Asia’s first hybrid flying car is coming to India soon, will be flown for office



डिजिटल डेस्क, चेन्नई। चेन्नई स्थित विनाटा एरोमोबिलिटी 5 अक्टूबर को लॉन्च करने जा रही है अपनी खुद की हाइब्रिड फ्लाइंग कार। इस कार को लंदन में होने वाली सबसे बड़ी प्रदर्शनी में लॉन्च किया जाएगा।
ऑफिस के रास्ते में भारी ट्रैफिक से परेशान होने का समय अब जाने वाला है इसके बजाय भारतीय अब जल्द ही हाइब्रिड कारों के माध्यम से शहरों में बिना परेशानी यात्रा कर सकेंगे। उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने सोमवार को ट्वीट किया है कि उन्हें चेन्नई स्थित स्टार्टअप विनटा एरोमोबिलिटी की युवा टीम द्वारा एशिया की पहली हाइब्रिड फ्लाइंग कार के कॉन्सेप्ट मॉडल के बारे में बताया गया है।

सिंधिया ने आशा जताते हुए कहा है कि जल्द ही उड़ने वाली कारों का इस्तेमाल लोगों और आपातकालीन चिकित्सा सेवाएं प्रदान करने के लिए किया जाएगा। इस कार को लंदन में होने वाली हेलिटेक प्रदर्शनी में 5 अक्टूबर को लॉन्च किया जाएगा।

कैसे खास है हाइब्रिड फ्लाइंग कार?
विनाटा की हाइब्रिड फ्लाइंग कार में मौजूद होगा आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के साथ डिजिटल इंस्ट्रूमेंट पैनल, यह कार को उड़ाने और चलाने के अनुभव को ज्यादा बेहतर और आसान बनाएगा। वहीं कंपनी का दावा है कि यह कार शानदार है और बाहर से आकर्षक है। इसमें जीपीएस ट्रैकर और बोर्ड पर मनोरंजन है। उड़ने वाली कार में पैनोरमिक विंडो कैनोपी है जो 300 डिग्री का व्यू मिलता है। 

1100 किलोग्राम वाली फ्लाइंग कार अधिकतम 1300 किलोग्राम वजन उठा सकती है। इसमें एक इलेक्ट्रिक बैटरी है, इसलिए हाइब्रिड फ्लाइंग कार का यह विमान प्रकार मेड इन इंडिया हाइब्रिड इलेक्ट्रिक वीटीओएल है।

इस हाइब्रिड फ़्लाइंग कार को डुअल ट्रैवलर के लिए डिज़ाइन किया गया है और यह 100-120 किमी/घंटा की स्पीड देगी। अधिकतम फ्लाइट टाईम 60 मिनट और उच्चतम सेवा सीमा 3,000 फीट होगी। हाइब्रिड फ्लाइंग कार एक इजेक्शन पैराशूट के साथ आएगी। उड़ने वाली कार में एयरबैग सक्षम कॉकपिट के साथ एक पैराशूट भी होगा।
 



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *