्डी बनाकर दी।

इनके आगे-पीछे 500-500 रुपये के असली नोट लगाए गए। बीच में कटिंग कर कागज रखा गया। होटल में पहुंचकर परिवादी व उसके दोस्त ने यह नोट आरोपियों को देकर पुलिस टीम को इशारा किया। इसके बाद भिरानी थानाधिकारी सुखराम चोटिया व भादरा थानाधिकारी कविता पूनिया के नेतृत्व में टीम ने बिन्दु गुप्ता व अनिल कुमार गुप्ता को डमी नोट गिनते धर-दबोचा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *