India Raises Srinagar Sharjah Flight Airspace Issue Before Pakistan Via Diplomatic Channels – भारत की पाक को नसीहत: श्रीनगर-शारजाह उड़ान लोगों के लिए फायदेमंद, हवाई क्षेत्र के इस्तेमाल की अनुमति दें


न्यूज डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली
Published by: गौरव पाण्डेय
Updated Fri, 05 Nov 2021 03:48 PM IST

सार

श्रीनगर से शारजाह के लिए उड़ान को पाकिस्तान के हवाई क्षेत्र का इस्तेमाल  करने की मंजूरी न देने का मामला शुक्रवार को भारत ने राजनयिक चैनलों के माध्यम से पाक सरकार के सामने उठाया है।

सांकेतिक तस्वीर
– फोटो : पेक्सेल्स

ख़बर सुनें

श्रीनगर से शारजाह जाने वाली उड़ान को अपने हवाई क्षेत्र का इस्तेमाल न करने देने का मुद्दा भारत ने पाकिस्तान के सामने उठाया है। जानकारी के अनुसार राजनयिक चैनलों के जरिए भारत ने पाकिस्तान के सामने यह मामला उठाते हुए इस फैसले को बदलने की मांग की है। भारत सरकार का कहना है कि यह उड़ान सेवा जारी रखने से आम लोगों का फायदा होगा।

पाक ने जिस उड़ान के साथ ऐसा किया था वह गो फर्स्ट एयरलाइन की थी। इस प्रतिबंध के चलते श्रीनगर से शारजाह की उड़ान को अधिक समय और अधिक खर्च वाला सफर करना पड़ेगा। पाकिस्तान ने 23, 24, 26, 28 अक्तूबर को इस उड़ान को अनुमति दी थी लेकिन दो नवंबर को अपने हवाई क्षेत्र का इस्तेमाल करने की अनुमति देने से इनकार किया था। 

पाक का फैसला आईसीएओ के नियमों का उल्लंघन 
नागरिक उड्डयन मंत्रालय के एक अधिकारी के अनुसार पाकिस्तान का यह निर्णय अंतरराष्ट्रीय नागरिक उड्डयन संगठन के नियमों का उल्लंघन है। संगठन हमें हवाई क्षेत्र के इस्तेमाल का अधिकार देता है। उन्होंने बताया कि 23 अक्तूबर को फ्लाइट को हरी झंडी दिखाई गई थी। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान सरकार का इस तरह का फैसला हैरान कर देने वाला है।

विस्तार

श्रीनगर से शारजाह जाने वाली उड़ान को अपने हवाई क्षेत्र का इस्तेमाल न करने देने का मुद्दा भारत ने पाकिस्तान के सामने उठाया है। जानकारी के अनुसार राजनयिक चैनलों के जरिए भारत ने पाकिस्तान के सामने यह मामला उठाते हुए इस फैसले को बदलने की मांग की है। भारत सरकार का कहना है कि यह उड़ान सेवा जारी रखने से आम लोगों का फायदा होगा।

पाक ने जिस उड़ान के साथ ऐसा किया था वह गो फर्स्ट एयरलाइन की थी। इस प्रतिबंध के चलते श्रीनगर से शारजाह की उड़ान को अधिक समय और अधिक खर्च वाला सफर करना पड़ेगा। पाकिस्तान ने 23, 24, 26, 28 अक्तूबर को इस उड़ान को अनुमति दी थी लेकिन दो नवंबर को अपने हवाई क्षेत्र का इस्तेमाल करने की अनुमति देने से इनकार किया था। 

पाक का फैसला आईसीएओ के नियमों का उल्लंघन 

नागरिक उड्डयन मंत्रालय के एक अधिकारी के अनुसार पाकिस्तान का यह निर्णय अंतरराष्ट्रीय नागरिक उड्डयन संगठन के नियमों का उल्लंघन है। संगठन हमें हवाई क्षेत्र के इस्तेमाल का अधिकार देता है। उन्होंने बताया कि 23 अक्तूबर को फ्लाइट को हरी झंडी दिखाई गई थी। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान सरकार का इस तरह का फैसला हैरान कर देने वाला है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *