More Than 85.2 Lakh Covid Vaccine Doses Administered In India On Saturday – कायम नहीं रहा रिकॉर्ड: शनिवार को 85.2 लाख लोगों को लगी वैक्सीन, पीएम मोदी के जन्मदिन पर लगी थी 2.5 करोड़


एएनआई, नई दिल्ली
Published by: Jeet Kumar
Updated Sun, 19 Sep 2021 12:55 AM IST

सार

टीकाकरण की शुरुआत से ही पीएम मोदी ने टीकाकरण पर काफी जोर दिया है। अगर इसी तरीके से अभियानों के तहत वैक्सीन कार्यक्रम चले तो जल्द ही वैक्सीनेशन का आंकड़ा 100 करोड़ के पार पहुंच जाएगा।

ख़बर सुनें

गुरुवार को देश में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जन्मदिन के मौके पर करीब 2.5 करोड़ से ज्यादा लोगों को टीका लगाकर नया रिकॉर्ड कायम कर दिया। शुक्रवार को सिर्फ 17 घंटे में ही ढाई करोड़ से ज्यादा लोगों को कोरोना की वैक्सीन लगा दी गई। लेकिन ये रिकॉर्ड अगले दिन ही कायम नहीं रह पाया, कोविन एप पर रात 11:59 बजे उपलब्ध आंकड़ों के अनुसार, शनिवार को मात्र 85.2 लाख से अधिक कोरोना वैक्सीन की खुराक दी गई। 

हालांकि, इस घातक वायरस के खिलाफ भारत की लड़ाई अभी खत्म नहीं हुई है। आगामी त्योहारी सीजन के साथ, स्वास्थ्य विशेषज्ञों को डर है कि तीन महीने के भीतर तीसरी लहर आ सकती है। कुछ विशेषज्ञों का मानना है कि तीसरी लहर उतनी घातक नहीं होगी, जितनी दूसरी लहर थी क्योंकि अभी कोई कोरोना वायरस का कोई नया रूप नहीं देखा गया है।

अक्तूबर के मध्य तक 100 करोड़ के पार होगा आंकड़ा
देश में कोरोना के खिलाफ चल रहे टीकाकरण को देखते हुए उम्मीद जताई जा रही है कि जल्द ही वैक्सीनेशन का आंकड़ा 100 करोड़ के पार पहुंच सकता है। सूत्रों के मुताबिक, अक्तूबर के मध्य तक देश में कोरोना वैक्सीन की सौ करोड़ टीके की खुराक लगाई जा सकती है। इसमें वैक्सीन की पहली और दूसरी दोनों खुराकें शामिल हैं।

कांग्रेस ने टीकाकरण अभियान पर साधा निशाना
देश में अभी तक 24 घंटे के भीतर इतनी बड़ी संख्या में लोगों को टीका नहीं लगाया गया था। दरअसल, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जन्मदिन पर भाजपा ने एक करोड़ से ज्यादा टीकाकरण करने का लक्ष्य रखा था, लेकिन भाजपा ने लक्ष्य पूरा करते हुए यह आंकड़ा ढाई करोड़ तक पहुंचा दिया। हालांकि, कांग्रेस ने इस पर सवाल खड़े किए हैं। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी चिदंबरम ने कहा कि भाजपा शासित राज्यों में सिर्फ टीकाकरण अभियान को बढ़ाया गया, गैर भाजपा राज्यों पर केंद्र ध्यान नहीं दे रही है।

विस्तार

गुरुवार को देश में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जन्मदिन के मौके पर करीब 2.5 करोड़ से ज्यादा लोगों को टीका लगाकर नया रिकॉर्ड कायम कर दिया। शुक्रवार को सिर्फ 17 घंटे में ही ढाई करोड़ से ज्यादा लोगों को कोरोना की वैक्सीन लगा दी गई। लेकिन ये रिकॉर्ड अगले दिन ही कायम नहीं रह पाया, कोविन एप पर रात 11:59 बजे उपलब्ध आंकड़ों के अनुसार, शनिवार को मात्र 85.2 लाख से अधिक कोरोना वैक्सीन की खुराक दी गई। 

हालांकि, इस घातक वायरस के खिलाफ भारत की लड़ाई अभी खत्म नहीं हुई है। आगामी त्योहारी सीजन के साथ, स्वास्थ्य विशेषज्ञों को डर है कि तीन महीने के भीतर तीसरी लहर आ सकती है। कुछ विशेषज्ञों का मानना है कि तीसरी लहर उतनी घातक नहीं होगी, जितनी दूसरी लहर थी क्योंकि अभी कोई कोरोना वायरस का कोई नया रूप नहीं देखा गया है।

अक्तूबर के मध्य तक 100 करोड़ के पार होगा आंकड़ा

देश में कोरोना के खिलाफ चल रहे टीकाकरण को देखते हुए उम्मीद जताई जा रही है कि जल्द ही वैक्सीनेशन का आंकड़ा 100 करोड़ के पार पहुंच सकता है। सूत्रों के मुताबिक, अक्तूबर के मध्य तक देश में कोरोना वैक्सीन की सौ करोड़ टीके की खुराक लगाई जा सकती है। इसमें वैक्सीन की पहली और दूसरी दोनों खुराकें शामिल हैं।

कांग्रेस ने टीकाकरण अभियान पर साधा निशाना

देश में अभी तक 24 घंटे के भीतर इतनी बड़ी संख्या में लोगों को टीका नहीं लगाया गया था। दरअसल, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जन्मदिन पर भाजपा ने एक करोड़ से ज्यादा टीकाकरण करने का लक्ष्य रखा था, लेकिन भाजपा ने लक्ष्य पूरा करते हुए यह आंकड़ा ढाई करोड़ तक पहुंचा दिया। हालांकि, कांग्रेस ने इस पर सवाल खड़े किए हैं। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी चिदंबरम ने कहा कि भाजपा शासित राज्यों में सिर्फ टीकाकरण अभियान को बढ़ाया गया, गैर भाजपा राज्यों पर केंद्र ध्यान नहीं दे रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *