When will Rahul Gandhi’s auspicious day come! Will become Congress party president | कब आएगा राहुल गांधी का शुभ दिन? बनेंगे कांग्रेस पार्टी अध्यक्ष!



डिजिटल डेस्क, लखनऊ। उत्तर प्रदेश समेत पांच राज्यों के आगामी विधानसभा चुनाव को देखते हुए कांग्रेस ने एक बार फिर कांग्रेस अध्यक्ष पद का चुनाव टाल दिया है। आपको बता दें कि पिछले साल G-23 नेताओं ने सोनिया गांधी चिट्ठी लिखकर संगठन के सभी पदों पर चुनाव कराने की मांग की गई थी। बाद में चिट्ठी को लेकर पार्टी में बड़ा बवाल हुआ था, फिर कार्यसमिति की बैठक हुई थी और फिर चुनाव कराने के फैसला लिया गया था। लेकिन अप्रैल-मई में पश्चिम बंगाल में चुनाव को देखते हुए टाल दिया गया था। फिर कोरोना की दूसरी लहर पूरे देश में फैल गई। फिर इस नाम पर चुनाव टल गया। अब अगले साल फरवरी-मार्च में पांच राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनाव के नाम पर कांग्रेस अध्यक्ष का चुनाव टल गया है।

कांग्रेस पांच राज्यों में नही जीते तो!

बता दें कि अगले साल पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव होना तय है। अगर कांग्रेस इन राज्यों में नहीं जीती तो क्या होगा? क्या अगले साल कांग्रेस अध्यक्ष पद का चुनाव टाल दिया जाएगा या फिर किसी दूसरे अच्छे मौके की तलाश है, ताकि राहुल गांधी कमान संभाल सके। गौरतलब है साल 2017 में हुए पांच राज्यों के चुनाव में कम से कम तीन राज्यों में कांग्रेस ने अच्छा प्रदर्शन किया था। 10 साल के बाद पंजाब में उसकी सरकार बनी थी और मणिपुर व गोवा में सरकार बनते-बनते रह गई। लेकिन इस बार हालात उतने अनुकूल नहीं दिख रहे हैं। संभवतः इसी वजह से चुनाव अगस्त-सितंबर 2022 तक टाला गया है। अब देखना है कि वो कौन सा शुभ दिन आएगा? जब राहुल गांधी कांग्रेस अध्यक्ष पद संभालेंगे।

प्रशांत कुमार की रणनीति तो नहीं बनी वजह!

बता दें कि जानकारों के मुताबिक चुनावी रणनीतिकार प्रशांत कुमार ने पांचो राज्यों में कांग्रेस के खराब प्रदर्शन को लेकर अनुमान जताया है। कांग्रेस आलाकमान को इस बारे में बता दिया गया है। इसी वजह से प्रशांत कुमार भी कांग्रेस में शामिल नहीं हुए हैं। तभी कांग्रेस आलाकमान ने सोचा होगा कि राहुल गांधी अभी अध्यक्ष बनते हैं और उसके चार माह बाद ही चुनाव होगा तब कांग्रेस हारती है तो इसे अच्छी शुरूआत नहीं माना जाएगा। इसलिए चुनाव नतीजे आने के बाद ही अध्यक्ष पद का चुनाव किया जाए। 

कांग्रेस नेता का दावा

कांग्रेस के कांग्रेस के एक जानकार नेता ने बताया कि अगले साल फरवरी-मार्च के चुनावों में नतीजे चाहे जो भी आए, अगस्त-सितंबर में कांग्रेस संगठन का चुनाव होगा और राहुल गांधी अध्यक्ष बनेंगे। उसके बाद वे लोकसभा चुनाव तक होने वाले 10 राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनाव और लोकसभा चुनाव की तैयारी करेंगे। वह राहुल की असली परीक्षा होगी। कांग्रेस नेता ने यह भी कहा कि 2023 में होने वाले चार राज्यों- कर्नाटक, राजस्थान, छत्तीसगढ़ और मध्य प्रदेश के विधानसभा चुनाव राहुल के लिए ज्यादा महत्वपूर्ण हैं। इन राज्यों में कांग्रेस को अच्छे प्रदर्शन की उम्मीद है, जिसके आधार पर 2024 के चुनावों की तैयारी होगी। अब देखना है कि राहुल गांधी यदि कांग्रेस अध्यक्ष का पद संभाल भी लेते है तो अपने पद पर 2024 लोकसभा चुनाव तक बनें रहते हैं। क्योंकि साल 2022 से 2024 के बीच राहुल गांधी को अग्निपरीक्षा से होकर गुजरना पड़ेगा।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

AllwNews