Up: In View Of The Farmers’ Movement, An Army Of Officers Launched In 13 Districts – किसान आंदोलन : यूपी के 13 जिलों में उतारी गई अफसरों की फौज, पुलिस मुस्तैद, छुट्टी रद्द


अमर उजाला नेटवर्क, लखनऊ
Published by: दुष्यंत शर्मा
Updated Mon, 11 Oct 2021 12:03 AM IST

सार

अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश अवस्थी ने आदेश जारी कर तत्काल प्रभाव से सेक्टर व्यवस्था को लागू करने के निर्देश दिए हैं।

अवनीश कुमार अवस्थी
– फोटो : एएनआई

ख़बर सुनें

लखीमपुर खीरी प्रकरण को लेकर 18 अक्टूबर को किसानों द्वारा आयोजित रेल रोको आंदोलन को देखते हुए शासन में पुख्ता इंतजाम किए हैं। एक तरफ प्रभावित जिलों में अफसरों की पूरी फौजदार दी गई है वहीं दूसरी ओर पुलिस विभाग में सभी तरह के अफसरों व कर्मियों की छुट्टियां रद्द कर दी गई हैं।

अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश अवस्थी ने आदेश जारी कर तत्काल प्रभाव से सेक्टर व्यवस्था को लागू करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा है कि किसी भी हाल में कहीं भी भीड़ इकट्ठी न होने दी जाए। दुर्गा पूजा और नवरात्र को देखते हुए भी जिलों में पुलिस बल को भ्रमणशील रहने के निर्देश दिए गए हैं। जिन जिलों में दूसरे राज्य की सीमा लगती है वहां के अधिकारियों से भी वार्ता कर भीड़ भाड़ रोकने के निर्देश दिए गए हैं। 

उन्होंने कहा है कि किसान संगठन के प्रतिनिधियों से संवाद स्थापित किया जाए और कहीं भी ऐसा न होने दिया जाए जिससे कानून व्यवस्था की स्थिति खराब हो। सोशल मीडिया पर विशेष नजर रखने के निर्देश दिए गए हैं। किसी भी तरह के भ्रामक पोस्ट करने वालों के खिलाफ तत्काल कार्रवाई करने को कहा गया है।

13 जिलों में भेजे गए वरिष्ठ अधिकारी
शासन ने 20 अधिकारियों की लंबी चौड़ी फौज फील्ड में उतार दी है। हर अधिकारी को कम से कम एक जिला कवर करने और वहां कैंप करने को कहा गया है। लखनऊ ज़ोन के एडीजी एसएन साबत और आईजी रेंज लक्ष्मी सिंह को लखीमपुर खीरी में कैम्प करने को कहा गया है। बरेली जोन के एडीजी अविनाश चंद्र बरेली में ही कैंप करेंगे जबकि मेरठ जोन के एडीजी राजीव सब्बरवाल मेरठ में ही कैंप करेंगे। 

गोरखपुर जोन के एडीजी अखिल कुमार, देवीपाटन परिक्षेत्र के आईजी राकेश सिंह और 8वीं वाहिनी पीएसी बरेली के उप सेनानायक आशुतोष शुक्ला बहराइच में कैंप करेंगे। मेरठ रेंज के आईजी प्रवीण कुमार गाजियाबाद में, आईजी रेलवे सत्येंद्र कुमार सिंह शामली में कैंप करेंगे। बरेली रेंज के आईजी रमित शर्मा यूपी 112 में एसपी अजय कुमार शर्मा और अपर पुलिस अधीक्षक डीजीपी मुख्यालय अनिल कुमार झा पीलीभीत में कैंप करेंगे। आईजी ईओडब्ल्यू हीरालाल को मुजफ्फरनगर डीआईजी विजिलेंस एलआर कुमार को अमरोहा की जिम्मेदारी दी गई है। 

डीआईजी महिला पावर लाइन रविशंकर छवि और 27 वी वाहिनी पीएसी सीतापुर में तैनात राम सुरेश को शाहजहांपुर भेजा गया है। डीआईजी मुरादाबाद शलभ माथुर मुरादाबाद में ही कैंप करेंगे। डीआईजी राम लाल वर्मा पीएसी कानपुर और 38 वीं वाहिनी पीएसी अलीगढ़ में तैनात उप सेनानायक हरेंद्र कुमार  बिजनौर में कैंप करेंगे। आजमगढ़ में 20 वीं वाहिनी पीएसी में तैनात उप सेनानायक अरुण कुमार दीक्षित को रामपुर में कैंप करने के लिए कहा गया है।

खीरी में 10 अधिकारियों की अलग से टीम
खीरी में 10 राजपत्रित अधिकारियों की अलग से टीम कैंप कर रही है। इसमें डीआईजी उपेंद्र अग्रवाल के अलावा बाराबंकी में पीएसी में तैनात एसपी रैंक के अधिकारी सुनील कुमार सिंह इटावा में पीएसी में तैनात हिमांशु कुमार के अलावा अपर पुलिस अधीक्षक पीएसी मुख्यालय लखनऊ मैं तैनात दिनेश त्रिपाठी, सीतापुर पीएसी में तैनात एडिशनल एसपी हरि गोविंद मिश्रा, साइबर क्राइम लखनऊ में तैनात एडिशनल एसपी सच्चिदानंद राम, यूपी 112 में तैनात अरविंद कुमार पांडे खीरी में कैंप कर रहे हैं। इसके अलावा सीओ सर के तीन अधिकारी शैलेंद्र सिंह अनिल कुमार सिंह और राजेश कुमार पांडे को भी खीरी भेजा गया है।

विस्तार

लखीमपुर खीरी प्रकरण को लेकर 18 अक्टूबर को किसानों द्वारा आयोजित रेल रोको आंदोलन को देखते हुए शासन में पुख्ता इंतजाम किए हैं। एक तरफ प्रभावित जिलों में अफसरों की पूरी फौजदार दी गई है वहीं दूसरी ओर पुलिस विभाग में सभी तरह के अफसरों व कर्मियों की छुट्टियां रद्द कर दी गई हैं।

अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश अवस्थी ने आदेश जारी कर तत्काल प्रभाव से सेक्टर व्यवस्था को लागू करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा है कि किसी भी हाल में कहीं भी भीड़ इकट्ठी न होने दी जाए। दुर्गा पूजा और नवरात्र को देखते हुए भी जिलों में पुलिस बल को भ्रमणशील रहने के निर्देश दिए गए हैं। जिन जिलों में दूसरे राज्य की सीमा लगती है वहां के अधिकारियों से भी वार्ता कर भीड़ भाड़ रोकने के निर्देश दिए गए हैं। 

उन्होंने कहा है कि किसान संगठन के प्रतिनिधियों से संवाद स्थापित किया जाए और कहीं भी ऐसा न होने दिया जाए जिससे कानून व्यवस्था की स्थिति खराब हो। सोशल मीडिया पर विशेष नजर रखने के निर्देश दिए गए हैं। किसी भी तरह के भ्रामक पोस्ट करने वालों के खिलाफ तत्काल कार्रवाई करने को कहा गया है।

13 जिलों में भेजे गए वरिष्ठ अधिकारी

शासन ने 20 अधिकारियों की लंबी चौड़ी फौज फील्ड में उतार दी है। हर अधिकारी को कम से कम एक जिला कवर करने और वहां कैंप करने को कहा गया है। लखनऊ ज़ोन के एडीजी एसएन साबत और आईजी रेंज लक्ष्मी सिंह को लखीमपुर खीरी में कैम्प करने को कहा गया है। बरेली जोन के एडीजी अविनाश चंद्र बरेली में ही कैंप करेंगे जबकि मेरठ जोन के एडीजी राजीव सब्बरवाल मेरठ में ही कैंप करेंगे। 

गोरखपुर जोन के एडीजी अखिल कुमार, देवीपाटन परिक्षेत्र के आईजी राकेश सिंह और 8वीं वाहिनी पीएसी बरेली के उप सेनानायक आशुतोष शुक्ला बहराइच में कैंप करेंगे। मेरठ रेंज के आईजी प्रवीण कुमार गाजियाबाद में, आईजी रेलवे सत्येंद्र कुमार सिंह शामली में कैंप करेंगे। बरेली रेंज के आईजी रमित शर्मा यूपी 112 में एसपी अजय कुमार शर्मा और अपर पुलिस अधीक्षक डीजीपी मुख्यालय अनिल कुमार झा पीलीभीत में कैंप करेंगे। आईजी ईओडब्ल्यू हीरालाल को मुजफ्फरनगर डीआईजी विजिलेंस एलआर कुमार को अमरोहा की जिम्मेदारी दी गई है। 

डीआईजी महिला पावर लाइन रविशंकर छवि और 27 वी वाहिनी पीएसी सीतापुर में तैनात राम सुरेश को शाहजहांपुर भेजा गया है। डीआईजी मुरादाबाद शलभ माथुर मुरादाबाद में ही कैंप करेंगे। डीआईजी राम लाल वर्मा पीएसी कानपुर और 38 वीं वाहिनी पीएसी अलीगढ़ में तैनात उप सेनानायक हरेंद्र कुमार  बिजनौर में कैंप करेंगे। आजमगढ़ में 20 वीं वाहिनी पीएसी में तैनात उप सेनानायक अरुण कुमार दीक्षित को रामपुर में कैंप करने के लिए कहा गया है।

खीरी में 10 अधिकारियों की अलग से टीम

खीरी में 10 राजपत्रित अधिकारियों की अलग से टीम कैंप कर रही है। इसमें डीआईजी उपेंद्र अग्रवाल के अलावा बाराबंकी में पीएसी में तैनात एसपी रैंक के अधिकारी सुनील कुमार सिंह इटावा में पीएसी में तैनात हिमांशु कुमार के अलावा अपर पुलिस अधीक्षक पीएसी मुख्यालय लखनऊ मैं तैनात दिनेश त्रिपाठी, सीतापुर पीएसी में तैनात एडिशनल एसपी हरि गोविंद मिश्रा, साइबर क्राइम लखनऊ में तैनात एडिशनल एसपी सच्चिदानंद राम, यूपी 112 में तैनात अरविंद कुमार पांडे खीरी में कैंप कर रहे हैं। इसके अलावा सीओ सर के तीन अधिकारी शैलेंद्र सिंह अनिल कुमार सिंह और राजेश कुमार पांडे को भी खीरी भेजा गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *