Bus Did Not Get To Go Home On Diwali Employees Robbed Bikes, Arrested With E-challans In Moradabad – अजीब वारदात: दिवाली पर बस नहीं मिली तो बाइक लूटकर पहुंच गए घर, ऐसे धरे गए कि जानकर होंगे हैरान


सार

गाजियाबाद में बाइक लूट की हैरान करने वाली घटना सामने आई है। घर जाने के लिए बस नहीं मिली तो आरोपियों ने बाइक लूट ली और 160 किलोमीटर का सफर तय कर घर पहुंच गए। मुरादाबाद में वाहन चेकिंग के दौरान बिना हेलमेट के बाइक चलाने पर ई-चालान हुआ तो बाइक के मालिक के फोन पर संदेश पहुंचा। बाइक मालिक ने एसपी यातायात को हकीकत बताई तो सक्रिय हुई पुलिस ने मूंढापांडे में बाइक समेत दो को दबोच लिया।

पुलिस की गिरफ्त में आरोपी
– फोटो : अमर उजाला

ख़बर सुनें

दीपावली पर लूट की एक अजीब वारदात सामने आई है। घर लौट रहे फर्म कर्मियों को बस नहीं मिली तो उन्होंने गाजियाबाद में एक इंजीनियर से बाइक लूट ली। इसके बाद उन्होंने 160 किलोमीटर का सफर भी तय कर लिया। 

मुरादाबाद में वाहन चेकिंग के दौरान बिना हेलमेट के बाइक चलाने पर ई-चालान हुआ तो बाइक के मालिक के फोन पर संदेश पहुंचा। बाइक मालिक ने एसपी यातायात को हकीकत बताई तो सक्रिय हुई पुलिस ने मूंढापांडे में बाइक समेत दो को दबोच लिया। इनका एक और साथी फरार हो गया।

पुलिस के मुताबिक गाजियाबाद के विजय नगर थानाक्षेत्र के बहादुर मार्केट ताज हाईवे तिकड़ी गोल चक्कर निवासी ज्ञान चंद्र द्विवेदी आरएसएस पदाधिकारी हैं। उनका एक बेटा शिवम द्विवेदी मोबाइल फोन कंपनी में इंजीनियर है। शिवम तीन नवंबर की रात को करीब दस बजे ड्यूटी पूरी करके घर लौट रहा था। 

वह गाजियाबाद के विजय नगर थानाक्षेत्र के तिकड़ी गोल चक्कर के पास खड़ा था। इसी दौरान वहां तीन युवक आए। शिवम कुछ समझ पाते उससे पहले उनमें से एक ने चाकू दिखाकर बाइक, पंद्रह हजार रुपये और मोबाइल लूट लिया। इसके बाद तीनों ने मुरादाबाद दिशा में बाइक दौड़ा दी।
शिवम ने थाने पहुंचकर घटना की सूचना दी। गाजियाबाद पुलिस तलाश में जुटी लेकिन तीनों बाइक सवार 160 किलोमीटर का सफर तय कर मुरादाबाद तक पहुंच गए। मुरादाबाद में रोडवेज पुलिस चौकी के पास यातायात पुलिस ने चेकिंग में बाइक रुकवाई और बिना हेलमेट के बाइक चलाने पर ई-चालान कर दिया। 
इसका संदेश शिवम के भाई हिमांशु के मोबाइल फोन पर पहुंचा। बाइक हिमांशु के नाम पर ही थी। वह दिल्ली मेट्रो में नौकरी करता है। उसने तुरंत मुरादाबाद के एसपी यातायात अशोक कुमार को भाई से बाइक लूटे जाने की सूचना दी। 

इसके बाद एसपी यातायात ने यातायात पुलिस के साथ थानों की फोर्स को भी सक्रिय कर दिया। पुलिस की इस सक्रियता से मूंढापांडे थाने के बाहर चेकिंग में बाइक और उस पर सवार दो लोग दबोच लिए गए। हालांकि तीसरा बाइक सवार भागने में कामयाब हो गया। 

पुलिस के मुताबिक गिरफ्त में आने वालों ने अपने नाम पुतिन और रोहित बताए हैं। दोनों लखीमपुर खीरी के मोहम्मदी थानाक्षेत्र के पलिया के निवासी हैं। पूछताछ में बताया कि वे गाजियाबाद स्थित एक फर्म में नौकरी करते हैं। दीपावली मनाने के लिए घर जा रहे थे लेकिन बस नहीं मिली तो तीनों ने बाइक लूट ली। 
 
मूंढापांडे थाना प्रभारी संजय पांचाल ने बताया कि दोनों आरोपियों को कोर्ट में पेश किया गया, जहां से उन्हें जेल भेज दिया गया है। फरार तीसरे आरोपी की तलाश की जा रही है। गिरफ्त में आए दोनों आरोपियों से लूटा गया फोन और कैश भी बरामद हुआ है।

बिना हेलमेट तीन सवार दौड़ाते रहे बाइक, तीन जिलों में नहीं हुई कार्रवाई
दीपावली के मद्देनजर सूबे में हाई अलर्ट जारी किया गया था। हाईवे पर संदिग्ध लोगों और वाहनों की चेकिंग के आदेश दिए गए थे। बावजूद इसके बदमाश गाजियाबाद से बाइक लूटकर तीन सवार बिना हेलमेट गाजियाबाद, हापुड़, अमरोहा पार करके मुरादाबाद तक पहुंच गए। कहीं पुलिस चेकिंग में उनकी घेराबंदी या टोकाटाकी नहीं हुई

लूट कर बोले-हैप्पी दीपावली, फिर दौड़ा दी बाइक 
मूंढापांडे थानाक्षेत्र में पकड़े गए आरोपी बदमाश पुनीत और रोहित ने बताया कि उन्होंने अपने तीसरे साथी के मिलकर गाजियाबाद में बाइक लूटी थी। उन्होंने बाइक स्वामी से हैप्पी दीपावली कहा और वहां से तीनों बाइक से अपने घर के लिए रवाना हो गए थे। अगर कहीं चौराहों पर पुलिस दिखाई देती थी तो एक साथी बाइक से उतरकर चौराहा पार कर लेता था। इसके बाद वह बाइक पर बैठा जाता था। इसी तरह तीनों बदमाश मुरादाबाद तक पहुंच गए थे।

गाजियाबाद में बाइक लूटी गई थी। बाइक स्वामी ने फोन कर मुझे बताया था कि उसकी लूटी गई बाइक का मुरादाबाद में ई-चालान किया गया है। मैंने यहां यातायात पुलिस के अलावा सिविल पुलिस को भी सक्रिय कर दिया था। इसी दौरान चेकिंग में बाइक मूंढापांडे में पकड़ी गई। लूट में शामिल रहे दो बदमाश भी गिरफ्तार किए गए हैं। 
अशोक कुमार सिंह, एसपी यातायात, मुरादाबाद

विस्तार

दीपावली पर लूट की एक अजीब वारदात सामने आई है। घर लौट रहे फर्म कर्मियों को बस नहीं मिली तो उन्होंने गाजियाबाद में एक इंजीनियर से बाइक लूट ली। इसके बाद उन्होंने 160 किलोमीटर का सफर भी तय कर लिया। 

मुरादाबाद में वाहन चेकिंग के दौरान बिना हेलमेट के बाइक चलाने पर ई-चालान हुआ तो बाइक के मालिक के फोन पर संदेश पहुंचा। बाइक मालिक ने एसपी यातायात को हकीकत बताई तो सक्रिय हुई पुलिस ने मूंढापांडे में बाइक समेत दो को दबोच लिया। इनका एक और साथी फरार हो गया।

पुलिस के मुताबिक गाजियाबाद के विजय नगर थानाक्षेत्र के बहादुर मार्केट ताज हाईवे तिकड़ी गोल चक्कर निवासी ज्ञान चंद्र द्विवेदी आरएसएस पदाधिकारी हैं। उनका एक बेटा शिवम द्विवेदी मोबाइल फोन कंपनी में इंजीनियर है। शिवम तीन नवंबर की रात को करीब दस बजे ड्यूटी पूरी करके घर लौट रहा था। 

वह गाजियाबाद के विजय नगर थानाक्षेत्र के तिकड़ी गोल चक्कर के पास खड़ा था। इसी दौरान वहां तीन युवक आए। शिवम कुछ समझ पाते उससे पहले उनमें से एक ने चाकू दिखाकर बाइक, पंद्रह हजार रुपये और मोबाइल लूट लिया। इसके बाद तीनों ने मुरादाबाद दिशा में बाइक दौड़ा दी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

AllwNews