Three Foreign Pilgrims Of Covid Positive Went To Country – कोरोना संक्रमण: मथुरा में स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही सामने आई, तीन कोरोना संक्रमित विदेश हुए रवाना


संवाद न्यूज एजेंसी, मथुरा
Published by: Abhishek Saxena
Updated Wed, 01 Dec 2021 12:16 AM IST

सार

मथुरा में कोरोना संक्रमित मिलने के बाद दस में से तीन लोग विदेश रवाना हो गए। वहीं एक और विदेशी युवती की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आने से अब संख्या बढ़कर दस हो गई है। 

मथुरा: संक्रमित महिला मिलने के बाद पहुंची टीम का फाइल फोटो
– फोटो : अमर उजाला

ख़बर सुनें

मथुरा में स्वास्थ्य विभाग की बड़ी लापरवाही सामने आई है। वृंदावन के शीतल छाया में मिले 10 कोरोना पॉजिटिव मरीजों में से तीन विदेश रवाना हो गए। मंगलवार को आई रिपोर्ट में एक रसियन युवती कोरोना पॉजिटिव मिली है। फिलहाल सात मरीज वृंदावन में होम आइसोलेट हैं। 
जिला कोविड कंट्रोल प्रभारी डॉ. भूदेव सिंह ने बताया कि विदेश गए तीन मरीजों ने शनिवार को एक निजी लैब से टेस्ट कराया, इसकी रिपोर्ट सोमवार को स्वास्थ्य विभाग को मिली। स्वास्थ्य विभाग ने जब मरीजों की जानकारी की तो पता चला वह अपने देश रविवार को ही चले गए। अपने देश जाने वालों में दो रूस और एक स्विट्जरलैंड का नागरिक है। तीनों संक्रमितों के स्वदेश लौटने के बाद स्वास्थ्य विभाग में चिंता बढ़ गई है। विदेशियों ने कंटेनमेंट जोन के नियमों का भी पालन नहीं किया।

स्वास्थ्य विभाग ने मांगी एयरपोर्ट से रिपोर्ट 
वृंदावन में निकले तीन संक्रमितों के अपने देश लौटने के बाद स्वास्थ्य विभाग में खलबली है। स्वास्थ्य विभाग ने एयरपोर्ट प्रबंधन से रिपोर्ट मांगी है। स्वास्थ्य विभाग यह पता करने में जुटा है कि आखिर यह लोग बिना रिपोर्ट के स्वदेश कैसे चले गए। सीएमओ डॉ. रचना गुप्ता ने बताया कि 10 संक्रमितों में से तीन अपने देश लौट गए। पांच होम आइसोलेट हैं, एक यूएस का सिटीजन है, उसकी कांटेक्ट ट्रेसिंग कर रहे हैं। हमारे यहां कोरोना की संभावना न के बराबर है, इसलिए यह संभावना कम है कि वे यहां संक्रमित हुए। संभावना है कि विदेशी नागरिक या तो किसी विदेशी के संपर्क में आए या फिर अपने देश से ही संक्रमित आए। 

वृंदावन के पर्यटन को बढ़ा झटका
पिछले लगभग डेढ़ वर्ष से मंदी की मार झेल रहा पर्यटन का कारोबार जैसे तैसे पटरी पर लौटा कि पिछले कई दिन से वृंदावन में संक्रमित निकल रहे विदेशी मेहमानों के कारण वृंदावन के पर्यटन को नुकसान होने लगा है। लगातार विदेशी भक्तों की आवक कम होती जा रही है। कोरोना के बढ़ते केसों को देखते हुए इस्कॉन ने भी अपने यहां गाइडलाइन जारी कर दी है। यहां हर दिन लोगों के सैंपल लेकर जांच कराई जा रही है। मंगलवार को सौ लोगों के सैंपल लेकर जांच के लिए भेजे गए हैं। इसके साथ प्रेम मंदिर ने भी अपने कर्मचारियों के सैंपल लेकर जांच के लिए भेजे हैं। इधर बाजार में भी विदेशी भक्तों का आवागमन कम हो गया है। उधर, सीएमओ ने सभी होटल व गेस्टहाउस मालिकों से कहा कि जो भी आपके यहां विदेशी रुके, उसका कोरोना टेस्ट जरूर कराएं। 

कोरोना: वृंदावन में तीन दिन में आठ विदेशी श्रद्धालु संक्रमित, नए वैरिएंट की जांच के लिए लखनऊ भेजे गए सैंपल
 

विस्तार

मथुरा में स्वास्थ्य विभाग की बड़ी लापरवाही सामने आई है। वृंदावन के शीतल छाया में मिले 10 कोरोना पॉजिटिव मरीजों में से तीन विदेश रवाना हो गए। मंगलवार को आई रिपोर्ट में एक रसियन युवती कोरोना पॉजिटिव मिली है। फिलहाल सात मरीज वृंदावन में होम आइसोलेट हैं। 

जिला कोविड कंट्रोल प्रभारी डॉ. भूदेव सिंह ने बताया कि विदेश गए तीन मरीजों ने शनिवार को एक निजी लैब से टेस्ट कराया, इसकी रिपोर्ट सोमवार को स्वास्थ्य विभाग को मिली। स्वास्थ्य विभाग ने जब मरीजों की जानकारी की तो पता चला वह अपने देश रविवार को ही चले गए। अपने देश जाने वालों में दो रूस और एक स्विट्जरलैंड का नागरिक है। तीनों संक्रमितों के स्वदेश लौटने के बाद स्वास्थ्य विभाग में चिंता बढ़ गई है। विदेशियों ने कंटेनमेंट जोन के नियमों का भी पालन नहीं किया।

स्वास्थ्य विभाग ने मांगी एयरपोर्ट से रिपोर्ट 

वृंदावन में निकले तीन संक्रमितों के अपने देश लौटने के बाद स्वास्थ्य विभाग में खलबली है। स्वास्थ्य विभाग ने एयरपोर्ट प्रबंधन से रिपोर्ट मांगी है। स्वास्थ्य विभाग यह पता करने में जुटा है कि आखिर यह लोग बिना रिपोर्ट के स्वदेश कैसे चले गए। सीएमओ डॉ. रचना गुप्ता ने बताया कि 10 संक्रमितों में से तीन अपने देश लौट गए। पांच होम आइसोलेट हैं, एक यूएस का सिटीजन है, उसकी कांटेक्ट ट्रेसिंग कर रहे हैं। हमारे यहां कोरोना की संभावना न के बराबर है, इसलिए यह संभावना कम है कि वे यहां संक्रमित हुए। संभावना है कि विदेशी नागरिक या तो किसी विदेशी के संपर्क में आए या फिर अपने देश से ही संक्रमित आए। 

वृंदावन के पर्यटन को बढ़ा झटका

पिछले लगभग डेढ़ वर्ष से मंदी की मार झेल रहा पर्यटन का कारोबार जैसे तैसे पटरी पर लौटा कि पिछले कई दिन से वृंदावन में संक्रमित निकल रहे विदेशी मेहमानों के कारण वृंदावन के पर्यटन को नुकसान होने लगा है। लगातार विदेशी भक्तों की आवक कम होती जा रही है। कोरोना के बढ़ते केसों को देखते हुए इस्कॉन ने भी अपने यहां गाइडलाइन जारी कर दी है। यहां हर दिन लोगों के सैंपल लेकर जांच कराई जा रही है। मंगलवार को सौ लोगों के सैंपल लेकर जांच के लिए भेजे गए हैं। इसके साथ प्रेम मंदिर ने भी अपने कर्मचारियों के सैंपल लेकर जांच के लिए भेजे हैं। इधर बाजार में भी विदेशी भक्तों का आवागमन कम हो गया है। उधर, सीएमओ ने सभी होटल व गेस्टहाउस मालिकों से कहा कि जो भी आपके यहां विदेशी रुके, उसका कोरोना टेस्ट जरूर कराएं। 

कोरोना: वृंदावन में तीन दिन में आठ विदेशी श्रद्धालु संक्रमित, नए वैरिएंट की जांच के लिए लखनऊ भेजे गए सैंपल

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *