Up Assembly Election 2022 Satta Ka Sangram In Rampur Youth Ki Baat Live Debate Discussion With Amar Ujala – यूपी चुनाव 2022 : रोजगार और शिक्षा के मुद्दे पर रामपुर के युवा क्या सोचते हैं? चुनावी चर्चा में खुलकर बोले


न्यूज डेस्क, अमर उजाला, रामपुर
Published by: हिमांशु मिश्रा
Updated Sat, 13 Nov 2021 11:22 AM IST

सार

गाजियाबाद और मुरादाबाद के वोटर्स का मूड समझने के बाद अब ‘अमर उजाला’ का चुनावी रथ ‘सत्ता का संग्राम’ रामपुर में है। यहां सुबह सिविल लाइंस स्थित रेलवे स्टेशन पर आम नागरिकों संग ‘चाय पर चर्चा’ के बाद थूनापुर भोट स्थित इंपैक्ट कालेज में युवाओं से चुनावी चर्चा की गई। 

रामपुर में बड़ी संख्या में युवाओं ने चुनावी चर्चा में शिरकत की।
– फोटो : अमर उजाला

ख़बर सुनें

विस्तार

रामपुर में पहली बार वोट डालने जा रहे युवा विधानसभा चुनाव को लेकर क्या सोच रहे हैं? उन्हें कैसी सरकार चाहिए? चुनाव में युवाओं के क्या मुद्दे होंगे? रोजगार, शिक्षा, विकास के मुद्दों पर क्या सोचते हैं? मौजूदा सरकार को लेकर उनकी क्या राय है? साढ़े चार साल के कार्यकाल में योगी सरकार के कौन से काम है जो युवाओं को पसंद आए और कौन से काम हैं जो अधूरे रह गए? ये सब जानने के लिए ‘अमर उजाला’ का चुनावी रथ ‘सत्ता का संग्राम’ रामपुर के इंपैक्ट कॉलेज पहुंचा। यहां युवाओं ने हर मुद्दे पर खुलकर अपनी बात रखी। पढ़िए रामपुर के युवाओं का क्या रूख है?

रामपुर के हिंदू, मुस्लिम और सिख वोटर्स ने योगी सरकार के बारे में कही बड़ी बात

सुरक्षा व्यवस्था पर मिलीजुली राय

महिला सुरक्षा को लेकर छात्राओं की मिलीजुली राय रही। छात्रा आंचल ने कहा कि पहले के मुकाबले अब लड़कियां ज्यादा सुरक्षित महसूस करती हैं। पहले की सरकार में गुंडे और बदमाश हावी हुआ करते थे। घर से निकलने में डर लगता था। सानिया और सोफी ने कहा कि पहले भी लड़कियां सुरक्षित थी। हालांकि जब ये पूछा गया कि पहले के मुकाबले क्या अब घर से बाहर लड़कियों को ज्यादा निकलने की छूट मिलती है? इसपर सभी छात्राओं ने हां कहा। छात्रा जोहा ने कहा कि सुरक्षा व्यवस्था पहले से ज्यादा खराब हो गई है। हालांकि, जब उनसे पूछा गया कि क्या दिक्कत हो रही है? इसका उन्होंने जवाब नहीं दिया। 

शिक्षा पर क्या बोले युवा?

छात्रा पवनदीप कौर ने कहा कि सरकार एजुकेशन पर ज्यादा पैसा खर्च कर रही है। इसका फायदा आम लोगों को मिल रहा है। जब हम पढ़े लिखे होंगे तो हमें ये मालूम होगा कि हमारे लिए क्या सही है और क्या गलत है? छात्र मस्तूर खान ने कहा कि रामपुर में क्वालिटी एजुकेशन का अभाव है। अच्छी शिक्षा के लिए युवाओं को दूसरे शहर जाना पड़ता है। 

छात्र आरिफ चौधरी ने कहा कि पहले और अब के मुकाबले में शिक्षा व्यवस्था में कुछ नहीं बदला है। रामपुर में अच्छी एजुकेशन नहीं मिलती है। बीएससी बायोटेक कर रहीं अनम ने कहा कि वह डॉक्टर बनना चाहती हैं, लेकिन यहां सुविधाएं नहीं है। हालांकि, जब छात्रों से पूछा गया कि किस तरह की क्वालिटी एजुकेशन चाहिए? इसका जवाब कोई नहीं दे पाया।  

छात्र राम प्रताप ने कहा कि सभी को बेहतर क्वालिटी एजुकेशन मिल रहा है। छात्रा अजमी ने कहा कि कमी शिक्षा व्यवस्था में नहीं है। कमी हमारे अंदर है। हम ऑनलाइन स्टडीज कर सकते हैं। सभी परीक्षाओं की तैयारी कर सकते हैं। 

रोजगार, महंगाई के मुद्दों पर युवाओं की क्या राय?

छात्र मस्तूर खान ने कहा कि पेट्रोल-डीजल बहुत महंगा हो गया है। सबकुछ महंगा हो गया है। आमदनी कम हो गई है और टैक्स ज्यादा। छात्र मोहम्मद शाकिब ने कहा कि रामपुर में रोजगार का संकट है। सरकार को स्वरोजगार के लिए लोन मुहैया कराना चाहिए। हालांकि वह सरकार की योजनाओं के बारे में कुछ नहीं बता पाए। 

छात्र तौसीफ अहमद ने बताया कि वह पढ़ाई के साथ इलेक्ट्रिशियन की दुकान भी चलाते हैं। महंगाई बढ़ रही है। रोजगार कम हो गया है। छात्र नदीम अहमद ने कहा कि यहां रोजगार की कमी है। महंगाई बढ़ रही है। 

स्लॉटर हाउस बंद करवाने पर तारीफ

छात्रा राखी ने कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गाय कटवाना बंद करवा दिया। ये अच्छी पहल है। योगी जी ने अच्छा काम किया है। जिसे हम मां मानते हैं, उसे काटना नहीं चाहिए। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *