The captain said – three months ago he had made up his mind to leave the post of CM | कैप्टन ने कहा



डिजिटल डेस्क, चंडीगढ़।  पंजाब कांग्रेस में राजनीतिक घमासान अब भी जारी है, आपस में नेताओं का जुबानी जंग रूकने का नाम नहीं ले रहा है। बता दें कि एक बार फिर पूर्व सीएम कैप्टन अमरिंदर ने कांग्रेस पार्टी के नेताओं पर हमला बोला है। पंजाब कांग्रेस प्रभारी हरीश रावत के निशाने के बाद कैप्टन ने अपनी सफाई दी है और कहा कि रावत तमाम दावों को झूठा बता दिया है। उन्होंने उल्टा रावत पर कई सवाल दाग दिए हैं। कैप्टन ने कहा कि वो इस्तीफे से तीन माह पहले ही सीएम पद छोड़ने का मन बना चुके थे, यहां तक कि उन्होंने सोनिया गांधी को अपना इस्तीफा भी सौंप दिया था। लेकिन तब सोनिया के कहने पर ही वे सीएम पद पर टिके रहे और अपनी जिम्मेदारी का निर्वहन करते रहे। वहीं  रावत ने कहा कि कैप्टन का कांग्रेस में सबसे ज्यादा सम्मान हुआ है। इस दावे पर कैप्टन ने अपनी आपत्ति जताई है। उन्होंने कहा है कि दुनिया ने देखा कि किस तरीके से मेरा अपमान किया गया था। CLP मीटिंग से कुछ घंटे पहले ही मुझे अपना इस्तीफा देना पड़ गया था। अब इसे अपमान नहीं कहेंगे तो और क्या कहेंगे। रावत को एक बार मेरी जगह खड़ा होकर देखना चाहिए तब उन्हें एहसास होगा कि मेरे साथ कैसा बर्ताव किया गया था। 

कैप्टन ने हाईकमान पर साधा निशाना

बता दें कि कांग्रेस हाईकमान पर कैप्टन ने सवाल खड़ा कर दिया और कहा कि पार्टी के अंदर सिद्धू का क्या दबदबा है, कि अभी भी उनकी बातों को माना जा रहा है, वे अभी भी अपने इशारों पर पार्टी चला रहे हैं। कैप्टन ने स्पष्ट किया कि सिद्धू को ज्यादा ताकत देकर कांग्रेस ने पंजाब में अपने भविष्य के साथ समझौता कर लिया है।  
 



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *