Punjab Congress President Navjot Sidhu Writes To Party Interim President Sonia Gandhi – सिद्धू का सोनिया को खत: यह कांग्रेस के पास अंतिम मौका है…13 सूत्रीय एजेंडे को लेकर मुलाकात का मांगा समय


सार

 नवजोत सिंह सिद्धू ने सोनिया गांधी को पत्र लिखा। सिद्धू ने पार्टी अध्यक्ष से बैठक का समय मांगा है। पत्र में सिद्धू ने पंजाब मॉडल और पार्टी के 13 सूत्रीय एजेंडे का जिक्र किया है। 15 अक्तूबर के इस पत्र को सिद्धू ने रविवार को ट्विटर पर साझा किया।

ख़बर सुनें

पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू ने पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी को पत्र लिखा। 2022 में होने वाले विधानसभा चुनाव में पार्टी के 13 सूत्रीय एजेंडे को पेश करने के लिए बैठक का समय मांगा है। यह पत्र 15 अक्तूबर का है। नवजोत सिंह सिद्धू ने इसे रविवार को अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर साझा किया।

सिद्धू ने 2022 विधानसभा चुनाव में 13 सूत्रीय एजेंडे को घोषणा पत्र में शामिल करने और पंजाब मॉडल पेश करने का समय सोनिया गांधी से मांगा। उन्होंने बेअदबी, ड्रग्स और केबल माफिया का मुद्दा उठाया। सिद्धू ने लिखा कि पंजाब के लोग बेदअदबी के दोषियों को सजा और बहिबल कलां व कोटकपूरा पुलिस फायरिंग मामले में न्याय चाहते हैं। सिद्धू ने लिखा कि कांग्रेस को विधानसभा चुनाव में जाने से पहले इन 13 मुद्दों पर विचार करना चाहिए।

सिद्धू ने केंद्र के तीनों कृषि कानूनों को पंजाब में लागू नहीं करने की बात कही। उन्होंने कहा कि एसवाईएल की तरह पंजाब सरकार को इसे अस्वीकार कर देना चाहिए। सिद्धू ने फल और सब्जी की खरीद और दलहन व तिलहन को एमएसपी पर खरीदने को अपने एजेंडे में शामिल किया।

सस्ती और 24 घंटे बिजली का मुद्दा उठाया
नवजोत सिंह सिद्धू ने सस्ती और घरेलू उपभोक्ताओं को 24 घंटे बिजली उपलब्ध कराने का मुद्दा भी उठाया और इसे अपने एजेंडे में शामिल किया। नवजोत सिंह सिद्धू बिजली के मुद्दे पर पिछली शिअद सरकार और बाद में कैप्टन अमरिंदर सिंह व अब चन्नी सरकार पर हमलावर हैं। कई बार उन्होंने राज्य सरकार पर हमला बोला। 

कैबिनेट में फेरबदल की भी उठाई मांग
अनुसूचित जाति वर्ग के चरणजीत सिंह चन्नी को पंजाब का सीएम बनाने के हाईकमान के फैसले को नवजोत सिंह सिद्धू ने प्रगतिशील बताया लेकिन कहीं न कहीं सवाल भी उठा दिया। सिद्धू ने अपने एजेंडे में एक मजहबी सिख को कैबिनेट में शामिल करने की मांग की। पिछड़ा वर्ग से दो लोगों को कैबिनेट में शामिल करने की भी मांग की। सिद्धू ने कहा कि आरक्षित सीटों के विकास के लिए 25 करोड़ रुपये का पैकेज जारी किया जाए। अनुसूचित जाति को पांच मरला प्लाट देने का वादा भी पूरा करना जरूरी है। सिद्धू ने अपने पत्र में रोजगार, रेत खनन, परिवहन, शराब का भी मुद्दा उठाया।

18 दिन बाद सिद्धू ने वापस लिया इस्तीफा
शुक्रवार को नवजोत सिंह सिद्धू ने 18 दिन बाद अपना इस्तीफा वापस लिया था। नाराज चल रहे सिद्धू ने राहुल गांधी से मुलाकात के बाद इस्तीफा वापस लेने की बात कही थी।

पंजाब कांग्रेस में सिद्धू के अचानक इस्तीफा देने के बाद उनके कांग्रेस छोड़ने के भी कयास लगने लगे थे लेकिन दशहरा के दिन सिद्धू ने इस्तीफा वापस लिया। सिद्धू ने बृहस्पतिवार को संगठन महासचिव केसी. वेणुगोपाल और हरीश रावत से मुलाकात के बाद अपने कदम पीछे हटाने के संकेत दिए थे। 

दरअसल 28 अक्तूबर को इस्तीफा देने के बाद सिद्धू ने जिस तरह के तेवर अपनाए, उससे केंद्रीय नेतृत्व की फजीहत शुरू हो गई थी, क्योंकि सिद्धू को अध्यक्ष बनाने का फैसला सीधे नेतृत्व का था।

वहीं, जिस दिन कांग्रेस कन्हैया कुमार और जिग्नेश मेवानी का पार्टी में स्वागत कर रही थी उससे ठीक पहले सिद्धू ने इस्तीफा बम फोड़कर किरकिरी कराई थी। इसी बात से सोनिया गांधी के साथ राहुल और प्रियंका भी बेहद नाराज थे। बैठक के बाद सिद्धू ने मीडिया से कहा, मेरी जो चिंताएं थीं, मैंने राहुल जी के साथ साझा कर दी और सबका समाधान निकल गया।

विस्तार

पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू ने पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी को पत्र लिखा। 2022 में होने वाले विधानसभा चुनाव में पार्टी के 13 सूत्रीय एजेंडे को पेश करने के लिए बैठक का समय मांगा है। यह पत्र 15 अक्तूबर का है। नवजोत सिंह सिद्धू ने इसे रविवार को अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर साझा किया।

सिद्धू ने 2022 विधानसभा चुनाव में 13 सूत्रीय एजेंडे को घोषणा पत्र में शामिल करने और पंजाब मॉडल पेश करने का समय सोनिया गांधी से मांगा। उन्होंने बेअदबी, ड्रग्स और केबल माफिया का मुद्दा उठाया। सिद्धू ने लिखा कि पंजाब के लोग बेदअदबी के दोषियों को सजा और बहिबल कलां व कोटकपूरा पुलिस फायरिंग मामले में न्याय चाहते हैं। सिद्धू ने लिखा कि कांग्रेस को विधानसभा चुनाव में जाने से पहले इन 13 मुद्दों पर विचार करना चाहिए।

सिद्धू ने केंद्र के तीनों कृषि कानूनों को पंजाब में लागू नहीं करने की बात कही। उन्होंने कहा कि एसवाईएल की तरह पंजाब सरकार को इसे अस्वीकार कर देना चाहिए। सिद्धू ने फल और सब्जी की खरीद और दलहन व तिलहन को एमएसपी पर खरीदने को अपने एजेंडे में शामिल किया।

सस्ती और 24 घंटे बिजली का मुद्दा उठाया

नवजोत सिंह सिद्धू ने सस्ती और घरेलू उपभोक्ताओं को 24 घंटे बिजली उपलब्ध कराने का मुद्दा भी उठाया और इसे अपने एजेंडे में शामिल किया। नवजोत सिंह सिद्धू बिजली के मुद्दे पर पिछली शिअद सरकार और बाद में कैप्टन अमरिंदर सिंह व अब चन्नी सरकार पर हमलावर हैं। कई बार उन्होंने राज्य सरकार पर हमला बोला। 

कैबिनेट में फेरबदल की भी उठाई मांग

अनुसूचित जाति वर्ग के चरणजीत सिंह चन्नी को पंजाब का सीएम बनाने के हाईकमान के फैसले को नवजोत सिंह सिद्धू ने प्रगतिशील बताया लेकिन कहीं न कहीं सवाल भी उठा दिया। सिद्धू ने अपने एजेंडे में एक मजहबी सिख को कैबिनेट में शामिल करने की मांग की। पिछड़ा वर्ग से दो लोगों को कैबिनेट में शामिल करने की भी मांग की। सिद्धू ने कहा कि आरक्षित सीटों के विकास के लिए 25 करोड़ रुपये का पैकेज जारी किया जाए। अनुसूचित जाति को पांच मरला प्लाट देने का वादा भी पूरा करना जरूरी है। सिद्धू ने अपने पत्र में रोजगार, रेत खनन, परिवहन, शराब का भी मुद्दा उठाया।

18 दिन बाद सिद्धू ने वापस लिया इस्तीफा

शुक्रवार को नवजोत सिंह सिद्धू ने 18 दिन बाद अपना इस्तीफा वापस लिया था। नाराज चल रहे सिद्धू ने राहुल गांधी से मुलाकात के बाद इस्तीफा वापस लेने की बात कही थी।

पंजाब कांग्रेस में सिद्धू के अचानक इस्तीफा देने के बाद उनके कांग्रेस छोड़ने के भी कयास लगने लगे थे लेकिन दशहरा के दिन सिद्धू ने इस्तीफा वापस लिया। सिद्धू ने बृहस्पतिवार को संगठन महासचिव केसी. वेणुगोपाल और हरीश रावत से मुलाकात के बाद अपने कदम पीछे हटाने के संकेत दिए थे। 

दरअसल 28 अक्तूबर को इस्तीफा देने के बाद सिद्धू ने जिस तरह के तेवर अपनाए, उससे केंद्रीय नेतृत्व की फजीहत शुरू हो गई थी, क्योंकि सिद्धू को अध्यक्ष बनाने का फैसला सीधे नेतृत्व का था।

वहीं, जिस दिन कांग्रेस कन्हैया कुमार और जिग्नेश मेवानी का पार्टी में स्वागत कर रही थी उससे ठीक पहले सिद्धू ने इस्तीफा बम फोड़कर किरकिरी कराई थी। इसी बात से सोनिया गांधी के साथ राहुल और प्रियंका भी बेहद नाराज थे। बैठक के बाद सिद्धू ने मीडिया से कहा, मेरी जो चिंताएं थीं, मैंने राहुल जी के साथ साझा कर दी और सबका समाधान निकल गया।



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

AllwNews