Chief Minister Charanjit Singh Channi Gave Ownership Rights To 269 Beneficiaries In Chamkaur Sahib – पंजाब सरकार का दिवाली गिफ्ट: सीएम चन्नी ने 269 लाभार्थियों को दिया घर, गरीबों के बीच मनाया त्योहार


सार

मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने चमकौर सहिब में खुद इंदिरा कालोनी के कुछ गरीब लोगों के घरों में जाकर दीप जलाए और उनको घरों के मालिकाना अधिकारों की सनद सौंपी। उन्होंने साथ ही कहा कि राज्य में बसेरा स्कीम के अंतर्गत सभी योग्य लाभार्थियों को जल्द कवर किया जाएगा।

सीएम ने 269 लाभार्थियों को दिया घर
– फोटो : अमर उजाला

ख़बर सुनें

दिवाली के शुभ अवसर पर मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने चमकौर सहिब में ‘बसेरा स्कीम’ अधीन झुग्गी झोपड़ियों में जीवन बसर कर रहे 269 लाभार्थीयों को अस्थायी आवास के पक्के मालिकाना हक दिए। मुख्यमंत्री चन्नी ने खुद इंदिरा कालोनी के कुछ गरीब लोगों के घरों में जाकर दीप जलाए और उनको घरों के मालिकाना अधिकारों की सनद सौंपी। 

इसके बाद बाकी लोगों को सिटी सेंटर में करवाए गए समारोह के दौरान मुख्यमंत्री ने इंदिरा कालोनी के निवासियों को घरों के मालिकाना अधिकारों की सनद दीं। यहां मुख्यमंत्री चन्नी ने कहा कि शहरी क्षेत्रों में राज्य सरकार की ज़मीन पर झुग्गी झोपड़ियों में रहते परिवारों को मालिकाना अधिकार देने की बसेरा स्कीम के द्वारा जरूरतमंद लोगों का अपना घर होने का सपना पूरा हो रहा है।

उन्होंने साथ ही कहा कि राज्य में बसेरा स्कीम के अंतर्गत सभी योग्य लाभार्थियों को जल्द कवर किया जाएगा। जिसके लिए इस संबंधी प्रक्रिया में तेज़ी लाने के लिए हिदायतें जारी कर दी गई हैं। इस मौके पर मुख्यमंत्री ने कहा कि गांवों में लाल लकीर के अंदर रहते लोगों को भी घरों के मालिकाना अधिकार देने के लिए ड्रोन मैपिंग चल रही है और जल्द ही उनको भी घरों के मालिकाना अधिकार दिए जाएंगे।

मुख्यमंत्री ने आगे कहा कि कोरोना महामारी के दौरान मध्यम वर्गीय लोगों को आर्थिक तौर पर बड़ी चोट पहुंची है और केंद्र सरकार की तरफ से लगातार पेट्रोल-डीज़ल की कीमतें बढ़ाई जा रही हैं जिसके कारण पूरे देश में महंगाई ने रिकॉर्ड तोड़ दिए हैं। 
 
बढ़ रही महंगाई को देखते हुए पंजाब सरकार की तरफ से बिजली दरों में तीन रुपये प्रति यूनिट की कटौती करके पंजाब के लोगों के लिए दिवाली का बड़ा तोहफ़ा दिया गया है। इस कटौती से आम जनता को अपेक्षित राहत मिलेगी। इससे राज्य के कुल 71.75 लाख घरेलू उपभोक्ताओं में से 69 लाख उपभोक्ताओं को लाभ होगा।

इस मौके पर मुख्यमंत्री ने चमकौर साहिब की सभी स्ट्रीट लाइटों को बदल कर एलईडी लाईटें लगाने के लिए 2.50 करोड़ रुपए देने का एलान भी किया। जिससे इस ऐतिहासिक शहर के रूप को पूरी तरह से बदला जा सके।

उन्होंने आगे कहा कि इलाके के विकास को ध्यान में रखते हुए सतलुज नदी पर बेला-पन्याली पुल का नींव पत्थर 6 नवंबर को रखा जाएगा। जिसके लिए 70 लाख रुपये प्रति एकड़ मुआवज़ा उन किसानों को दिया जाएगा जिनकी ज़मीन इस पुल के निर्माण के लिए एक्वायर की जाएगी। 

इससे पहले मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी गुरुद्वारा श्री कतलगढ़ सहिब में नतमस्तक हुए और उन्होंने पंजाब की तरक्की और सुनहरे भविष्य के लिए अरदास की। 

विस्तार

दिवाली के शुभ अवसर पर मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने चमकौर सहिब में ‘बसेरा स्कीम’ अधीन झुग्गी झोपड़ियों में जीवन बसर कर रहे 269 लाभार्थीयों को अस्थायी आवास के पक्के मालिकाना हक दिए। मुख्यमंत्री चन्नी ने खुद इंदिरा कालोनी के कुछ गरीब लोगों के घरों में जाकर दीप जलाए और उनको घरों के मालिकाना अधिकारों की सनद सौंपी। 

इसके बाद बाकी लोगों को सिटी सेंटर में करवाए गए समारोह के दौरान मुख्यमंत्री ने इंदिरा कालोनी के निवासियों को घरों के मालिकाना अधिकारों की सनद दीं। यहां मुख्यमंत्री चन्नी ने कहा कि शहरी क्षेत्रों में राज्य सरकार की ज़मीन पर झुग्गी झोपड़ियों में रहते परिवारों को मालिकाना अधिकार देने की बसेरा स्कीम के द्वारा जरूरतमंद लोगों का अपना घर होने का सपना पूरा हो रहा है।

उन्होंने साथ ही कहा कि राज्य में बसेरा स्कीम के अंतर्गत सभी योग्य लाभार्थियों को जल्द कवर किया जाएगा। जिसके लिए इस संबंधी प्रक्रिया में तेज़ी लाने के लिए हिदायतें जारी कर दी गई हैं। इस मौके पर मुख्यमंत्री ने कहा कि गांवों में लाल लकीर के अंदर रहते लोगों को भी घरों के मालिकाना अधिकार देने के लिए ड्रोन मैपिंग चल रही है और जल्द ही उनको भी घरों के मालिकाना अधिकार दिए जाएंगे।

मुख्यमंत्री ने आगे कहा कि कोरोना महामारी के दौरान मध्यम वर्गीय लोगों को आर्थिक तौर पर बड़ी चोट पहुंची है और केंद्र सरकार की तरफ से लगातार पेट्रोल-डीज़ल की कीमतें बढ़ाई जा रही हैं जिसके कारण पूरे देश में महंगाई ने रिकॉर्ड तोड़ दिए हैं। 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

AllwNews