Cafe Was Selling Ice Cream Mixed With Alcohol In Tamil Nadu Sealed – तमिलनाडु: आइसक्रीम में शराब मिलाकर बेच रहा था कैफे, खाद्य सुरक्षा अधिकारियों ने किया सील


न्यूज डेस्क, अमर उजाला, कोयंबटूर
Published by: Jeet Kumar
Updated Fri, 22 Oct 2021 12:57 AM IST

सार

अधिकारियों ने आरोप लगाया कि भोजन तैयार करने वाला क्षेत्र मच्छरों और मक्खियों से भरा था। दुकान में शराब की बोतलें रखने पर कैफे को बंद कर दिया।

ख़बर सुनें

तमिलनाडु कोयंबटूर जिले के अविनाशी रोड पर लक्ष्मी मिल्स क्षेत्र में एक कैफे शराब की आइसक्रीम बेच रहा था और यह किशोरों के बीच एक लोकप्रिय वस्तु बन रही थी। एक शिकायत के आधार पर रोलिंग आटा कैफे की जांच करने के बाद खाद्य सुरक्षा अधिकारियों ने इसे सील कर दिया। इस संबंध् में फसरों ने कहा कि कैफे खाद्य स्वच्छता मानकों को पूरा नहीं कर रहा था। 

खाद्य सुरक्षा अधिकारियों ने कैफै से शराब की दो बोतलें भी जब्त की हैं। अधिकारियों ने यह भी आरोप लगाया है कि भोजन तैयार करने वाला क्षेत्र मच्छरों और मक्खियों से भरा हुआ था। दुकान में शराब की बोतलें रखने पर कैफे को बंद कर दिया गया। साथ ही खाद्य सुरक्षा अधिकारियों ने कहा कि कैफे के पास उचित चिकित्सा फिटनेस प्रमाण पत्र नहीं था।

कैफे के अंदर काम करते समय श्रमिकों ने हेयर कैप, दस्ताने या फेस मास्क तक नहीं पहने हुए थे। अधिकारियों ने एक विज्ञप्ति भी जारी की है, जिसमें कैफे को सील करने के आठ कारण बताए गए हैं। जांच के बाद स्वास्थ्य मंत्री एम सुब्रमण्यम ने खाद्य सुरक्षा अधिकारियों को कैफे का लाइसेंस रद्द करने और स्टोर को सील करने का आदेश दिया था।

विस्तार

तमिलनाडु कोयंबटूर जिले के अविनाशी रोड पर लक्ष्मी मिल्स क्षेत्र में एक कैफे शराब की आइसक्रीम बेच रहा था और यह किशोरों के बीच एक लोकप्रिय वस्तु बन रही थी। एक शिकायत के आधार पर रोलिंग आटा कैफे की जांच करने के बाद खाद्य सुरक्षा अधिकारियों ने इसे सील कर दिया। इस संबंध् में फसरों ने कहा कि कैफे खाद्य स्वच्छता मानकों को पूरा नहीं कर रहा था। 

खाद्य सुरक्षा अधिकारियों ने कैफै से शराब की दो बोतलें भी जब्त की हैं। अधिकारियों ने यह भी आरोप लगाया है कि भोजन तैयार करने वाला क्षेत्र मच्छरों और मक्खियों से भरा हुआ था। दुकान में शराब की बोतलें रखने पर कैफे को बंद कर दिया गया। साथ ही खाद्य सुरक्षा अधिकारियों ने कहा कि कैफे के पास उचित चिकित्सा फिटनेस प्रमाण पत्र नहीं था।

कैफे के अंदर काम करते समय श्रमिकों ने हेयर कैप, दस्ताने या फेस मास्क तक नहीं पहने हुए थे। अधिकारियों ने एक विज्ञप्ति भी जारी की है, जिसमें कैफे को सील करने के आठ कारण बताए गए हैं। जांच के बाद स्वास्थ्य मंत्री एम सुब्रमण्यम ने खाद्य सुरक्षा अधिकारियों को कैफे का लाइसेंस रद्द करने और स्टोर को सील करने का आदेश दिया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *